Advertisement

sitamarhi

  • Jul 7 2019 5:38AM
Advertisement

बाइक छोड़ फायरिंग करते भागे अपराधी

 ढेंग रेलवे स्टेशन पर मालगाड़ी को बनाया ढाल

इलाके में बड़ी वारदात की सूचना पर पहुंची थी पुलिस

इंस्पेक्टर के नेतृत्व में पांच थानों की पुलिस का कांबिंग ऑपरेशन

धीरज व मुन्नू के रूप में हुई भागे अपराधी की पहचान

अपराधियों की ओर से सात व पुलिस की ओर से दो राउंड फायरिंग

सीतामढ़ी/सुप्पी : जिले के सुप्पी थाना क्षेत्र में शनिवार की सुबह बड़ी घटना को अंजाम देने निकले अपराधियों ने पुलिस को पीछा करते देख ढेंग रेलवे स्टेशन पर बाइक छोड़ फायरिंग करते निकल भागा.

 बिना निबंधन की बाइक पर सवार दो अपराधी पुलिस गिरफ्त से बचने के लिए स्टेशन पर खड़ी मालगाड़ी को ढाल बनाया. इसकी आड़ में अपराधियों में से एक ने पुलिस टीम पर फायरिंग करते दक्षिण की तरफ पानी से भरे गड्ढे में कूद गया. वहीं दूसरा अपराधी ईंख की खेत होकर भाग खड़ा हुआ. भाग रहे अपराधियों पर पुलिस टीम की ओर से भी फायरिंग की गयी. हालांकि खेत में कुछ चरवाहे व घांस काट रहे लोगों को देखकर पुलिस ने अपनी तरफ से फायरिंग रोक दी, जिसका लाभ उठाकर दोनों अपराधी भागने में सफल रहा.

इसमें एक के मनियारी व सुप्पी की तरफ तथा दूसरे के नेपाल बॉर्डर की तरफ भागने की सूचना है. भागे अपराधियों को दबोचने के लिए रीगा सर्किल इंस्पेक्टर अनिल कुमार शर्मा के नेतृत्व में कांम्बिंग ऑपरेशन शुरू किया गया है. इसमें सुप्पी के अलावा मेजरगंज, सहियारा, रीगा व बैरगनिया थाने की पुलिस को शामिल किया गया है.

पुलिस टीम सादे लिवास में बाइक पर सवार होकर इन अपराधियों को पकड़ने के लिए इलाका छान रही है. हालांकि अब तक अपराधियों का कोई सुराग नहीं मिल सका है. इंस्पेक्टर श्री शर्मा ने अपराधियों की ओर से छह से सात राउंड तथा पुलिस की ओर से दो राउंड फायरिंग किये जाने की पुष्टि की है. फायरिंग करते भागने वाले अपराधियों में बसंत खुर्द गांव का शातिर धीरज सिंह व मुन्नु सिंह बताया जा रहा है.

पुलिस के लिए चुनौती बना है शातिर अपराधी धीरज

बसंत खुर्द गांव का शातिर धीरज सिंह इन दिनों जिला पुलिस के लिए चुनौती बना है. आठ मई 2919 को भी पुलिस को बड़ी चुनौती देकर घेराबंदी से भाग चुका है. हालांकि उसका एक सहयोगी संजय महतो उर्फ ललवा सुप्पी थाने की पुलिस के हत्थे चढ़ा था. पुलिस व उसके गिरोह के बदमाशों से मुठभेड़ के बाद ललवा को पकड़ा गया था. सुप्पी थाना क्षेत्र के बसंत खुर्द गांव में अपराधियों के जमावड़े की सूचना पर पुलिस ने एसएसबी जवानों के साथ मिलकर घेराबंदी की थी. 

 पुलिस से घिरा देखकर अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग की. जवाब में पुलिस की ओर से भी फायरिंग की गयी थी. घटनास्थल से पुलिस ने एक पिस्टल, दो मैगजीन व छह जिंदा कारतूस बरामद किया था. दरअसल मुठभेड़ के सूत्रधार शातिर धीरज व मुन्नु को पुलिस अपनी गिरफ्त में लेना चाहती थी, जो भागने में सफल रहा.

 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement