Advertisement

sitamarhi

  • Sep 6 2019 2:38AM
Advertisement

रंगदारी में चांदी लेने पर दारोगा सहित चार पुलिसकर्मी गिरफ्तार

सीतामढ़ी : नगर थाने के गश्ती टीम में तैनात दारोगा व पैंथर मोबाइल के तीन सिपाहियों ने पुलिस की साख को बट्टा लगाया है. शहर के सोनापट्टी के आभूषण व्यवसायी से रंगदारी के एवज में चार किलो चांदी लेने के आरोप में पुलिस ने बुधवार रात चारों पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.

इसमें प्राअनि (दारोगा) अर्जुन प्रसाद के अलावा पैंथर मोबाइल के गोपाल कुमार, पंकज कुमार व कमल आनंद किशोर शामिल हैं. एसपी अनिल कुमार ने गिरफ्तारी की पुष्टि की है. उन्होंने कहा कि इन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है. चार किलो चांदी पुलिस लाइन स्थित इन जवानों के कमरे से बरामद कर ली गयी है. इस संबंध में शहर के कोट बाजार पानी टंकी निवासी  

पीड़ित सचिन दिलीप धारगे के आवेदन पर नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी है, जिसमें इन पुलिसकर्मियों को आरोपित किया गया है.

-- क्या है पूरा मामला

मूल रूप से महाराष्ट्र के रहनेवाले सचिन दिलीप धारगे सोनापट्टी शंकर डेयरी के बगल में दुकान खोलकर चांदी का व्यवसाय करते हैं. 31 अगस्त को सुबह 11.30 से 1.45 बजे के बीच वह चांदी लेकर दुकान की तरफ जा रहे थे. कोट बाजार शिव मंदिर के पास पहुंचने पर चारों पुलिसकर्मियों ने उसे घेर लिया तथा चांदी मांगने लगे. बाद में उसे लेकर रिंग बांध पीली कुटी स्थित मथुरा हाइस्कूल के पास पहुंचकर फिफ्टी-फिफ्टी बंटवारा करने का दबाव बनाया. व्यवसायी ने कहा कि चांदी दुकानदारों को देनी है.

इस पर पुलिसकर्मी नहीं माने और चांदी नहीं देने पर झूठे केस में फंसाने की धमकी दी. चारों पुलिसकर्मी व्यवसायी से 10 किलो चांदी लेने पर अडिग थे. बाद में चार किलो पर सहमति बन गयी और चारों दुकान पर आकर जबरन चार किलोग्राम चांदी ले गये. व्यवसायी ने पूरा वाकया पटना में कारोबार कर रहे भाई संजय भोसले को बताया. भोसले ने इसकी शिकायत आभूषण व्यवसायी संघ के अध्यक्ष अनिल वर्मा से की. इस पर व्यवसायियों का शिष्टमंडल डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय से मिलकर मामले से अवगत कराया.

मामला संज्ञान में आते हीं डीजीपी एक्शन में आ गये और एसपी को जांच कर दोषी पुलिसकमिर्यों को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया. देर रात एसपी ने नगर थाना पहुंचकर जांच की और मामला सत्य पाया. इसके बाद दारोगा समेत चारों पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार करने का आदेश दिया.

 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement