Advertisement

siliguri

  • Apr 16 2019 2:20AM

तृणमूल सरकार की आयु अब केवल छह माह : विजयवर्गीय

 राज्य सरकार पर भाजपा महासचिव ने जमकर साधा निशाना

बुलेट का जवाब बैलेट से देने की अपील 
 
दार्जिलिंग : दार्जिलिंग लोकसभा क्षेत्र से गोजमुमो (विमल गुट) व गोरामुमो समर्थित भाजपा उम्मीदवार के समर्थन में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने सोमवार को एक जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान श्री विजयवर्गीय ने ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा और कहा की राज्य में तृणमूल सरकार की आयु अब केवल छह माह है.
 
भाजपा उम्मीदवार के समर्थन में गोरामुमो,गोजमुमो (विमल गुट), क्रामाकपा, गोरखालीग, गोर्खालैंड निर्माण मोर्चा, गोर्खालैंड संयुक्त संघर्ष समिति, सुमेटी मुक्ति मोर्चा आदि ने विराट रैली भी निकाला. पहाड़ के चौरस्ता से शुरू उक्त रैली शहर के एचडी लामा रोड होते हुये चौक बाजार होकर शहर का परिक्रमा करते हुये आरएन सिन्हा रोड होकर सरकारी हाई स्कूल का खेल मैदान पहुंची.
 
यहां रैली चुनावी जनसभा में परिणत हो गयी. आयोजित चुनावी जनसभा को सम्बोधित करते हुये भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव एंवं बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गोरखा आंदोलन को दबाने के लिए दमन नीति अपनाया था, वह ठीक नहीं है. 
 
 सभा को संबोधित करते हुए श्री विजयवर्गीय ने कहा कि महिला आंदोलनकारियों के साथ ममता बनर्जी सरकार ने काफी अन्याय और अत्यचार किया था. इन सभी घटनाओं को ईश्वर ने देखा है, इसलिये किसी भी कीमत पर क्षमा नहीं करेंगे. अपने संबोधन के दौरान उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के मुख्यमंत्री पद की आयु अब केवल 6 माह है.
 
उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी के प्रति मेरी भी काफी श्रद्धा थी. लेकिन उनके क्रियाकलाप को देखकर श्रद्धाभाव मेरे मन से हट गई है. बंगाल में महिला आंदोलनकारियों के साथ जिस तरह से अमानवीय व्यवहार किया जा रहा है, वो बिल्कुल ठीक नहीं है. बंगाल की मुख्यमंत्री स्वयं एक महिला हैं, लेकिन महिला मुख्यमंत्री के रहते बंगाल में महिला आंदोलनकारियों के साथ इस तरह का बर्ताव क्यों हो रहा है. 
 
 श्री विजयवर्गीय ने कहा कि बंगाल सरकार के अन्याय और अत्यचार को सहन नहीं कर पाने के कारण दार्जिलिंग पर्वतीय क्षेत्र से करीब पांच हजार से अधिक लोगो ने घर छोड़ दिया है. इसी तरह की स्थिति बंगाल के अन्य क्षेत्रों में भी है. उन्होंने कहा कि दार्जिलिंग की भूमि सुवास घीसिंग, विमल गुरूंग और वीर गोर्खाओं की भूमि है.
 
बंगाल की बेहाल अवस्था से मुख्यमंत्री की ममता बनर्जी की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है. आज गोर्खा समुदाय की एकता को देखकर मेरा नाम कैलाश विजयवर्गीय के बदले कैलाश गोर्खा रखने का मन हो रहा है. विजयवर्गीय ने कहा कि बंगाल के 42 सीटों में से 30 सीटों पर भाजपा की जीत निश्चित है.
 
दार्जिलिंग के लोग भी नरेन्द्र मोदी को दुबारा प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं. इसका प्रमाण आज की भीड़ ने दी है. उन्होंने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार बंगाल में विकास का रथ दौड़ाना चाहती है, लेकिन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उसका विरोध कर रही हैं. अब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मुख्यमंत्री के कुर्सी का आयु केवल 6 माह है. इसके बाद केन्द्र के विकास का रथ बंगाल में भी दौड़ेगा. उन्होंने कहा कि राजू बिष्ट प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खास आदमी हैं. इसलिये राजू विष्ट को संसद भेजिये. 
 
 आयोजित चुनावी जनसभा को सम्बोधित करते हुये अंजुली शर्मा ने कहा कि पिछले 2017 में हुये घटना का स्मरण करते हुये बुलेट के जवाब बैलेट से देने के आह्वान उपस्थित भीड़ से किया. इसी तरह से पूर्व सभासद नमिता गौतम ने अन्याय के विरूद्व आवाज उठाने पर बंगाल सरकार ने पुलिस लगाकर लोगों को जेल में बन्द करती है. इसका जवाब 18 अप्रैल को इवीएम मशीन के जरिये देने का आह्वान किया. श्रमिक नेता जेवी तामांग ने कहा कि जनता सच्चाई को जान चुकी है.
 
इसलिये अब पैसा बांटने से भी कुछ नहीं होगा. क्रामाकपा प्रवक्ता गोविंद छेत्री ने कहा कि बंगाल की तृणमूल सरकार के घटिया नीति का सही जवाब देने का समय 18 अप्रैल बताया. 0चुनावी जनसभा में भाजपा उम्मीदवार राजू बिष्ट, गोरामुमो अध्यक्ष मन घीसिंग, नीरज जिम्बा, एनवी छेत्री, महेन्द्र छेत्री, क्रामाकपा से गोविन्द छेत्री, गोर्खालैंड संयुक्त संघर्ष समिति से अंजुली शर्मा, बन्दना राई, गोर्खालीग से प्रताप खाती, गोर्खालैड निर्माण मोर्चा से दावा पाख्ररिन, गोजमुमो विमल गुट से डा. लोपसांग लामा, रमेश आले, सुमेटी मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष विकाश राई आदि उपस्थित थे.
 
Advertisement

Comments

Advertisement