siliguri

  • Dec 14 2019 6:10AM
Advertisement

दार्जिलिंग मेल से दो कोच हटाने पर जलपाईगुड़ी में हुआ बवाल

 टाउन स्टेशन पर तृणमूल समर्थकों ने ट्रेनें रोकीं किया प्रदर्शन

सांसद ने रेलमंत्री से मिलकर चर्चा का दिया आश्वासन

जलपाईगुड़ी : दार्जिलिंग मेल 2 कोच हल्दीबाड़ी व जलपाईगुड़ी से हटाने के फैसले के खिलाफ शुक्रवार तृणमूलियों ने आन्दोलन का रुख किया. इधर भाजपा सांसद जयंत राय रेल भवन पहुंचकर डैमेज कंट्रोल करने की कोशिश करते पाये गये. हालांकि इसे पुन: चालु करने के बारे में रेल भवन से कोई आश्वासन उन्हें नहीं मिला है. लेकिन सांसद ने अपने लोकसभा क्षेत्र के लोगों की हित के लिए रेल भवन पर अपना पुरजोर दावा रखा.

स्वंतत्रता के पहले से जलपाईगुड़ी, हल्दीबाड़ी से बांग्लादेश के चिलाहाटी होते हुए कोलकाता के साथ दार्जिलिंग मेल चलती थी. इस ट्रेन में लगे मात्र एक स्लीपर कोच व एक एसी कोच को अगले वर्ष 10 अप्रैल से हटा दिया जायेगा. 11 अप्रैल से एनजेपी-शियालदह के बीच ही चलेगी दार्जिलिंग मेल. 12 दिसंबर को रेलवे की ओर से ऐसा निर्देश जारी होने के बाद से राजनैतिक व गैरराजनैतिक सभी पक्ष आन्दोलन पर उतर गये हैं.

 मामले को लेकर शुक्रवार को जलपाईगुड़ी टाउन स्टेशन जिला युवा कांग्रेस की ओर से स्टेशन सुपरिंटेंडेंट के चेंबर में ताला लगा दिया. वहीं तृणमूलीयों ने हल्दीबाड़ी से शियादहगामी तीस्ता तोर्शा एक्सप्रेस ट्रेन को जलपाईगुड़ी टाउन स्टेशन पर लगभग 15 मीनट तक रोक दिया. तृणमूल के आईएनटीटीयूसी के जिलाध्यक्ष मीठू मोहंत सदस्यों के साथ जलपाईगुड़ी टाउन स्टेशन में प्रदर्शन के बाद सुपरिंटेंडेंट को इस मांग पर ज्ञापन प्रदान किया.

 तृणमूल के जलपाईगुड़ी जिलाध्यक्ष कृष्ण कुमार कल्याणी ने बताया कि दार्जिलिंग मेल को हल्दीबाड़ी व जलपाईगुड़ी से हटाने नहीं दिया जायेगा. शुक्रवार को विभिन्न युवा व श्रमिक संगठनों ने आन्दोलन किया है. एक सप्ताह के भीतर फैसला वापस नहीं लेने पर तृणमूल जोरदार आन्दोलन करेगी.

हल्दीबाड़ी ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष सितांशु मल्लिक ने भी कांग्रेस की ओर से रेलवे के इस फैसले के खिलाफ आन्दोलन की चेतावनी दी है. वहीं नॉर्थ बंगाल नैशनल चेंबर ऑफ कॉमर्स के महा सचिव पुरजीत बक्सीगुप्त ने कहा कि सूचना मिलते हीं सांसद को फोन करके दार्जिलिंग मेल को दोबारा चालु करने की मांग की गयी है. वहीं भाजपा सांसद ने कहा कि उन्होंने खबर मिलते ही रेल भवन जाकर अधिकारियों से मिले हैं. सोमवार को इस मुद्दे पर चर्चा के लिए रेल मंत्री से मुलाकात का समय मांगा गया है.

 रेलवे की ओर से कहा गया है कि दार्जिलिंग मेल के तमाम कोच को उन्नत किया जा रहा है. इलेक्ट्रिक लाइन के लिए काम चल रहा है. इसलिए हल्दीबाड़ी-जलपाईगुड़ी से एनजेपी तक पैसेंजर ट्रेन के साथ आने के बाद दोनों कोच को अलग कर मुख्य इंजन के साथ जोड़ने में समय लगेगा. 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement