Advertisement

siwan

  • Aug 24 2019 6:01AM
Advertisement

बीडीओ के चालक व उसके पुत्र को अपराधियों ने मारी गोली, रेफर

 सीवान/हुसैनगंज : जिले के बेखौफ अपराधियों ने गुरुवार की देर रात हुसैनगंज थाने के सरेया गांव के समीप हुसैनगंज प्रखंड के बीडीओ के चालक एवं चालक के पुत्र को गोली मारकर जख्मी कर दिया. गंभीर रूप से जख्मी चालक एवं उसके पुत्र को उपचार के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया. दोनों की हालत गंभीर होने के कारण डॉक्टरों ने पीएमसीएच रेफर कर दिया.

 
 जख्मी चालक का नाम मोहम्मद निजामुद्दीन तथा उसके पुत्र का नाम मोहम्मद इनामुद्दीन है. घटना के संबंध में परिजनों ने बताया कि चालक का पुत्र इनामुद्दीन अपने पिता की ड्यूटी खत्म होने के बाद उन्हें लाने के लिए बाइक से हुसैनगंज गया था. 
 
जब वह अपने पिता को लेकर बाइक से अपने गांव हथौड़ा आ रहा था. उसी दौरान सरेया के समीप बाइक पर सवार दो अपराधियों ने रुकने का इशारा किया. बाइक नजदीक आते ही दोनों अपराधियों ने पिता-पुत्र पर फायरिंग कर जख्मी कर दिया. गोलियों की आवाज सुनकर स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे तथा घायलों को उपचार के लिए  सदर अस्पताल लाए. 
 
घटना की सूचना मिलते हैं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी जितेंद्र पांडे व नगर इंस्पेक्टर जयप्रकाश पंडित सदर अस्पताल पहुंचे तथा घटना की जानकारी लिया. परिजनों से जानकारी लिया. घायल दोनों पिता-पुत्र के पटना चले जाने से पुलिस उनका बयान नहीं ले सकी. घटना के कारणों की जानकारी अभी नहीं हो सकी है. पुलिस घटना के बाद अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए आसपास के क्षेत्रों में गुरुवार की रात्रि कई स्थानों पर छापेमारी किया.
 
टाइम लाइन
7:45 बजे चालक प्रखंड कार्यालय से अपने पुत्र के साथ निकला
8:05 बजे पर सरेया चट्टी पर अपराधियों ने गोली मारी
8:15 मिनट पर घायल को सदर अस्पताल के लिए निकले लोग
9:00 बजे घायल पिता पुत्र को सदर अस्पताल में कराया गया भर्ती
9:15 बजे सदर अस्पताल पहुंचे अधिकारी व किये पूछताछ
9:35 बजे घायल पिता पुत्र पीएमसीएच रेफर
 
डॉक्टरों ने दोनों को गंभीर स्थिति में पीएमसीएच किया रेफर
चालक का पुत्र अपने पिता को लेकर आ   रहा था घर
पहले से घात लगाये अपराधियों ने दिया घटना को अंजाम
गोलीबारी की सूचना के बाद पुलिस अलर्ट, शातिर अपराधी विश्वकर्मा बिंद के घर हुई छापेमारी
 
हुसैनगंज. बीडीओ के चालक व उनके पुत्र पर हुए जानलेवा हमले की घटना की सूचना पाते ही एसपी नवीन चंद्र झा ने एसडीपीओ जितेंद्र पांडे को शीघ्र हमालवरों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी करने का आदेश दिया. एसडीपीओ के नेतृत्व में कई थाने की पुलिस अपराधियों को पकड़ने और मामले को खुलासा करने के लिए बधौनी गांव में छानबीन की. पुलिस ने कई अन्य गांव में भी छापेमारी की.
 
 पुलिस ने शातिर अपराधी अपराधी विश्वकर्मा बिंद के घर पर छापेमारी की, परंतु कुछ भी सफलता पुलिस को हाथ नहीं लगी. इस मामले में थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि अभी तक घायलों की तरह से कोई लिखित आवेदन थाना में प्राप्त नहीं है. बीडीओ मनीषा प्रसाद ने बताया कि अभी उनकी नौकरी तीन साल शेष रह गया है. 
 
घटना की सूचना पर जिला से एसपी नवीनचंद्र झा, एसडीपीओ जितेंद्र पांडेय, हुसैनगंज थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार सिंह, पंकज कुमार, ध्रुव जी सिंह, राजेश कुमार व जहांगीर खान सहित अन्य घायल ड्राइवर के घर हथौड़ा जाकर उनके परिजनों से संपर्क कर स्थिति का जायजा लेते हुए शीघ्र ही अपराधियों को गिरफ्तार करने के लिए आश्वासन दिया.
 
देर रात होने की वजह से चालक ने पुत्र को बुलाया था घर से 
हुसैनगंज :  सीवान आंदर मुख्य मार्ग पर सरेयां गांव के समीप बीती रात्रि अज्ञात अपराधियों ने स्थानीय प्रखंड कार्यालय के बीडीओ मनीषा प्रसाद के ड्राइवर और उनके पुत्र को गोली मारकर गंभीर रूप से घायल कर फरार हो गये. ड्राइवर हुसैनगंज प्रखंड के बीडीओ को उनके आवास कॉलोनी में छोड़ कर अपने घर हथौड़ा वापस लौट रहे थे. बीडीओ मनीषा प्रसाद से जब संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि जिला में कलेक्ट्रेट में डीएम रंजीता की अध्यक्षता में सभी बीडीओ की बैठक थी. 
 
बैठक देर शाम तक चलने के कारण ड्राइवर मुझे हुसैनगंज आवास कॉलोनी में लगभग 8:30 बजे रात्रि में छोड़ने के बाद अकेला समझ कर फोन कर अपने बेटा एनामुद्दीन सिद्दीकी को बाइक लेकर बुलाया. बीडीओ आवास से दोनों बाइक पर सवार होकर अपने घर हथौड़ा के लिए रवाना हो गए. अभी वह जैसे ही आंदर-सीवान मुख्य मार्ग पर स्थित सरेयां चट्टी के समीप पहुंचे ही थे कि पहले से घात लगाए बैठे अपराधियों ने बाइक को हाथ देकर रुकवाया. बाइक रुकते ही अपराधियों ने फायरिंग कर दिया.
 
 गोली लगने की सूचना पाते ही उनके परिजन और दर्जनों की संख्या में ग्रामीण वहां पहुंचे और सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर स्थिति देखते हुए डॉक्टरों ने बेहतर इलाज के लिए पीएमसीएच पटना रेफर कर दिया. पीएमसीएच पटना में डॉक्टरों द्वारा ऑपरेशन कर ड्राइवर के पेट और जांघ में फंसी गोलियों को निकाल दिया. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement