Advertisement

Singhbhum west

  • Aug 19 2019 6:34AM
Advertisement

बारिश से चक्रधरपुर में बाढ़, 300 लोग बेघर, करीब 100 घर ध्वस्त

बारिश से चक्रधरपुर में बाढ़, 300 लोग बेघर, करीब 100 घर ध्वस्त
250 लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया गया
रांची से पहुंची एनडीआरएफ की टीम, आज बंद रहेंगे स्कूल
चक्रधरपुर में संजय व विंजय नदी उफनायी, जेएलएन कॉलेज में बनाया गया राहत शिविर
पश्चिमी सिंहभूम में शनिवार रात 133.4 मिमी बारिश से नदियां उफनायीं,कई गांवों का संपर्क टूटा
 
चाईबासा/चक्रधरपुर : शनिवार देर रात से शुरू हुई मूसलाधार बारिश के बाद पश्चिमी सिंहभूम की नदियाें का जलस्तर बढ़ गया. कई नदियां खतरे के निशान पार कर गयीं. 133.4 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गयी. चक्रधरपुर में संजय व विंजय नदी का जलस्तर बढ़ने से बाढ़ आ गयी. नदियों के किनारे बसी बस्तियों में पानी घुस गया. 300 लोग बेघर हो गये. 250 लोगों को निकाल कर राहत शिविरों में पहुंचाया गया. करीब 100 घर ध्वस्त हो गये. 
 
आरपीएस इंटर कॉलेज, मधुसूदन टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज, सूर्या नरसिंह स्कूल, आदर्श मवि, महात्मा गांधी उवि, आरएनएस स्कूल, प्रावि बांझीकुसूम पानी में डूब गये. बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की टीम रांची से चक्रधरपुर पहुंची. जवानों ने लोंगों को सुरक्षित शिविरों में पहुंचाया. रविवार सुबह सात बजे अचानक आयी बाढ़ से एएनएम स्कूल भी डूब गया. 
हालांकि छात्राओं को बचा लिया गया. पातु कॉलोनी व कुदलीबाड़ी समेत कई बस्तियाें से लोगों को सुरक्षित निकालकर जेएलएन कॉलेज पहुंचाया गया. उपायुक्त अरवा राजकमल, एसपी इंद्रजीत महथा भी चक्रधरपुर पहुंचे और बाढ़ की स्थिति का जायजा लिया. उपायुक्त ने सोमवार को क्षेत्र के स्कूलों को बंद रखने का आदेश दिया है. 
 
चाईबासा में रोरो नदी का जलस्तर बढ़ा, निचले इलाकों में भरा पानी
 
चाईबासा में रोरो नदी का जलस्तर बढ़ गया है. निचले इलाकों में पानी भर गया है. जैंतगढ़ क्षेत्र के कई इलाकों में भारी बारिश हुई है. वैतरणी नदी समेत प्रमुख नदियों का जलस्तर बढ़ गया है. गुवा-किरीबुरू में पिछले चौबीस घंटे से हो रही मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. टोंटो प्रखंड अंतर्गत देवनदी के जलस्तर बढ़ने से गांवों का संपर्क कट गया है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement