1. home Home
  2. religion
  3. ganesh visarjan 2021 date time is prakar se karen anant chaturdashi ke din ganesh visarjan janen shubh muhurt aur poja vidhi rdy

Ganesh Visarjan 2021: ऐसे करें अनंत चतुर्दशी के दिन गणेश विसर्जन, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

इस समय घर-घर में भगवान गणेश विराजमान है. गणेश चतुर्थी को गणेश जी की स्थापना की जाती है और अनंत चतुर्दशी के दिन गणेश जी की विदाई की जाती है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Ganesh Visarjan 2021 Vidhi
Ganesh Visarjan 2021 Vidhi
Prabhat Khabar

Ganesh Visarjan and Anant Chaturdashi 2021: इस समय घर-घर में भगवान गणेश विराजमान है. गणेश चतुर्थी को गणेश जी की स्थापना की जाती है और अनंत चतुर्दशी के दिन गणेश जी की विदाई की जाती है. इस साल गणेश विसर्जन 19 सितंबर दिन रविवार को है. इस दिन गणपति बप्पा की मूर्ति को जल में प्रवाहित किया जाता है.

गणेश जी की विदाई ढोल-नगाड़ों के साथ धूमधाम से की जाती है. अनन्त चतुर्दशी के दिन भगवान विष्णु के अनन्त रूप की पूजा की जाती है. इस दिन कई लोग उपवास रखते हैं और पूजा के दौरान पवित्र धागा बांधते हैं. अनन्त चतुर्दशी पूजा का शुभ मुहूर्त 06 बजकर 08 मिनट से 20 सितम्बर की सुबह 05 बजकर 28 मिनट तक रहेगा.

गणेश विसर्जन की विधि

  • भगवान गणेश जी की प्रतिमा को विसर्जित करने से पहले उसकी विधि विधान पूजा करें.

  • इसके बाद उन्हें मोदक और फल का भोग लगाएं.

  • गणेश जी की आरती उतारें और उनसे विदा लेने की प्रार्थना करें.

  • अब एक पटरी लें उस पर गुलाबी कपड़ा बिछाएं और उस पर गंगाजल जरूर छिड़कें.

  • फिर गणेश जी की प्रतिमा को लकड़ी के पटरे पर रखें.

  • इसके साथ फल फूल, कपड़े और मोदक रखें.

  • फिर चावल, गेहूं और पंचमेवा रखकर एक पोटली तैयार करें और उसमें कुछ सिक्के भी डालें.

  • इस पोटली को गणेश जी की प्रतिमा के साथ रखें.

  • इसके बाद गणेश जी की प्रतिमा को विसर्जन के लिए ले जायें.

  • विसर्जन से पहले एक बार फिर गणेश जी की आरती करें और उनसे अगले वर्ष जल्द आने की प्रार्थना करें.

  • गणपति जी से अपने परिवार की खुशहाली और मनोकामना पूर्ण करने की प्रार्थना करें.

  • फिर गणेश जी की मूर्ति को बहते हुए जल में विसर्जित कर दें.

गणेश विसर्जन का शुभ मुहूर्त

  • 19 सितंबर को गणेश जी की प्रतिमा के विसर्जन का शुभ मुहर्त इस प्रकार है

  • प्रातः मुहूर्त 07 बजकर 40 मिनट से दोपहर 12 बजकर 15 मिनट तक

  • अपराह्न मुहूर्त 01 बजकर 46 मिनट से 03 बजकर 18 मिनट तक

  • सायाह्न मुहूर्त 06 बजकर 21 मिनट से 10 बजकर 46 मिनट तक

  • रात्रि मुहूर्त 01 बजकर 43 मिनट से 03 बजकर 12 मिनट तक

  • उषाकाल मुहूर्त 20 सितंबर दिन सोमवार को 04 बजकर 40 मिनट से 06 बजकर 08 मिनट

  • चतुर्दशी तिथि प्रारम्भ- 19 सितम्बर 2021 को 05 बजकर 59 मिनट तक

  • चतुर्दशी तिथि समाप्त- 20 सितम्बर 2021 को 05 बजकर 28 मिनट तक

संजीत कुमार मिश्रा

ज्योतिष एवं रत्न विशेषज्ञ

मोबाइल नंबर- 8080426594-9545290847

Posted by: Radheshyam Kushwaha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें