1. home Hindi News
  2. religion
  3. good friday 2022 date history and significance in hindi good friday kab hai sry

Good Friday 2022: 15 अप्रैल को मनाया जाएगा गुड फ्राइडे, दान-धर्म के किए जाते हैं ये कार्य

इस बार 15 अप्रैल, शुक्रवार को गुड फ्राइडे मनाया जा रहा है. यह दिन प्रभु यीशु मसीह को समर्पित है. इस दिन चर्च में घंटा नहीं बल्कि वहां के लकड़ी के खटखटे बजाए जाते हैं. लोग चर्च में जाकर क्रॉस को चूमकर ईसा मसीह को याद करते हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Good Friday 2022
Good Friday 2022
Prabhat Khabar Graphics

Good Friday 2022: इस साल यानी 2021 में गुड फ्राइडे 15 अप्रैल को मनाया जा रहा है. यह ईसाई समुदाय का बेहद प्रमुख त्योहार है. गुड फ्राइडे को ‘होली फ्राइडे’ या ‘ग्रेट फ्राइडे’ के नाम से भी जाना जाता है. इस साल यानी 2021 में गुड फ्राइडे 02 अप्रैल को मनाया जा रहा है. यह ईसाई समुदाय का बेहद प्रमुख त्योहार है. गुड फ्राइडे को ‘होली फ्राइडे’ या ‘ग्रेट फ्राइडे’ के नाम से भी जाना जाता है.

क्यों मनाया जाता है गुड फ्राइडे?

ईसाई धर्म को मानने वाले लोग गुड फ्राइडे इसलिए मनाते हैं, क्योंकि इसी दिन प्रभु यीशु को सूली पर चढ़ाया गया था.ईसा मसीह प्रेम और शांति के मसीहा थे.दुनिया को प्रेम और करुणा का संदेश देने वाले प्रभु यीशु को उस समय के धार्मिक कट्टरपंथी ने रोम के शासक से शिकायत करके उन्हें सूली पर लटका दिया था, लेकिन कहा जाता है कि प्रभु यीशु इस घटना के तीन दिन बाद पुनः जीवित हो उठे थे.

कैसे मनाएं गुड फ्राइडे

गुड फ्राइडे के दिन ईसाई धर्म के लोग व्रत रखते हैं. इस दिन लोग चर्च में जाकर खास प्रार्थना करते हैं. इस दिन चर्च में घंटा नहीं बजाया जाता है, बल्कि लकड़ी के खटखटे बजाए जाते हैं. इसके साथ ही लोग चर्च में क्रॉस को चूमकर प्रभु यीशु का स्मरण करते हैं. इस दिन ईसाई धर्म के लोग व्रत रखने के साथ ही प्रभु यीशु के उपदेशों का स्मरण करते हैं और उन्हें अपने जीवन में ढालने की कोशिश करते हैं. इस दिन लोग प्रभु यीशु के बताए प्रेम, सत्य और विश्वास के रास्ते पर चलने की शपथ लेते हैं. इस दिन बहुत से लोग काले रंग के कपड़े पहनकर प्रभु यीशु के बलिदान दिवस पर शोक भी मनाते हैं.

दान-धर्म के किए जाते हैं कार्य

मान्यता है कि गुड फ्राइडे के दिन दान-धर्म के कार्य किए जाते हैं.व्रत के बाद मीठी रोटी बनाकर खायी जाती है.गुड फ्राइडे के बाद आने वाले संडे को इस्टर संडे मनाया जाता है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें