Advertisement

simdega

  • Mar 14 2019 7:40PM

जेनेवा में चल रहे 'महाप्रयोग' में शामिल झारखंड के वैज्ञानिक डॉ सिद्धार्थ परिणय सूत्र में बंधे

जेनेवा में चल रहे 'महाप्रयोग' में शामिल झारखंड के वैज्ञानिक डॉ सिद्धार्थ परिणय सूत्र में बंधे

रविकांत साहू, सिमडेगा

जेनेवा में ब्रह्मांड की उत्‍पत्ति की खोज के लिए किये जा रहे महाप्रयोग में शामिल सिमडेगा के वैज्ञानिक डॉ सिद्धार्थ शादी के बंधन में बंध गये. महाप्रयोग में शामिल होने वाले डॉ सिद्धार्थ झारखंड से अकेले हैं. पिछले 14 वर्षों से वह वहां कार्य कर रहे हैं. डॉ सिद्धार्थ वर्तमान में बोस  इंस्‍टीट्यूट कोलकोता में प्रोफेसर के रूप कार्यरत रहते हुए अभी सर्न में आयोजित इस महाप्रयोग में अनुशंधान कर रहे हैं.

 

शादी समारोह में इस महाप्रयोग में शामिल कई वैज्ञानिक तथा देश के विभिन्न जगहों के प्रोफेसर एवं शिक्षाविद शामिल हुए. मौके पर विधायक सिमडेगा बिमला प्रधान, पूर्व विधायक एन के बेसरा, वीसीसी के इंजीनियर आई के सैनी, प्रो. एस चन्द्रगुप्त, प्रो एस प्रसाद, आर विश्‍वास, श्रीकांत त्रिपाठी, पी दास, ए सेन, डी बनर्जी, डॉ देवनिस, डायरेक्टर विशाल कुमार सिंह, एसडीओ एसके प्रसाद, एसडीओ एस एन प्रसाद, बीडीओ सुरेंद्र, बीडीओ मनोरंजन, डीएसपी राहुल, डॉ आलोक, डॉ सुनील, डॉ अजय, हॉकी इंडिया के उपाध्यक्ष भोलानाथ सिंह, भारतीय महिला हॉकी टीम की पूर्व कप्तान असुंता लकड़ा इत्यादि उपस्थित थे.

 

शादी कार्यक्रम में शामिल होने के बाद सभी वैज्ञानिक 16 मार्च को सिमडेगा में बेसिक साइंस पर आयोजित सेमीनार में भाग लेंगे. डॉ सिद्घार्थ सिमडेगा जिला के छोटे से गांव कोनबेगी के किसान सह पूर्व मुखिया कृष्ण प्रसाद के पुत्र एवं हॉकी झारखंड के उपाध्यक्ष मनोज कोनबेगी के अनुज हैं. डॉ सिद्धार्थ अपने परिवारजनों की पसंद से रांची टाटीसिलवे की कुमारी गीता के साथ परिणय सूत्र में बंधे.

Advertisement

Comments

Advertisement