Technology

  • Jan 17 2020 6:56AM
Advertisement

सोशल मीडिया : शॉर्ट वीडियो मेकिंग एप टिक-टॉक ने फेसबुक और मैसेंजर को पछाड़ा, लोकप्रियता में दूसरे नंबर पर

सोशल मीडिया : शॉर्ट वीडियो मेकिंग एप टिक-टॉक ने फेसबुक और मैसेंजर को पछाड़ा, लोकप्रियता में दूसरे नंबर पर

चीन की शॉर्ट वीडियो मेकिंग एप टिक-टॉक सिर्फ भारत में ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में व्हाट्सएप के बाद सबसे ज्यादा डाउनलोड की जाने वाली दूसरी एप बन गयी है. 

ऑनलाइन एनालिटिक फर्म सेंसर टॉवर ने एक रिपोर्ट जारी कर बताया है कि साल 2019 की चौथी तिमाही में टिक टॉक एप को 22 करोड़ डाउनलोड्स मिले हैं, जोकि पिछली तिमाही के मुकाबले लगभग 24 फीसदी ज्यादा हैं. फेसबुक और फेसबुक मैसेंजर को पीछे छोड़ते हुए 2019 में टिक-टॉक ने 700 मीलियन से ज्यादा डाउनलोड पूरे किये. साल 2019 में टिक-टॉक सबसे ज्यादा भारत में डाउनलोड किया, जबकि ब्राजील दूसरे स्थान पर रहा. इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि टिक-टॉक की कमाई में 540 फीसदी की भारी वृद्धि हुई है.

70 करोड़ से ज्यादा डाउनलोड, कमाई में 540 फीसदी की भारी वृद्धि

2018 में एप चार्ट में टिक-टॉक की हुई थी इंट्री

रैंक 2018रैंक 2019

1. व्हाट्सएपव्हाट्सएप

2. मैसेंजरटिक-टॉक

3. फेसबुक मैसेंजर

4. टिक-टॉक फेसबुक

5. इंस्टाग्राम इंस्टाग्राम

रैंक 2018रैंक 2019

6. यूसी ब्राउजर लाइकी

7. शेयरइट शेयरइट 

8. यू-ट्यूब यू-ट्यूब

9. स्नैपचैट स्नैपचैट

10. विगो नेटफ्लिक्स

हर महीने 283 करोड़ की कमाई

सेंसर टावर ने दावा किया है कि अकेले दिसंबर महीने में टिक-टॉक की 40 मिलियन डॉलर (करीब 283 करोड़ रुपये) की कमाई हुई है. कमाई के मामले में यह एप पिछले महीने सातवें नंबर (गेम्स को हटाकर) पर रहा. टिक-टॉक की सबसे ज्यादा कमाई चीन से होती है. दूसरे नंबर पर अमेरिका है. 2019 की चौथी तिमाही में टिक-टॉक को 78 फीसदी रेवेन्यू चीन और 16 फीसदी यूएस से मिला. 

टिक-टॉक के साथ आइआइएम इंदौर का करार, वीडियो बना सिखायेगा ककहरा

इंदौर : आइआइएम-इंदौर टिकटॉक के साथ मिल कर संचार, संवाद, रणनीति, मार्केटिंग आदि प्रबंधन संबंधी विषयों पर छोटे-छोटे वीडियो मॉड्यूल तैयार करेगा. इन वीडियो मॉड्यूलों को आइआइएम इंदौर अपने अलग-अलग पाठ्यक्रमों में लागू करेगा. आइआइएम-इंदौर ने इसके लिए टिकटॉक से गुरुवार को हाथ मिलाया. इस गठजोड़ के तहत छोटे-छोटे वीडियो बनाकर विद्यार्थियों और प्रशिक्षणार्थियों को प्रबंधन का ककहरा सिखाया जायेगा. 

 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement