Advertisement

siliguri

  • Jun 25 2019 2:35AM
Advertisement

अवैध बालू ढुलाई में लगे लॉरी व डंपर को ग्रामीणों ने रोका

चालक ने किया खुलासा पुलिस रिश्वत लेकर दे रही छूट

स्पॉट फाइन पर पुलिस व बीएलआरओ में दिखा मतभेद 
 
धूपगुड़ी : जलपाईगुड़ी जिले के धूपगुड़ी शहर संलग्न बारोघरिया गांव से होकर बालू की अवैध ढुलाई के खिलाफ ग्रामीणों ने सोमवार को विरोध जताया. उन्होंने बालू से लदे एक लॉरी और एक डम्पर को रोककर भूमि राजस्व विभाग को सूचित किया. घटनास्थल पर पहुंचकर भूमि एवं भूमि राजस्व विभाग के अधिकारी मनोज कुमार सरकार ने वाहनों के कागजातों की जांच की तो चालकों ने उन्हें  सिलीगुड़ी के एक गैरसरकारी प्रतिष्ठान का चालान दिखाया.
 
अधिकारी ने कहा कि पूरी तरह अवैध तरीके से यह बालू खनन और ढुलाई हो रही है. सरकारी राजस्व को चूना लगाते हुए जाली कागजात के सहारे यह अवैध कारोबार किया जा रहा है. वहीं, स्थानीय लोगों का कहना है कि बालू ढो रहे बड़े वाहनों से गांव की सड़क क्षतिग्रस्त हो रही है. इसके अलावा धूल उड़ने से गांव में रहना मुश्किल हो गया है.
 
 ग्रामीणों का आरोप है कि वाहनों को रोकने पर स्थानीय पंचायत सदस्य ने वाहनों को नहीं छोड़ने पर उन्हें देख लेने की धमकी दी है. स्थानीय निवासी तोफाज्जल होसेन ने बताया कि प्रतिदिन 40-50 डम्पर ओवरलोडिंग कर आवाजाही करते हैं. इससे एक तरफ दुर्घटना की आशंका रहती है, वहीं सड़क भी खराब हो रही है. वाहनों को रोके जाने पर स्थानीय पंचायत सदस्य ने वाहनों को नहीं छोड़ते हैं तो उन्हें देख लेने की धमकी दी है.
 
 उल्लेखनीय है कि दोनों वाहन चामुर्ची से बालू लादकर धूपगुड़ी के बारोघरिया इलाके में किसी जगह ले जा रहे थे. लेकिन उसके पहले ही ग्रामीणों ने वाहनों को रोक दिया. भूमि राजस्व विभाग के अधिकारी ने बालू के वैध कागजात नहीं मिलने पर जुर्माना लगाना चाहा, लेकिन चालकों ने जुर्माना देने से इन्कार कर दिया. उसके बाद सूचना देने पर पहुंची धूपगुड़ी थाना पुलिस दोनों वाहनों को थाने ले गयी. उन्होंने भूमि राजस्व विभाग के अधिकारी से कहा कि वह खुद ही इस मामले को देखेंगे. जबकि यह अख्तियार भूमिक राजस्व विभाग का है. अधिकारी का कहना है कि पुलिस ने उनकी बातों को अनसुना कर दिया.
 
 उधर, एक चालक रामू थापा ने प्रेस को बताया कि पुलिस को वे लोग रिश्वत देकर बेरोक-टोक वाहन चलाते हैं. पुलिस उन्हें थोड़ा भी परेशान नहीं करती है. किसी तरह की चेकिंग भी नहीं होती है. भूमि राजस्व विभाग के आरआई मनोज कुमार सरकार ने कहा कि दोनों वाहनों को ओवरलोडिंग अवस्था में पकड़ा गया. इनमें से तीन वाहन भाग गये थे. वाहन चालकों के पास रॉयल्टी के कोई कागजात नहीं थे. फर्जी कागज से काम कर रहे थे. जब उन्होंने उन पर जुर्माना लगाना चाहा तो पुलिस उन्हें अपने साथ लेती गयी.
 
 जलपाईगुड़ी के जिलाधिकारी अभिषेक तिवारी ने बताया कि उनके पास इस तरह की कोई रिपोर्ट नहीं आयी है. हालांकि मीडिया में ऐसी रिपोर्ट आ रही हैं. वे खुद ही खोजबीन कर देखेंगे. अवैध खनन के खिलाफ कदम उठाये जायेंगे. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement