Advertisement

vishesh aalekh

  • Oct 23 2019 7:00AM
Advertisement

बायोमिट्रिक सेंसर से लैस है एप्पल का नया स्मार्ट रिंग

बायोमिट्रिक सेंसर से लैस है एप्पल का नया स्मार्ट रिंग
प्रीमियम स्मार्टफोन मेकर एप्पल, स्मार्ट वॉच के बाद स्मार्ट रिंग लाने की तैयारी में है. इस रिंग को पहनने के बाद यूजर आईफोन और अन्य डिवाइसेस को बिना टच किये ही कंट्रोल कर सकेंगे. यह रिंग टचस्क्रीन, वॉयस कमांड और हैंड जेस्चर कंट्रोल जैसे फीचर से लैस है. कंपनी ने इस रिंग को लेकर 2015 में पेटेंट फाइल किया था. यूएस पेटेंट एंड ट्रेडमार्क ऑफिस के अनुसार, इस नये वीयरेबल डिवाइस के लिए एप्पल को पेटेंट मिल चुका है.
 
पेटेंट टाइटल
 
एप्पल के पेटेंट का टाइटल 'डिवाइसेज, मेथड एंड यूजर इंटरफेस फॉर ए वियरेबल इलेक्ट्रॉनिक रिंग कंप्यूटिंग डिवाइस' रखा गया है. पेटेंट में ड्रॉइंग ऑफ पोटेंशियल डिजाइन, रिचार्जेबल पावर सोर्स और वायरलेस ट्रांस-रिसीवर जैसे फीचर्स भी शामिल किये गये हैं.
 
टचस्क्रीन की मदद से प्राइमरी 

डिवाइसेस का इस्तेमाल
 
इस स्मार्ट रिंग को किसी भी उंगली में पहना जा सकता है. इस रिंग में कंप्यूटर प्रोसेसर, वायरलेस ट्रांस-रिसीवर व रिचार्जेबल पावर सोर्स भी दिये गये हैं. रिंग में बायाेमिट्रिक सेंसर (जो एक वायरलेस सिस्टम है) लगा है, जिसके माध्यम से एक्सटर्नल इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को एक्टिवेट किया जा सकता है. यह सेंसर टचस्क्रीन के माध्यम से काम करता है, जिसके जरिये यूजर्स आईफोन, आईपैड, मैक व टीवी जैसेे एप्पल के इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस का इस्तेमाल कर पायेंगे. 
 
पेटेंटली एप्पल की रिपोर्ट के अनुसार, अमेजन के इको लूप की तरह एप्पल का यह स्मार्ट रिंग सिरी का इस्तेमाल करने में सक्षम होगा. इतना ही नहीं, इसका इस्तेमाल बायोमिट्रिक अथेंटिकेशन, कंप्यूटर को कंट्रोल करने, टीवी व टीवी बॉक्स को कंट्रोल करने और यहां तक की घरों की लाइटिंग को कंट्रोल करने के लिए भी किया जा सकेगा. इसके जरिये व्हीकल को भी कुछ हद तक कंट्रोल किये जाने की संभावना जतायी गयी है. यह नया वियरेबल डिवाइस हैप्टिक एक्टुएटर से लैस है, जो यूजर्स की कमांड की पहचान कर उसे रजिस्टर करता है.
 
यह यूजर्स को डायरेक्शन भी मुहैया कराता है. इस रिंग को पहनने के बाद यूजर्स स्क्रीन को देखे बिना ही एक्सटर्नल डिवाइस द्वारा भेजे गये संकेतों का जवाब दे सकेंगे. इस स्मार्ट रिंग के लिए एप्पल ने दो संभावित डिजाइन का प्रस्ताव रखा है. एक रिंग छोटे टचस्क्रीन के साथ व दूसरा थोड़े बड़े टचस्क्रीन के साथ उपलब्ध हो सकता है.
 
ऐसे काम करता है स्मार्ट रिंग
 
एप्पल का यह रिंग वॉयस कमांड या हैंड जेस्टर के माध्यम से अन्य गैजेट्स के साथ वायरलेस तरीके से संपर्क करता है. उदाहरण के लिए, रिंग को हवा में लहराने या उससे बात करके उसे एक्टिवेट किया जा सकता है.
 
सुरक्षा की दृष्टि से भी मददगार
 
कंपनी की मानें तो, सुरक्षा के लिहाज से भी एप्पल का यह नया डिवाइस बहुत मददगार है. टचस्क्रीन की लाइट की वजह से यूजर्स को वास्तविक लोकेशन का पता चल जाता है. दूसरे अगर कभी ऐसी स्थिति आये जब खुद को दूसरों की नजरों से दूर रखना जरूरी हो, तो ऐसे में इस स्मार्ट रिंग की मदद से यूजर्स छुप कर मदद की अपील भी कर सकते हैं. इस प्रकार वे खुद को सुरक्षित रख सकते हैं. माना जा रहा है कि इस रिंग में फोन कॉल करने की सुविधा भी उपलब्ध हो सकती है, जिसका जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल किया जा सकेगा.
 
सोनी का वॉयस असिस्टेंट
 
गूगल असिस्टेंट, अमेजन एलेक्सा और एप्पल सिरी जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से लैस ये वॉयस असिस्टेंट एप्स हमारे दिन-प्रतिदिन के कई काम अासानी से निबटा सकते हैं. 
 
जैसे भोजन ऑर्डर करना, मनपसंद गाने बजाना, न्यूज पढ़ना, मौसम की जानकारी हासिल करना आदि. बहुत जल्द हमारे सामने सोनी का वॉयस असिस्टेंट भी मौजूद होगा. हाल ही में सोनी कंपनी ने इन-गेम संबंधी वॉयस असिस्टेट के लिए पेटेंट दाखिल किया है. सोनी के इस एआई असिस्टेंट को प्लेस्टेशन असिस्ट नाम दिया गया है. प्लेस्टेशन असिस्ट गेमिंग के दौरान एक खास स्थिति में फंस जाने पर यूजर्स की मदद करेगा. 
 
उदाहरण के लिए, अगर आपको अपने करीब के हेल्थ पैक की तलाश है, ऐसे में जब आप प्लेस्टेशन असिस्ट से इस बारे में पूछेंगे तो इन-गेम मैप पर आपके लिए हेल्थ पैक का स्थान चिन्हित हो जायेगा. वॉयस, टेक्स्ट, वीडियो या इन तीनों के संयोजन के जरिए यूजर्स असिस्टेंट से आप प्रश्न पूछ सकेंगे.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement