Advertisement

simdega

  • Aug 22 2019 8:58PM
Advertisement

सिमडेगा : पीएलएफआई के तीन नक्‍सली गिरफ्तार, हथियार भी बरामद

सिमडेगा : पीएलएफआई के तीन नक्‍सली गिरफ्तार, हथियार भी बरामद

रविकांत साहू, सिमडेगा

पुलिस ने तीन पीएलएफआई उग्रवादी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है. गिरफ्तार उग्रवादियों के पास से दो पिस्टल, दो बाइक एवं पांच जिंदा कारतूस बरामद किया गया. मालूम हो कि बाल सुधार गृह से 16 जून को अनुप टोपनो नामक बाल बंदी दीवार फांदकर फरार होने में सफल हो गया था. सुधार गृह से फरार होने के बाद अनूप टोपनो शहरी क्षेत्र के सलडेगा होते हुए फरार होने में कामयाब हो गया था. 

 

फरार होने के बाद अनूप पीएलएफाई दस्ता में शामिल हो गया. उसके फरार होने के बाद से ही पुलिस सक्रियता के साथ उसकी तलाश करती रही. इधर गुप्त सूचना के आधार पर कोलेबिरा पुलिस ने बारिया में भागते हुए रात के अंधेरे में सोकारोला जंगल में जाल बिछाकर पीएलएफआई उग्रवादी अनूप टोपनो, रंजीत कंडुलना व आमुस कंडुलना को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की.

 

अनूप टोपनो भाजपा नेता मनोज नगेसिया हत्याकांड में पकड़ा गया था. अनूप टोपनो को बाल सुधार गृह में रखा गया था. किंतु 16 जून को वह बाल सुधार गृह से फरार होकर पीएलएफआई ग्रुप ज्वाइन कर लिया था. 

 

शहरी क्षेत्र के बड़ी हस्ती को निशाना बनाने की थी योजना 

बाल सुधार गृह से फरार होने के बाद अनूप टोपनो सीधे पीएलएफआई दस्ते में शामिल हो गया. अनूप संगठन में कोई बड़ा पद चाहता था. संगठन की ओर से उसे कहा गया कि वह कोई बड़ी घटना को अंजाम दे. इसके बाद उसे सिमडेगा क्षेत्र का एरिया कमांडर बना दिया जायेगा. पद पाने की लालसा में अनूप टोपनो अपने दो अन्य साथियों के साथ शहरी क्षेत्र के किसी बड़ी हस्ती को निशाना बनाने की जुगत में लग गया. किंतु इसकी भनक एसपी संजीव कुमार को लग गयी. इसके बाद जाल बिछाकर तीनों उग्रवादी को पकड़ा गया. 

 

एसपी संजीव कुमार ने बताया कि पकड़े गये तीनों उग्रवादी के नाम अनूप टोपनो रंजीत कंडुलना एवं अमुस कंडुलना है. एसपी ने कहा कि अनूप टोपनो की उम्र की जानकारी के लिए मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया. मेडिकल बोर्ड ने अनूप टोपनो को बालिग घोषित किया है. एसपी ने बताया कि अनूप टोपनो शातीर अपराधी है. 

 

तीनों उग्रवादी शहरी क्षेत्र के किसी एक बड़ी हस्ती को अपना निशाना बना कर दहशत फैलाना चाह रहे थे. किंतु समय रहते उग्रवादियों को कोलेबिरा थाना क्षेत्र के सोकोरला बाजार स्थित जंगल से गिरफ्तार कर लिया गया. तीनों उग्रवादी की गिरफ्तारी में कोलेबिरा थाना प्रभारी रवि शंकर, पुलिसकर्मी रामपुकार शर्मा, विजेंद्र कुमार के अलावे सशस्त्र बलों ने सराहनीय भूमिका निभायी.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement