Advertisement

Technology

  • Mar 13 2019 10:48AM

ये टिक-टॉक क्या है? : एक चुटकी सिंदूर की कीमत तुम क्या जानो रमेश बाबू...

ये टिक-टॉक क्या है? : एक चुटकी सिंदूर की कीमत तुम क्या जानो रमेश बाबू...

 -सबको दीवाना बना रहा 15 सेकेंड का वीडियो,  खूब हो रही हंसी-ठिठोली
रांची :
एक चुटकी सिंदूर की कीमत तुम क्या जानो रमेश बाबू? बैकग्राउंड में दीपिका पादुकोण की आवाज में 'ओम शांति ओम' फिल्म का यह डायलॉग सुनायी पड़ता है और मोबाइल स्क्रीन पर एक आम लड़की का चेहरा. लड़की अपनी उंगलियां माथे की ओर ले जाती है और भावुक आंखों से डायलॉग की तर्ज पर अपना होंठ हिलाती है. हर वो हाथ जिसमें स्मार्टफोन और 4जी डेटा स्पीड है वो इस तरह के छोटे-छोटे वीडियो से फ्रेंडली हो चुका है. अधिकतम 15 सेकेंड के इस वीडियो में हंसी-ठिठोली, कमेंट्स, डायलॉग आदि होते हैं, जो लोगों को दीवाना बना रहे हैं. इंटरनेट की दुनिया में ऐसे ज्यादातर वीडियो चीनी एेप 'टिक-टॉक' की देन हैं. इसी पर पढ़िए यह रिपोर्ट.

15 सेकेंड की मजेदार कहानी

इस ऐप पर किसी को अपना वीडियो बनाने के लिए स्वयं को रजिस्टर करना होता है. यह रजिस्ट्रेशन सोशल मीडिया के किसी भी दूसरे प्लेटफॉर्म(फेसबुक, इमेल) की मदद  से किया जा सकता है. रजिस्ट्रेशन होने के बाद यूजर अपनी पसंद का डायलॉग,  गाना, लिप्सिंग आदि बना सकता है. इसमें अधिकतम 15 सेकेंड तक का वीडियो  बनाया जा सकता है. वीडियो बनाने के बाद इसे फेसबुक, ट्विटर आदि पर साझा भी किया जा सकता है. यूजर की लोकप्रियता यूजर को कमाई भी कराती है.

टिक टॉक को जानें

टिक-टॉक एक सोशल मीडिया एप्लीकेशन है. इसे 'बाइट डांस' नामक कंपनी ने चीन में सितंबर 2016 में डेवलप किया. साल 2018 में इसकी लोकप्रियता बहुत तेजी से बढ़ी. इसकी लोकप्रियता का आलम यह है कि 2018 के अक्तूबर में अमेरिका में यह सबसे ज्यादा डाउनलोड किया जाने वाला एेप बना. इसके रिव्यू में  प्ले-स्टोर ने कहा कि टिक-टॉक मोबाइल से छोटे-छोटे वीडियो बनाने का कोई साधारण जरिया नहीं है. इसमें कोई बनावटीपन नहीं है. यह वास्तविक है. 15 सेकेंड में आप इसकी मदद से अपनी कहानी कह सकते हैं.

टूगेटयू  भी दे रहा टक्कर

टूगेटयू एक ऐसा ही प्लेटफॉर्म है, जो हाल के दिनों में टिक-टॉक को टक्कर दे रहा है.  इस एेप को अबतक 10 लाख से अधिक लोगों ने डाउनलोड किया है. यह ऐसा वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म है जिसमें आप टिक-टॉक की तरह लिप सिंकिंग करके वीडियो बना सकते हैं. इसके साथ यूजर छोटे-छोटे वीडियो बनाकर आसानी से म्यूजिक, डायलॉग और स्पेशल इफेक्ट्स के साथ एडिट कर सकते हैं. साथ ही इसमें फेस स्वैपिंग से लेकर लिप-सिंकिंग तक कई सारे फीचर्स दिये गये हैं. टूगेटयू के इंडिया बिजनेस ऑफिस के आंकड़ों के मुताबिक हर रोज इस एेप पर करीब 80 हजार वीडियो अपलोड हो रहे हैं. इसे 31 दिसंबर 2018 से शुरू किया गया है.

एक करोड़ बार डाउनलोड हुआ मैड-लिप्ज

मैड लिप्ज भी वीडियो शेयरिंग ऐप है, जिसे अब तक एक करोड़ से अधिक बार डाउनलोड किया गया है. यह लिप्सिंग के लिए यंगस्टर्स के बीच काफी पॉपुलर है. इसके अतिरिक्त वीगो वीडियो एप्लीकेशन भी इन दिनों काफी चर्चा में है. 10 करोड़ से अधिक बार शेयर किया जा चुका यह ऐसा एेप है, जो सिर्फ वीडियो बनाने के लिए ही नहीं है बल्कि वीडियो में आप स्पेशल इफेक्ट भी दे सकते हैं.  इन प्लेटफॉर्म पर हिंदी, भोजपुरी सिनेजगत के कई पॉपुलर एक्टर-एक्ट्रेस पर अपने वीडियो साझा कर चुके हैं.

भारत में इसके 20 करोड़ यूजर

टिक-टॉक को भारत में 100 मिलियन के ज्यादा डाउनलोड किया गया है. वहीं हालिया मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इसे हर महीने लगभग 20 करोड़ भारतीय इस्तेमाल करते हैं. भारतीयों में टिक-टॉक की लोकप्रियता ऐसी है कि आठ लाख लोगों ने गूगल प्ले स्टोर पर इसका रिव्यू किया है. टिक-टॉक से जुड़ी मजेदार बात यह है कि  इसका इस्तेमाल करने वालों में एक बड़ी संख्या गांवों और छोटे शहरों के लोगों की है. टिक-टॉक की दीवानगी सात-आठ साल की उम्र के छोटे-छोटे बच्चों के तक के सिर चढ़कर बोल रही है. इसमें ब्लू टिक नहीं बल्कि ऑरेंज टिक मिलता है. जिन लोगों को ऑरेंज टिक मिलता है उनके अकाउंट में पॉपुलर क्रिएटर लिखा दिखायी पड़ता है. साथ ही अकाउंट देखने से ये भी पता चलता है कि यूजर को कितने ‘दिल’ मिले हैं.

और भी हैं विकल्प
प्ले-स्टोर पर एंड्रायड मोबाइल के लिए कई और भी ऐप हैं, जिनकी मदद से फनी वीडियोज बनाये जा सकते हैं. पॉपुलर वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म में वीवो वीडियो, मेड लिप्ज भी शामिल हैं. इसके अलावा एक देशी प्लेटफॉर्म भी है. यह टूगेटयू (togetU) के नाम से पॉपुलर है.

Tags:#TikTok
Advertisement

Comments

Advertisement