siliguri

  • Dec 11 2019 2:20AM
Advertisement

जिले में तीन इतिहास पुरुषों की लगेगी फाइबर मूर्ति

 जिला व्यवसायी समिति की पहल पर होगा निर्माण

जलपाईगुड़ी : उत्तर बंगाल और खासतौर पर जलपाईगुड़ी जिले के तीन इतिहास पुरुषों की मूर्ति शहर के प्रमुख बिंदुओं पर लगायी जायेगी. ये महान व्यक्तित्व हैं, बैकुंठपुर राजपरिवार के सदस्य और विख्यात संगीतकार सरोजेंद्रदेव रायकत, भारत के संविधान सभा के सदस्य उपेंद्रनाथ बर्मन और कोचबिहार रियासत के सेनापति वीर चिला राय.
 
जलपाईगुड़ी जिला समिति अपने खर्च से इनकी मूर्तियों को स्थापित करेगी. इसमें उत्तरबंगाल लोक संस्कृति और एसजेडीए सहयोग करेंगे. मंगलवार को एसजेडीए की जलपाईगुड़ी ऑफिस में एसजेडीए चेयरमैन विजयचंद्र बर्मन की अध्यक्षता में इस पर सहमति हुई.
 
जलपाईगुड़ी व्यवसायी समिति के पक्ष से साधन बसु और नंदलाल बजाज ने बताया कि उत्तर बंगाल के इस प्रमंडलीय शहर में कई राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय ख्याति के शख्सियत हो चुके हैं. हालांकि आज तक हम लोग उनकी स्मृतियों को कायम रखने के लिये कुछ नहीं कर सके हैं. इसके लिये उनकी मूर्तियों की स्थापना का फैसला लिया गया है. इसके लिये समिति राशि खर्च करेगी. आगामी पीढ़ी को इन महापुरुषों से परिचित कराना हमारा मूल मकसद है.
 
इसमें एसजेडीए और उत्तरबंग लोकसंस्कृति समिति सहयोग करेगी.  उत्तरबंग लोकसंस्कृति समिति के सचिव उमेश शर्मा ने बताया कि उपेंद्र नाथ बर्मन जलपाईगुड़ी शहर के निवासी थे. उनका नाम संविधान निर्माताओं में शामिल है. वीर चिला राय वीर योद्धा थे जिन्हें इतिहास में प्राच्य का नेपोलियन कहा जाता है. वहीं, सरोजेंद्रदेव रायकत बैकुंठपुर राजपरिवार के सदस्य और विख्यात संगीतकार थे.
   
एसजेडीए चेयरमैन विजयचंद्र बर्मन ने बताया कि व्यवसायी समिति मूर्तियों का खर्च वहन करेगी. एसजेडीए मूर्तियों के लिये चारदीवारी बनवायेंगे. फाइबर की मूर्ति का निर्माण किया जायेगा. उपेंद्रनाथ बर्मन की रिश्तेदार पूर्णप्रभा बर्मन ने व्यवसायी समिति की इस पहल का स्वागत किया है.
 
उल्लेखनीय है कि सरोजेंद्रदेव रायकत की मूर्ति सरोजेंद्रदेव रायकत कला केंद्र में स्थापित की जायेगी. बाकी दोनों मूर्तियों के बारे में बाद में निर्णय  लिया जायेगा. आज मूर्ति स्थापना कमेटी का गठन किया गया. बैठक में जिला सूचना व संस्कृति विभाग के प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement