Advertisement

USA

  • Aug 20 2019 8:14AM
Advertisement

PM मोदी- इमरान खान से फोन पर बातचीत के बाद डोनाल्ड ट्रंप बोले- स्थिति ‘‘गंभीर'

PM मोदी- इमरान खान से फोन पर बातचीत के बाद डोनाल्ड ट्रंप बोले- स्थिति ‘‘गंभीर'
नयी दिल्लीः जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म करने की भारत की घोषणा के बाद सोमवार रात पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से टेलीफोन पर बात की. इस बातचीत की जानकारी डोनाल्ड ट्रंप ने भी ट्वीट कर दी. ट्रंप ने भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों से कश्मीर मामले में क्षेत्र में तनाव कम करने की अपील की, साथ ही दोनों देशों के बीच की स्थिति को ‘‘गंभीर' बताया.
 
ट्रम्प ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से सोमवार को फोन पर बात की और उन्हें भारत के खिलाफ संभल कर बयानबाजी करने को कहा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से फोन पर करीब 30 मिनट बात करने के बाद उन्होंने इमरान खान से बात भी की. 
 
इसके बाद  ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘‘अपने दो अच्छे दोस्तों, भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से व्यापार, रणनीतिक साझेदारी और सबसे अधिक महत्वपूर्ण भारत और पाकिस्तान के कश्मीर में तनाव कम करने को लेकर बात की. उन्होंने लिखा, ‘‘ गंभीर स्थिति, लेकिन अच्छी बातचीत..' 

 
वॉइट हाउस ने बताया कि ट्रंप ने कश्मीर पर दोनों देशों से तनाव कम करने का आग्रह किया. ट्रंप की इमरान से एक सप्ताह के अंदर यह दूसरी बातचीत है. 
 
 उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतम प्रावधान हटाए जाने पर पाकिस्तान ने कड़ा रुख अपना रखा है. कश्मीर मुद्दे को लेकर भारत के खिलाफ अपनी मुहिम जारी रखते हुए इमरान खान ने रविवार को भारत सरकार को ‘फासीवादी' और ‘श्रेष्ठतावादी' करार दिया था और आरोप लगाया था कि यह पाकिस्तान और भारत में अल्पसंख्यकों के लिए खतरा है. 
 
मोदी और खान से बातचीत करने के ट्रंप के कदम का स्वागत करते हुए भारतीय अमेरिकी अटॉर्नी रवि बत्रा ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने अमेरिका के सभी लोगों की ओर से उपमहाद्वीप के हमारे प्यारे मित्रों को आतंकवाद से दूर रहने, अच्छे पड़ोसियों की तरह रहने और अपने नागरिकों को कानून एवं व्यवस्था के साथ बेहतर कल देने को कहा. 
 
 
गौरतलब है कि हाल ही में पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के अमेरिका दौरे के वक्त डॉनल्ड ट्रंप ने दावा किया था कि नरेंद्र मोदी ने उनसे जम्मू-कश्मीर मसले पर मध्यस्थता की बात कही थी. हालांकि उनके इस दावे का खुद वाइट हाउस ने ही खंडन किया था. अब भारत का आर्टिकल 370 पर फैसला और उसके बाद सरकार के रुख से साफ है कि भारत इस मसले पर किसी भी तीसरे पक्ष के दखल के सख्त खिलाफ है. 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement