Advertisement

sheohar

  • Apr 12 2019 1:21AM
Advertisement

कम अंक आने से परेशान छात्र ने फंदे से झूलकर दी जान

चोरौत : मैट्रिक परीक्षा में कम अंक आने से परेशान छात्र व चोरौत पूर्वी, वार्ड नंबर दो निवासी ब्रह्मदेव झा के पुत्र ज्ञानेंद्र कुमार झा ने जिंदगी से हार मान ली और गले में फंदा डालकर आत्महत्या कर ली. उसका शव गुरुवार को पंचायत के वर्मा रामनगर गांव के सरेह में जामुन के पेड़ पर फंदे से लटका मिला.

स्थानीय लोगों ने घटना की सूचना स्थानीय पुलिस को दी, जिसके बाद बिना देर लगाये एएसआइ अजीत कुमार दल-बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर परिजनों से घटना की पूरी जानकारी ली. थानाध्यक्ष अमिता सिंह ने बताया कि परिजन द्वारा यह बताया जा रहा है कि ज्ञानेंद्र शनिवार को मैट्रिक के रिजल्ट आने के बाद से परेशान दिख रहा था. कम अंक आने से वह हतोत्साहित दिख रहा था. वह खामोशी धारण कर लिया था.

अभिभावकों द्वारा समझाने-बुझाने के साथ ही लगातार हौसला बढ़ाया जा रहा था.  स्थानीय मुखिया रामप्रवेश चौधरी, सरपंच हेमंत शुक्ला, पंसंस नरेश पासवान, चोरौत पश्चिमी पंचायत के पूर्व मुखिया प्रतिनिधि प्रमोद हाथी, ग्रामीण नागेश चंद्र झा, शशिकांत झा, वरुण पांडेय, पवन झा, घनश्याम झा व परमानंद झा की मौजूदगी में मृत ज्ञानेंद्र की मां सुधीरा देवी द्वारा परीक्षा में कम अंक आने से परेशान होकर आत्महत्या की लिखित स्वीकारोक्ति देने के बाद पुलिस ने शव को परिजन के हवाले कर दिया. ज्ञानेंद्र पांच भाई-बहनों में सबसे छोटा था. अगले माह उसका यज्ञोपवित संस्कार होना था. 

 
Advertisement

Comments

Advertisement

Other Story

Advertisement