Advertisement

sitamarhi

  • Jul 3 2019 1:30AM
Advertisement

सात दिन के बाद गायब जलंधर बेहोशी की हालत में हुआ बरामद

 पुलिस की दबिश से ससुरालवालों पर मुक्त करने का आरोप

प्राथमिक उपचार के बाद एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर रेफर

निरोधात्मक कार्रवाई के तहत तीन लोगों को पुलिस ने भेजा जेल
 
सीतामढ़ी/बेलसंड : अनुमंडल अंतर्गत पचनौर गांव से एक सप्ताह से लापता शकल राय के पुत्र जलंधर राय को सोमवार की सुबह गैस एजेंसी के पीछे बेहोशी के हालत में बरामद कर लिया गया. 
 
 जलंधर को मारपीट करने के बाद हाथ-पैर को काले रंग के पट्टी से बांध कर फेंक दिया गया था. ग्रामीणों से सूचना मिलने पर स्थानीय पुलिस ने जलंधर राय को पुलिस अभिरक्षा में लेते हुए इलाज के लिए स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भरती कराया. जहां प्राथमिक उपचार के बाद सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया. जलंधर की स्थिति नाजुक देखते हुए सदर अस्पताल से उसे एसकेएमसीएच, मुजफ्फरपुर रेफर कर दिया गया. जलंधर के साथ पहुंचे परिजनों में शामिल रविंद्र कुमार ने बताया कि हत्या की नियत से जलंधर के ससुराल वालों ने अपहरण कर लिया था. ग्रामीण व पुलिस के दबाव को देखते हुए उसे मारपीट कर फेंक दिया गया है. ससुराल वालों की योजना जलंधर का अपहरण करने के बाद हत्या करने की नियत थी. 
 
 कारण बताया कि जलंधर ने वर्ष 2018 में ग्रामीण इब्राहिम की पुत्री नाजनीन से कोर्ट मैरिज कर लिया था. जिससे ससुराल वाले नाराज थे. इधर, गर्भवती होने के बाद नाजनीन ससुराल में रह रही थी. 26 जून को नाजनीन की तबियत खराब होने की जानकारी देते हुए जलंधर को बुलाया गया. उसी दिन से जलंधर गायब था.
 
जिसके बाद से जलंधर व नाजनीन के परिवार के समर्थन में गांव दो गुटों में बंट गया था. इब्राहिम के परिवार वालों ने पुलिस से शिकायत की थी कि घटना को लेकर जलंधर के पिता शकल राय ने अपने समर्थकों के साथ मिलकर घर पर हमला कर दिया था. जिसके बाद से वरीय अधिकारियों के निर्देश पर पचनौर गांव में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया. पुलिस ने निरोधात्मक कार्रवाई करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार करने के बाद न्यायिक हिरासत में पेश करते हुए जेल भेज चुकी है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement