Advertisement

siliguri

  • Mar 15 2019 12:56AM

पंचायत प्रधान के मकान में तोड़फोड़, फायरिंग

तृणमूल के मदर गुट पर लगा आरोप

दिनहाटा : लोकसभा चुनाव की घोषणा हो चुकी है, लेकिन तृणमूल नेतृत्व के एकता के तमाम आह्वान के बावजूद मदर गुट और युवा तृणमूल समर्थकों के बीच लड़ाई थमने का नाम नहीं ले रही है. बुधवार की रात दिनहाटा-1 ब्लॉक अंतर्गत ओकराबाड़ी ग्राम पंचायत की प्रधान रेहाना खातून बीबी ने आरोप लगाया कि उनके घर में तृणमूल समर्थकों ने तोड़फोड़ करने के अलावा कई राउंड गोली चलायी. हालांकि तृणमूल के मदर गुट ने हमले के इस आरोप से इंकार किया है.
 
उन्होंने युवा तृणमूल के भीतर आपसी गुटबाजी को इसके लिए जिम्मेदार माना है. इस बारे में तृणमूल के स्थानीय नेता नूर होसेन ने बताया कि तोड़फोड़ की घटना के साथ दल का कोई लेना-देना नहीं है. उधर, घटना की जानकारी मिलते ही बीती रात को ही दिनहाटा के एसडीपीओ मानवेन्द्र दास, दिनहाटा थाना के आइसी संजय दत्त के नेतृत्व में विशाल पुलिस बल ने घटनास्थल पर पहुंच कर स्थिति को नियंत्रित किया. 
 
  युवा तृणमूल संचालित ओकराबाड़ी ग्राम पंचायत प्रधान के पति हासानूर जमान ने बताया कि पिछले पंचायत चुनाव के बाद ही युवा संगठन ने पंचायत बोर्ड का गठन किया था. उसके बाद से ही स्थानीय तृणमूल नेतृत्व प्रधान और उनके परिवारवालों को समय-समय पर अपमानित करते रहे हैं. लोकसभा चुनाव के लिए प्रत्याशी की घोषणा के बाद ही दिनहाटा-1 ब्लॉक के ओकराबाड़ी बाजार इलाका सरगर्म हो गया है.
 
जानकारी अनुसार हासानूर जमान के साथ मदर गुट के पंचायत समिति सदस्य मानू मियां का सरकारी योजनाओं की आर्थिक लेन-देन को लेकर विवाद शुरू हुआ. इसके बाद ही दोनों गुट के समर्थक उत्तेजित हो गये. दोनों ओर से कहा-सुनी के बाद मारपीट की घटना घटी. इसके अलावा वहां कई राउंड गोली भी चली. हालांकि इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ. हासानूर जमान ने बताया कि घटना की रात जब वह घर लौट रहे थे, तो तृणमूल मदर गुट के समर्थकों ने मोटरबाइक से उनका पीछा किया और उनकी हत्या करने की कोशिश की.
 
उसके बाद जब वह खाना-पीना करने के बाद सोने गये तो तृणमूल समर्थकों का एक गुट मोटरबाइक पर सवार होकर उनके घर पहुंचे और तोड़फोड़ करने के अलावा गोलीबारी की. इस संबंध में पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करायी गई है. इसके अलावा युवा संगठन के जिला और राज्य नेतृत्व को इसकी जानकारी दी गई है. 
 
  इस बारे में तृणमूल नेता और स्थानीय विधायक जगदीश चन्द्र बर्मा बसुनिया ने बताया कि हमले की यह घटना का दल के साथ कोई लेना-देना नहीं है. यह पंचायत की योजनाओं को लेकर आपसी भाग-बंटवारे को लेकर विवाद हो सकता है. विधायक और तृणमूल के राज्य सचिव उदयन गुहा ने बताया कि पुलिस प्रशासन पूरे मामले की छानबीन करेगा. उनके विचार से यह व्यक्तिगत रंजिश का मामला है. वहीं दिनहाटा के एसडीपीओ मानवेन्द्र दास ने बताया कि इस सिलसिले में तो शिकायत दर्ज नहीं करायी गई है. हालांकि मामले की छानबीन चल रही है. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement