Advertisement

women

  • Jul 24 2019 12:40PM
Advertisement

महिला सशक्तीकरण को मिल रहा है बढ़ावा, सोशल मीडिया से मिली पहचान

महिला सशक्तीकरण को मिल रहा है बढ़ावा, सोशल मीडिया से मिली पहचान

इन दिनों राजधानी रांची की महिलाओं व युवतियों में सोशल मीडिया पर वीडियो अपलोड करने का एक नया ट्रेंड चल पड़ा है. इसमें तरह-तरह के वीडियो अपलोड कर युवतियां अपनी अलग पहचान बना रहीं हैं. टिक टॉक, इंस्टाग्राम व यू ट्यूब जैसे प्लेटफॉर्म भी ऐसी महिलाओं व युवतियों को अपनी अलग पहचान बनाने का मौका दे रहे हैं. महिलाएं भी सोशल मीडिया को अपना  हुनर निखारने का एक मंच मानती है़ं  डांस, एक्टिंग, कॉमेडी , मिमिक्री  डॉयलॉग आदि के वीडियो शेयर कर पहचान बना रही हैं. इनमें लगभग हर आयु वर्ग की महिलाएं शामिल हैं. रोमांटिक वीडियो और अपने म्यूजिकल डायलॉग से लोगों को प्रभावित भी कर रही हैं. इनके फॉलोअर्स और व्यूवर्स की संख्या भी लाखों में है़ं  इसके माध्यम से कई महिलाओं व युवतियों को तो लोग सेलिब्रिटी के रूप में जानने लगे हैं. किसी का वीडियो इतना फेमस हुआ कि उसे ब्रांड प्रोमोशन के ऑफर आने लगे हैं. इसके जरिये महिलाएं आत्मनिर्भर भी बन रही है़ं  पेश है लता रानी @ रांची की रिपोर्ट...

टिक टॉक से मिली प्रसिद्धि, गूगल के एचआर की नौकरी छोड़ी

राजधानी रांची की बेटी शिवानी  कपिला स्मॉल गल्ब्स के नाम से अपने  टिक टॉक वीडियो को शेयर करती हैं. अब तक ये 300 वीडियो बना चुकी हैं. इनके टिक टॉक वीडियो के 20़ 80 लाख फॉलोअर्स है़ं  शिवानी महिला सशक्तीकरण पर ज्यादा वीडियो शेयर करती हैं. इनके फिटनेस,   दहेज और महिलाओं की सेफ्टी को लेकर डाले गये वीडियो को काफी पसंद किया गया. शिवानी को टिक टॉक से इतनी पहचान मिली कि उन्होंने गूगल की एचआर की जॉब तक छोड़ दी़  अब कई कंपनियां शिवानी को ब्रांड प्रोमोशन के लिए ऑफर दे रही है़ं  इससे उन्हें एक नया मंच मिला है़  शिवानी ने अपनी सास और पति के साथ भी वीडियो बनाया है़ सास अनिता त्यागी  को भी टिक टॉक पर इस उम्र में एक नयी पहचान मिली है़  शिवानी बताती है कि 2017 में टिक टॉक डाउन लोड किया़  फिर वीडियो  शेयर करने लगी़  लोगों का अच्छा रिस्पांस मिला़  अच्छा लगता है, जब  लोग मुझे टोकते हैं आप टिक टॉक वाली हो ना.

टिक टॉक से मेरे अंदर आत्मविश्वास बढ़ा

रश्मि ने अपनी एक्टिंग को और ज्यादा निखारने के लिए टिक टॉक वीडियो बनाना शुरू किया़  उनके टिक टॉक आकंउट में 80 से ज्यादा वीडियाे है़ं  एक मिलियन उनके व्यूवर्स है़ं  रश्मि अपने डांस, गाने और एक्टिंग की वीडियो शेयर करती है़ं साथ ही डायलॉग भी डालती है़ं  खुद रिकॉर्ड करती हैं. रश्मि महुआ चैनल के शो भौजी नंबर वन की फइनलिस्ट भी रही है़ं  बिग गंगा में भी एक्टिंग की है. वह कहती हैं कि अपनी एक्टिंग को निखारने के लिए वीडियो शेयर करती रहती हू़ं   वे कहती हैं कि एक्टिंग सीखने-सिखाने के लिए किसी संस्थान और संगठन की जरूरत नहीं है़  खुद को पहचान कर नियमित वर्क करने की आवश्यकता है़  वीडियो डालने के बाद से मेरे अंदर आत्मविश्वास बढ़ा है.

कैमरा फेस करने की झिझक हुई खत्म

नीतू की शादी हाल में ही हुई है़  नीतू एक डांसर भी है़ं नीतू ने अब तक टिक टॉक पर 50 और यू ट्यूब पर 20 वीडियो बनाये है़ं साल भर पहले नीतू ने सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर करना शुरू किया़  अब इनके वीडियो के एक हजार से ज्यादा व्यूअर्स है़ं नीतू टिक टॉक पर  रोमांटिक और डायलॉग वाला वीडियो डालती है़ं  वहीं यू ट्यूब पर डांस वाला वीडियो शेयर करती है़ं नीतू  को इस काम में नये परिवार का भी सपोर्ट मिल रहा है़  नीतू बताती हैं वीडियो बनाने से कैमरा फेस करने की झिझक खत्म हुई है़  इससे पहले किसी से बात करने में भी झिझक होती है़  वीडियो को लाइक मिलने से काफी अच्छा लगता है़

परिवार के लिए शेयर करती हूं वीडियो

श्वेता पिछले एक वर्ष से टिक टॉक में अपने कॉमेडी वीडियो और डायलॉग शेयर कर रही है़ं  अब तक 70 वीडियो बना चुकी है़ श्वेता अपने शौक को पूरा करने के लिए वीडियो शेयर कर रही है़ं वह कहती हैं कि मेर बहुत सारे फ्रेंड्स नहीं हैं. इस कारण मनोरंजन के लिए भी ये सब कर रही हूं. सोशल मीडिया पर वीडियो डाल कर एक्टिंग का शौक पूरा कर रही हू़ं  अभी उनके एक हजार फॉलोअर्स हैं.  मैं अपने परिवार और रिश्तेदारों के लिए  वीडियो शेयर करती हूं. मेरे रिश्तेदार मेरे वीडियो का इंतजार करते है़ं हाउस वाइफ की प्रतिभा को उजागर करने का यह एक अच्छा जरिया है़  मैं पार्टी से लौटने के बाद उसी मेकअप में वीडियो बना डालती हू़ं

महिलाएं अब मॉडर्न हो गयी हैं. सोशल मीडिया का काफी इस्तेमाल कर रही हैं. समाज में यह एक परिवर्तन है, जो कुछ दिनों तक चलेगा. समाज और परिवार में खुद को अलग दिखाने का ट्रेड है. बिजनेस पर्पस से जो महिलाएं यह करती हैं, उनके लिए तो यह ठीक है, पर जब यह आदत बन जाती है, तो काफी परेशानी होती है. लोग वीडियो का निगेटिव पार्ट देखने लगते हैं. हैबिट होने पर महिलाएं मोबाइल पर  ही बहुत समय निकाल देती है़ं  महिलाएं बेशक मॉडर्न हुई हैं, पर मानसिकता भी बदलने की जरूरत है़  यह सब एक-दूसरे को देख देखी में हो रहा है. फैशन के युग में ये बस मोबाइल का एक यूज है और कुछ नही़ं  हांलांकि इससे महिलाओं में आत्मविश्वास  बढ़ता है. महिलाओं को चाहिए कि आत्मनिर्भर बनने के साथ-साथ  अपनी मानसिकता भी बदले़ं

 डॉ मिथलेश कुमार, समाजशास्त्री

श्रुति ने खुद की मेहनत से इंडिया गॉट टैलेंट में मचायी धमाल

रांची. संत जेवियर कॉलेज रांची  की छात्रा श्रुति सेनापति ने कभी डांस नहीं सीखा, पर आज कई तरह के इंटरनेशनल डांस करने में माहिर है. वह बेली डांस, कंटेंपरेरी डांस, बैलेट डांस करती है. श्रुति अपने डांसिंग स्टाइल में कई तरह के स्टंट भी शामिल करती है़  खुद की मेहनत से छोटे पर्दे के बड़े शो इंडिया गॉट टैलेंट की  क्वार्टर फाइनल तक में जगह बनायी़  डांस इंडिया डांस में सीजन-4 से लेकर सीजन-6  तक भी पहुंची़  इंडिया गॉट टैलेंट  के क्वार्टर फाइनल के बाद  का  सफर उसके लिए बहुत मुश्किल  था़  आज श्रुति अलिशास डांस में बच्चों  में डांस सिखा रही है़  यहां के बच्चों व युवतियों को इंटरनेशनल डांस से रूबरू करा रही है़   श्रुति कहती है कि कि वह बचपन में डांस क्लास नहीं जा पायी थी. इस कारण उसने खुद मेहनत कर अपने डांस को बिल्डअप किया. श्रुति डांस के प्रति इतनी क्रेजी है कि वह   कंपीटीशन के लिए लैटिन बचाता इंटरनेशनल डांस फॉर्म सीखने के लिए दो  महीने के लिए चंडीगड़ भी गयी थी. वहीं के ग्रुप के साथ इंडिया गॉट  टैलेंट  में परफॉर्म किया़  क्वार्टर फाइनल तक पहुंची़   इसके बाद उन्हें कई जगह से  कोरियोग्राफर बनने के लिए मुंबई बुलाया गया़  आगे वह बॉलीवुड में कोरियोग्राफी  करेगी.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement