Advertisement

siliguri

  • Jan 12 2019 5:06AM
Advertisement

चील के झपट्टों में दो शिक्षक जख्मी

चील के झपट्टों में दो शिक्षक जख्मी
कूचबिहार : अपने बच्चे के प्रति माता पिता का लगाव तो जग जाहिर है. इसी तरह पशु-पक्षी भी अपने चूजों के प्रति वही ममता और मोह रखते हैं. इसी तरह की एक विरल घटना में शहर के प्रतिष्ठित जेनकिंस स्कूल के बगल में अवस्थित एक पेड़ पर चील दंपती के अप्रत्याशित हमलों से स्कूली छात्र छात्राओं और शिक्षकों में हड़कंप मचा हुआ है. इस बीच चील के हमलों में स्कूल के दो शिक्षक जयंत सरकार और प्रणव राय तालुकदार जख्मी हुए हैं. जिला अस्पताल में इन दोनों का प्राथमिक उपचार किया गया है. 
 
 जानकारी अनुसार स्कूल संलग्न एक पेड़ पर मादा और नर चील  पक्षी घोंसला बनाकर रह रहे हैं. इनके नन्हें नन्हें चूजे भी हैं जिनके चलते वे आसपास के लोगों को निशाना बना रहे हैं. इस संबंध में स्कूल के पक्ष से शिकायत मिलने पर वन विभाग के अधिकारियों की टीम शुक्रवार को पहुंची और उन्होंने मामले की जांच की. दूरबीन से देखा गया तो पता चला कि पेड़ पर घोंसला बनाकर दो चील  रह रहे हैं. 
 
वहां इनके दो चूजे भी हैं. वनाधिकारियों का कहना है कि चील प्रजाति वाले ये चील चूंकि विरल प्रजाति के हैं, इसलिये उनके घोंसले को हटाया नहीं जायेगा. उन्होंने स्कूल के किसी छात्र छात्राओं या शिक्षकों को पेड़ के निकट जाने से मना किया है. चीलों की सुरक्षा के मद्देनजर एक विकल्प गेट को भी खुलवाया गया है. साथ ही किसी को पेड़ के निकट जाने से मना किया गया है. 
 
अधिकारियों का मानना है कि मादा चील अपने चूजों को नुकसान पहुंचने की आशंका से हमला कर रही है. वहीं, स्कूली बच्चों और शिक्षकों के हिफाजत के लिये वहां सोमवार से एक वनकर्मी को पहरेदारी के लिये तैनात कर दिया गया है.
 
   शिक्षक जयंत सरकार ने कहा कि जिस तरह से उनकी आंखों को निशाना बनाकर चील ने झपट्टा मारा है उससे वह खौफजदा हैं. ये चील स्कूली विद्यार्थियों को भी निशाना बना सकते हैं. उन्होंने वनकर्मी को तैनात किये जाने के कदम का स्वागत किया है. 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement