1. home Home
  2. religion
  3. bhajan singer jaya kishori told how to be a life partner for marriage

भजन गायिका जया किशोरी ने बताया, शादी के लिए ऐसा होना चाहिए लाइफ पार्टनर

जया किशोरी ने अपनी एक स्पीच में लाइफ पार्टनर का चुनाव कैसे करें इस बारे में बताया है. आज के समय में व्यक्ति शादी का निर्णय तो तुरंत ले लेता है पर कई बार अपना रिश्ता लंबे समय तक नहीं निभा पाता. इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं, लेकिन एक मुख्य कारण जो सामने आता है वो है आपका एक दूसरे को नहीं समझ पाना.

By Radheshyam Kushwaha
Updated Date
भजन गायिका जया किशोरी
भजन गायिका जया किशोरी

Jaya Kishori Motivational Speech On Marriage: जया किशोरी एक मशहूर भजन गायिका और कथावाचक हैं. उन्होंने आज-कल के दौर में शादी हो जाती है, लेकिन रिश्ता लंबे समय तक नहीं निभा पाते है. इस पर जया किशोरी ने अपनी एक स्पीच में लाइफ पार्टनर का चुनाव कैसे करें, इस बारे में अपने दर्शकों को बताया है. जया किशोरी ने कहा कि आज के समय में व्यक्ति शादी का निर्णय तो तुरंत ले लेता है पर कई बार अपना रिश्ता लंबे समय तक नहीं निभा पाता है. कथावाचक जया किशोरी ने कहा कि इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं, लेकिन एक मुख्य कारण जो सामने आता है वो है आपका एक दूसरे को नहीं समझ पाना. इस पर जया किशोरी का कहना है कि शादी का डिसीजन दिल के साथ दिमाग से भी लेना चाहिए.

शादी बहुत सोच-समझकर करना चाहिए. उन्होंने ने कहा कि पहले और अब में बहुत अंतर है. पहले सपने में भी लोग देख लेते थे तो शादी कर लेते थे. उन्होंने ने कहा कि जब आप किसी से मिलते हैं तो शुरू में तो उसकी हर चीज आपको पसंद आती है. अगर किसी को पहचानना है तो उसे बोलने दो. उसकी बोली बता देगी कि वे कैसा व्यक्ति है, इसलिए जरूरी है कि आप सामने वाले का स्वभाव समझे. स्वभाव समझने का जब मौका नहीं मिलता और आगे जाकर जब असलियत सामने आती है तब हमे लगता है कि ये रिश्ता चल नहीं पायेगा.

इसलिए सिर्फ अच्छापन देखकर ही शादी नहीं की जाती. अच्छी चीजों से तो हर कोई प्यार करता है. वो प्यार थोड़ी है. अगर मेरे अंदर कोई अच्छाई है और कोई इंसान उसे पसंद कर रहा है, तो उस अच्छाई को तो पूरी दुनिया ही पसंद कर रही होगी तो उसमें ऐसी कौन सी खास बात है. मुझमें जो बुराई है उस चीज को भी कोई ठीक करे या उसको अपनाए तब मतलब आप उसके साथ रह सकते हैं. आगे जया किशोरी कहती हैं कि शादी कुछ दिन मिलना नहीं होता. शादी का मतलब हमे पूरे जीवन एक साथ एक कमरे में रहना है.

आज-कल के बच्चे संस्कार से हो रहे है दूर

कथावाचक जया किशोरी ने कहा कि आज कल के बच्चे संस्कार से दूर होते जा रहे है. जो बच्चे देखेंगे वहीं करेंगे, बच्चे जो देखते हैं वहीं सिखते है, बच्चे सुनते नहीं है. जया किशोरी ने कहा कि बच्चे के सामने जो आप करेंगे वहीं सिखेंगे. उन्होंने ने कहा कि लोग समय देखते है. बच्चों को संस्कार देना बहुत जरूरी है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें