Advertisement

tv

  • Feb 10 2019 11:58AM
Advertisement

बिहार के गोपालगंज के रहने वाले हैं ‘सुपर डांसर’ के मामाजी

बिहार के गोपालगंज के रहने वाले हैं  ‘सुपर डांसर’ के मामाजी

 किसी भी एक्टर के लिए कोई न कोई एक ऐसा किरदार होता है जो उसे अलग पहचान दे देता है. छोटे पर्दे के मशहूर डांस रियलिटी शो ‘सुपर डांसर’ में मामाजी के किरदार को निभाने वाले परितोष त्रिपाठी भी ऐसे ही एक्टरों में से हैं, जिनको उनके किरदार के नाम से जाना जाता है. परितोष त्रिपाठी की सुजीत कुमार से हुई बातचीत के प्रमुख अंश.

सबसे पहले अपने बारे में बताएं?
मेरा मूल निवास गोपालगंज जिले के कटेया स्थित तिवारी बेलवा गांव में है. पिता प्रो रामाधार तिवारी सीवान में पोस्टेड थे, जबकि मां दमयंती तिवारी टीचर के रूप में यूपी के देवरिया में पोस्टेड थीं. मेरा पूरा घर टीचर व प्रोफेसर से भरा हुआ है. एक बहन डीयू में प्रोफेसर है तो एक बड़ा भाई आशुतोष त्रिपाठी भी टीचर हैं. परिवार देवरिया में शिफ्ट हो गया लेकिन आज भी मेरे चाचा व अन्य रिश्तेदार गोपालगंज ही रहते हैं.

परिवार में शिक्षा का माहौल था, तो अापका रुझान छोटे पर्दे की तरफ कैसे हो गया?
मैं पढ़ने में ज्यादा ध्यान नहीं देता था. दिन भर अपने क्लास टीचर और अन्य लोगों की नकल उतारते रहता था. बड़े भाई ने यह देखा तो उन्होंने मुझे थियेटर ज्वाइन करा दिया. यह सन् 2000 की बात है. जब मैंने थियेटर को ज्वाइन किया तो चीजों को देखने का मेरा नजरिया ही बदल गया. 2006 में मैं दिल्ली चला गया. वहां शिवाजी कॉलेज से हिंदी में ऑनर्स किया. इस दौरान खूब थियेटर किया. 

फिर मुंबई में आपका सफर कैसे शुरू हुआ? नये लोगों को तो मायानगरी में बहुत दिक्कत होती है.
बीस साल की उम्र में मैं 2009 में मुंबई आ गया था. यहां करीब दो सालों तक मेरा स्ट्रगल का दौर चला. 2010-11 में महुआ चैनल पर स्टैंड अप कॉमेडी का एक शो आया था. मैंने उसमें हिस्सा लिया और विनर बना. इससे मुझे हिम्मत मिली. फिर क्राइम पेट्रोल में काम किया. उससे भी पहचान मिली. जब पहचान मिली तो छोटे-छोटे कई सीरियल में काम मिलने लगे. इसी बीच में लाइफ ओके चैनल पर महाकुंभ सीरियल में काम करने का मौका मिला. उसमें सीमा विश्वास, विनीत कुमार के अलावा कई बड़े नाम ने काम किया. मेरा उसमें पुन्नु तिवारी नाम का किरदार था. मुझे लगा कि उसे करने के बाद काम की कमी नहीं होगी लेकिन मायानगरी में कब क्या हो जाये. कोई नहीं जानता. इतने बड़े सीरियल को करने के बाद भी खाली रहा. फिर लगा ऊपर वाला कुछ बेहतर सोच रहा है तभी काम नहीं मिल रहा है.

सुपर डांसर में मामाजी का किरदार कैसे मिला? इसने कितनी पहचान दी?

सोनी चैनल में एक सज्जन थे. वह बड़े पोस्ट पर कार्यरत थे. उन्होंने मेरे काम को कहीं देखा था. तब सुपर डांसर सीजन वन की शुरुआत होने वाली थी, हालांकि मुझे इस बात की कोई जानकारी नहीं थी कि कौन है और किस सीरियल के लिए मुझे खोजा जा रहा है? मुझे बुलाया गया और बताया गया कि एक रोल करना है. ऑडिशन हुआ. तब पता चला कि मामाजी का कैरेक्टर है और इसे सपोर्ट के लिए रखा गया है. तब तक किसी को यह अंदाजा नहीं था कि यह कैरेक्टर सपोर्ट के बदले मेन जैसा हो जायेगा. जब पहली शूट थी तब मुझे वायरल फीवर था. वह इंट्री मेरे लिए मजेदार रही. शिल्पा शेट्टी के साथ मेरी केमिस्ट्री को लोगों ने खूब पसंद किया. यूं कहूं कि मामा जी का कैरेक्टर मेरे लिए दूसरे जन्म है तो आश्चर्य नहीं है. इस किरदार ने सबकुछ बदल दिया. मैंने जीतना सोचा नहीं था, उससे कई गुना ज्यादा इस किरदार ने दिया. फिर सुपर डांसर टू में आया अभी सुपर डांसर सीजन तीन कर रहा हूं.

किसी नये प्रोजेक्ट पर भी काम कर रहे हैं?

सुपर डांसर खत्म होने के बाद दो-तीन सीरियल में काम करना है. इसके अलावा दो बड़ी फिल्में भी कर रहा हूं. राइटिंग के क्षेत्र में भी जुड़ा हुआ हूं. जल्द ही कुछ नया देखने को मिलेगा.

 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement