Advertisement

siwan

  • Mar 20 2019 7:42AM
Advertisement

छह सीटों पर चुनाव लड़ सकता है माले, आरा से राजू यादव व सीवान से अमरनाथ यादव प्रत्याशी

छह सीटों पर चुनाव लड़ सकता है माले, आरा से राजू यादव व सीवान से अमरनाथ यादव प्रत्याशी
भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य बोले
सीवान : भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने कहा कि 2014 में 23 सीटों पर भाकपा माले चुनाव लड़ा था. इस बार छह सीटें सीवान, आरा, जहानाबाद, काराकाट, पाटलिपुत्र व  कटिहार से पार्टी चुनाव लड़ सकती है. वहीं, उन्होंने कहा कि आरा लोकसभा सीट से राजू यादव व सीवान से अमरनाथ यादव को प्रत्याशी होंगे. इसकी विधिवत घोषणा पार्टी की ओर से की जा चुकी है. 
 
उन्होंने कहा कि एनडीए के खिलाफ बना गठबंधन वामपंथी ताकतों के बिना पूरा नहीं हो सकता है. राष्ट्रीय महासचिव मंगलवार को पार्टी की एक दिवसीय जिला कमेटी की बैठक में भाग लेने सीवान आये थे. सीवान से पार्टी के चुनाव लड़ने के मुद्दे पर दीपांकर ने कहा कि पार्टी यह पहले ही स्पष्ट कर चुकी है कि यह सीट मेरे लिए महत्वपूर्ण है. ऐसे में राष्ट्रीय जनता दल को भी आमजन की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए माले को सपोट करना चाहिए.
 
नहीं लड़ेंगे चुनाव, एनडीए प्रत्याशी के लिए मांगेंगे वोट : जनक राम 
 
गोपालगंज : भाजपा सांसद जनक राम ने कहा कि पार्टी मेरे लिए सर्वोपरि है. गोपालगंज की सीट जदयू के कोटे में जाने के बाद सभी अटकलों को खारिज करते हुए सांसद ने कहा कि पार्टी से अलग हो लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे. हम पार्टी के लिए काम करेंगे और एनडीए प्रत्याशी के पक्ष में वोट मांगेंगे. वे मंगलवार को आवास पर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ संवाददाताओं को संबोधित कर रहे थे. मौके पर जिलाध्यक्ष विनोद सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष ब्रम्हानंद राय, मार्कंडेय राय शर्मा, अनूप लाल श्रीवास्तव, राजू चौबे, करण कुमार, नीरज देवा आदि मौजूद थे.
 
हम एनडीए प्रत्याशी के साथ लोकसभा चुनाव लड़ने की बात गलत : ओमप्रकाश 
 
सीवान : सीवान सीट जदयू के खाते में जाने के बाद कई तरह के कयास लगाये जा रहे हैं. इन पर विराम लगाते हुए सांसद ओमप्रकाश यादव ने लगा दिया. उन्होंने कहा कि मेरे लिए पार्टी मेरे लिए सर्वोपरि है. 
 
लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे. पार्टी का सिपाही होने के नाते जो जिम्मेदारी मिलेगी, उसे पूरी तरह निभाउंगा.  ताकि लोकसभा चुनाव में एनडीए प्रत्याशी को जीत सुनिश्चित हो सके ताकि नरेंद्र मोदी फिर देश के प्रधानमंत्री बने. उन्होंने कार्यकर्ताओं से अपील किया कि किसी भी पार्टी के वरीय नेता पर कोई आरोप नहीं लगाएं और संयम बरतें. 
 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement