Advertisement

simdega

  • Feb 5 2019 9:31PM

सिमडेगा : अपराधियों ने एक व्यवसायी की चाकू से गोद और पत्थर से कूचकर कर दी हत्या

सिमडेगा : अपराधियों ने एक व्यवसायी की चाकू से गोद और पत्थर से कूचकर कर दी हत्या

रविकांत साहू, सिमडेगा 

कुरडेग थाना क्षेत्र के सर्पमुंडा में केरसई निवासी व्यवसायी नंद किशोर साव उम्र करीब 65 वर्ष पत्थर से कूचकर निर्मम हत्या कर दी गयी. घटना आज सुबह 10.30 बजे की है. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची, किंतु घटना से गुस्साये परिजन ने शव को उठाने नहीं दिया. परिजन ने कहा कि जबतक हत्यारे की गिरफ्तारी नहीं हो जाती वे शव नहीं ले जाने देंगे. 

 

घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार कुरडेग सर्पमुंडा निवासी ग्राम अध्यक्ष प्रफुल्ल मिंज ने फोन कर नंदकिशोर साव को मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना की बाबत बुलाया था. नंदकिशोर साव अपनी जमीन का कागजात प्रफुल्‍ल मिंज के पास जमा कर घर से निकल रहा था. घर से निकलते ही अज्ञात अपरधियों ने चाकू से पेट में कई वार कर हत्या कर दी. हत्यारे ने पत्थर से भी कुचल दिया. घटना के बाद अपराधी फरार हो गया. 

 

चल रहा था जमीन विवाद 

नंदकिशोर साव की जमीन कुरडेग प्रखंड के सर्पमुंडा में भी है. जो उनकी काफी पुरानी जमीन है. जमीन को लेकर सर्पमुंडा निवासी व्यक्ति शरद बैगा के साथ न्यायलय में केश चल रहा था. न्यायालय ने नंदकिशोर साव के पक्ष में अपना फैसला भी दिया था. पूर्व में शरद बैगा ने नंदकिशोर साव को तीर मारकर जान से मारने की कोशिश की थी. उक्त घटना में शरद बैगा कुछ साल जेल में भी था. जेल से सजा काटने के बाद वह छूट कर बाहर आ गया. 

 

साजिश के तहत की गयी हत्या 

घटना के बाद घटनास्थल पर पहुंचे परिजनों ने हत्यारे को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की मांग करने लगे. वहीं परिजनों का कहना है कि यह हत्या एक सोची समझी साजिश के तहत किया गया है. परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. मौके पर केरसई प्रखंड से भारी संख्या में लोग पहुंचे और कई घरों में आग लगा दी. घटनास्थल पर पुलिस बल तैनात किया गया है. 

 

उत्तेजित लोगों ने कई घरों में लगाया आग 

हत्या की घटना की सूचना मिलते ही केरसई से काफी संख्या में ग्रामीण घटना स्थल पर पहुंच गये. लोगों को जमा होता देख घटना स्थल के असपास के लोग घरों को छोड़ कर भाग गये. उतेजित ग्रामीणों ने ग्राम अध्यक्ष सहित आसपास के घरों में आग लगा दिया. घर के अंदर घुसकर सिलेंडर में आग लगा दी. देखते ही देखते पांच घर जल कर राख हो गये. 

 

घटना की सूचना पर पहुंचे एसपी 

घटना की सूचना मिलते ही एसपी संजीव कुमार 2.30 बजे घटना स्थल पहुंचे. तब तक पांच घर पूरी तरह जल चुके थे. यहां पर मुख्य रूप से मिखाइल मिंज, सेलेस्टीन एक्का, लिबनुस मिंज, प्रफुल्ल मिंज, नोरबेरता मिंज (विधवा) की लाखों की संपत्ति जलकर राख हो गयी. उपद्रवियों ने घटना की फोटो खीचने पर पत्रकार का मोबाइल छीनने की कोशिश की साथ ही मारपीट भी किया. सिमडेगा से दमकल की गाड़ी 3.20 बजे पहुंची. तब तक लाखों की संपत्ति जलकर राख हो गयी. अंचल अधिकारी मृत्युंजय कुमार, थाना प्रभारी मौके पर डटे रहे. जिप सदस्य मनोज साय तथा सांसद प्रतिनिधि सुशील श्रीवास्तव भी घटनास्थल पहुंचे. पुलिस मौके पर कैंप कर रही है.  

 

गिरफ्तारी के लिए की जा रही है छापेमारी 

घटना के बाद पुलिस मामले की छानबीन में जुट गयी है. अपराधियों की गिरफ्तार के लिए पुलिस द्वारा संभावित स्थलों पर छापेमारी की जा रही है. इधर घटना के बाद शव को पुलिस ने अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. इधर एसडीओ जगबंधु महथा ने आगजनी से प्रभावित लोगों को आवास दिलाने का आश्वासन दिया. वहीं, एसपी संजीव कुमार ने कहा कि घटना में शामिल अपराधियों को बख्शा नहीं जायेगा. जल्द ही अपराधियों की गिरफ्तार की जायेगी. लोग कानून को अपने हाथों में नहीं लें. 

 

जवानों ने आग बुझाने का प्रयास किया, गांव जलने से बचा 

हत्या के विरोध में हुई आगजनी की घटना में जल रहे घरों को बचाने के लिये पुलिस ने प्रयास किया. पुलिस द्वारा पानी तथा बालू से आग को बुझाने का प्राया किया किंतु आग पुरी तरह फैल चुकी थी. हत्या के विरोध में उपद्रवियों ने आगजनी की घटना की. इस क्रम में उपद्रवियों ने घर में रखे सिलेंडर को खोलकर आग लगा दिया. किंतु गैस सिलेंडर नहीं फटा. अगर सिलेंडर फट जाता तो पूरा सर्पमुंडा गांव जल कर राख हो जाता. आगजनी की घटना के बाद सर्पमुंडा गांव में लगभग 20 से 25 घरों के लोग घर छोड़कर भाग गये है. गांव में सन्नाटा पसरा है. पुलिस ने शांति के लिए फ्लैग मार्च भी किया. पूरे गांव में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है. 

Advertisement

Comments

Advertisement