UP

  • Dec 7 2019 10:17PM
Advertisement

उन्नाव : बलात्कार पीड़िता का शव गांव पहुंचते ही बेकाबू हुए लोग, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल

उन्नाव : बलात्कार पीड़िता का शव गांव पहुंचते ही बेकाबू हुए लोग, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल

उन्नाव : बुरी तरह से झुलसी हुई स्थिति में दिल्ली के एक अस्पताल में उन्नाव बलात्कार पीड़िता का शव शनिवार रात यहां उसके गांव लाया गया. पीड़िता की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में शुक्रवार रात मौत हो गयी थी.

 बृहस्पतिवार रात पीड़िता को बेहतर इलाज के लिए विमान से दिल्ली ले जाया गया था. मृतका के परिवार को जब उसका शव सौंपा गया, तो मौके पर सपा के एमएलसी सुनील साजन, पूर्व विधायक उदय राज यादव और पार्टी के जिला अध्यक्ष धर्मेंद यादव सहित अन्य नेता मौजूद थे. किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात थे. दमकल की गाड़ियां भी मौके पर मौजूद थी. गांव में वरिष्ठ अधिकारी सुबह से ही डेरा डाले हुए थे. मीडिया को पीड़िता के घर से दूर रखा जा रहा है. पीड़िता के शव को फिलहाल घर के बरामदे में रखा गया है. सूत्रों के मुताबिक, जिला प्रशासन परिवार को समझा-बुझाकर देर रात को ही अंतिम संस्कार के लिए राजी करने की कोशिश में लगा है. हालांकि, पीड़िता के पिता का कहना है कि वह रविवार सुबह ही बेटी का अंतिम संस्कार करेंगे.

पीड़िता का शव घर पहुंचते ही पूरे गांव का माहौल गमनीन हो गया. परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. हर कोई गांव की बेटी के लिए इंसाफ की मांग कर रहा है. गैंगरेप पीड़िता को जमानत पर छूटे आरोपियों ने गुरुवार सुबह जिंदा जलाने की कोशिश की थी, जिसके बाद उसे पहले लखनऊ और फिर दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था. शुक्रवार रात को 90 फीसदी तक झुलसी पीड़िता की दर्दनाक मौत हो गयी थी. उन्नाव समेत देश भर में गुस्से का कारण बनी इस घटना के चलते उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर भी निशाना साधा जा रहा है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement