Advertisement

siliguri

  • Jul 21 2019 12:52AM
Advertisement

यूनेस्को व रेलवे डीएचआर पर साथ करेंगे काम : डीआरएम

कटिहार डिवीजन के डीआरएम ने सुकना रेलवे स्टेशन व तीनधारिया स्थित टॉय ट्रेन वर्कशॉप का किया निरीक्षण

डीआरएम ने कहा - "यूनेस्को द्वारा कॉम्प्रिहेंसिव कंजर्वेशन मैनेजमेंट प्लान सौंपते ही चालू होगा काम"

 
सिलीगुड़ी : दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे के रखरखाव को लेकर उठ रहे सवालों को देखते हुए एनएफ रेलवे कटिहार डिवीजन के डीआरएम वीरेन्द्र कुमार वर्मा ने शुक्रवार को सुकना और तिनधारिया वर्कशॉप का निरीक्षण किया. निरीक्षण के बाद उन्होंने बताया कि सितंबर महीने में यूनेस्को द्वारा कॉम्प्रिहेंसिव कंजर्वेशन मैनेजमेंट प्लान (सीसीएमपी) डीएचआर को सौंपा जायेगा. 
 
जिसके बाद रेलवे तथा यूनेस्को डीएचआर के विकास को लेकर संयुक्त रूप से काम करेगी. उन्होंने कहा कि यूनेस्को का एक प्रतिनिधिमंडल शीघ्र ही डीएचआर का निरीक्षण करने आयेगा. डीआरएम ने डीएचआर के खराब रखरखाव को लेकर उठ रहे सवाल को सिरे से खारिज कर दिया. 
     
एनएफ रेलवे कटिहार डिवीजन के डीआरएम का पदभार संभालने के बाद शुक्रवार को वीरेन्द्र कुमार वर्मा पहली बार सिलीगुड़ी के दौरे पर पहुंचे. इस दौरान उन्होंने रेलवे के कामकाज का जायजा लेने के साथ डीएचआर के हर पहलुओं की बारीकी से जांच की. इस दौरान उन्होंने सुकना रेलवे स्टेशन का मुआयना किया. उसके बाद वे सड़क मार्ग से तीनधारिया स्थित टॉय ट्रेन के वर्कशॉप का निरीक्षण करने के लिए निकल गये. 
     
संवाददाताओं से बात करते हुए उन्हों‍ने बताया कि वर्कशॉप की स्थिति काफी बेहाल है. वहां कई जगहों से पानी गिर रहा है. उनका कहना है कि काफी समय से इसपर ध्यान नहीं दिया गया है. इसके अलावे कई ऐसी चीजे है जो उस वर्कशॉप में संरक्षित है. जिसकी फिलहाल कोई आवश्यकता नहीं है.
 
उन्होंने कहा कि उन सभी चीजों को वहां से हटाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि पूरे काम को पूरा करने के लिए 15 दिनों का समय दिया गया है. शनिवार से काम शुरू हो जायेगा. उनका कहना है कि पहाड़ पर लगातार बारिश जारी है. भूस्खलन और ट्रैक धंसने के कारण मरम्मत का काम करके फिर से टॉय ट्रेन परिसेवा शुरू की जायेगी. पिछले दिनों यूनेस्को ने एक रिपोर्ट जारी करते हुए टॉय ट्रेन के रखरखाव को लेकर डीएचआर पर सवाल उठाये गये थे.
 
इस संबंध में पूछे जाने पर श्री वर्मा ने बताया कि ऐसी कोई बात नहीं है. यूनेस्को का भी एक प्रतिनिधि दल रखरखाव को देखने के लिए बहुत जल्द यहां आ रहा है. यूनेस्को डीएचआर को बहुत जल्द सीसीएमपी सौंपेगा. जिसके बाद वे दोनों मिलकर बार बार भूस्खलन के कारण होने वाली समस्या को सुलझाने पर विचार करेंगे. टॉय ट्रेन सेवा को वापस से शुरू करने वाले मुद्दे पर श्री वर्मा ने बताया कि यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए फिलहाल टॉय ट्रेन का परिचालन बंद रखा गया है. उन्होंने कहा कि पहले वे पूरे रेल ट्रैक की जांच करेंगे. फिर टॉय ट्रेन चलाने पर विचार किया जायेगा.   
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement