Advertisement

saran

  • Sep 8 2017 5:55AM

जिले के तीन आईटीआई जगह के अभाव में चल रहे हैं एक साथ

 छपरा (सदर) : एक ओर बिहार सरकार का श्रम संसाधन विभाग तकनीकी शिक्षा की बेहतर गुणवत्ता को लेकर राज्य के सभी निजी आईटीआई संस्थानों की जांच करायी जा रही है. सरकार के जांच कराने का उद्देश्य यह है कि ये डिप्लोमा कोर्स वाले निजी संस्थान मानकों के तहत स्थापित हैं या नहीं, जिसमें ज्यादा खर्च के बावजूद छात्रों को बेहतर शिक्षा मिलती है या नहीं.

परंतु, सारण जिले में सरकार द्वारा चलाये जा रहे चार सरकारी आईटीआई में बुनियादी सुविधा तथा शिक्षकों की स्थिति का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि विगत नौ वर्षों से जहां महिला आईटीआई जिला मुख्यालय से सटे सदर प्रखंड के जर्जर एवं बिना रास्ता वाले सुविधा विहीन आपूर्ति विभाग के भवन में चलता है, तो भवन के अभाव में तीन सरकारी आईटीआई एक ही आईटीआई के भवन एवं उसी में तैनात प्रशिक्षकों, मशीनों के माध्यम से तकनीकी शिक्षा पाने को विवश हैं. ऐसी स्थिति में गुणवत्तापूर्ण तकनीकी शिक्षा का सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है. 

छपरा, सोनपुर का आईटीआई कक्षाएं मढ़ौरा में ही, चार आइटीआई का प्राचार्य एक : सारण जिलावासियों के लिए चालू वर्ष में खुशी की बात है कि सरकार के निर्देश के आलोक में मढ़ौरा अनुमंडल में स्थित सरकारी आईटीआई तथा छपरा स्थित महिला आईटीआई के अलावा सोनपुर अनुमंडल मुख्यालय तथा छपरा सदर अनुमंडल मुख्यालय में चालू सत्र 2017-19 के लिए राज्य स्तरीय चयन प्रतियोगिता के बाद छात्रों का नामांकन छह अलग-अलग ट्रेडों के लिए गत अगस्त माह में पूरा हुआ. वहीं इन सभी ट्रेडों इलेक्ट्रिशियन, फीटर, डीजल, मैकेनिक, आईसीटीएसएम, वेल्डर तथा इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिक ब्रांच की पढ़ाई शुरू हुई है. आईटीआई के अधिकृत सूत्रों के अनुसार सरकार ने प्रारंभ में ही एक आईटीआई को छपरा शहर तथा दूसरे को सोनपुर अनुमंडल में सर्वप्रथम किराये के भवन में संचालित करने का निर्देश दिया था. साथ ही जिला प्रशासन को भी भवन निर्माण के लिए जमीन चयन का निर्देश दिया था. परंतु, छपरा सदर, अनुमंडल मुख्यालय के आस-पास तथा सोनपुर अनुमंडल मुख्यालय में सरकारी आईटीआई संचालन के लिए किराये का भवन नहीं मिलने की वजह से तत्काल इन सभी ट्रेडों में नामांकित 21-21 विद्यार्थी मढ़ौरा स्थित पूर्व के सरकारी आईटीआई में भी इन दोनों नये सरकारी आईटीआई का संचालन 15 अगस्त शुरू होने की बात प्राचार्य स्वीकारते हैं, वे यह भी बताते है कि इन दोनों आईटीआई के अतिरिक्त प्रशिक्षक की बहाली करने जा रही है. तत्काल इन तीन सरकारी आईटीआई तथा छपरा शहर स्थित महिला आईटीआई के प्राचार्य का प्रभार मढ़ौरा आइटीआई के प्राचार्य विजय कुमार सिंह को दिया गया है. 
छपरा सदर तथा सोनपुर में आईटीआई भवन के लिए जमीन चिह्नित : सरकार के निर्देश के आलोक में सारण जिला प्रशासन ने छपरा सदर में खुलने वाले नये आईटीआई की ढाई एकड़ जमीन सदर प्रखंड के बिनटोलिया में चिह्नित किया है. वहीं सोनपुर अनुमंडल में नये आईटीआई भवन के लिए नयागांव में जमीन चिह्नित किया गया है. महिला आईटीआई के निर्माण के लिए विगत कई माह पूर्व में प्राप्त करोड़ों रुपये की राशि भवन निर्माण विभाग की खाते की शोभा बढ़ा रही है. परंतु, भवन निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता महिला आईटीआई के निर्माण के लिए उदासीन है, जिससे महिला आईटीआई में पढ़ने वाली छात्राओं को भी भय एवं सुरक्षा के बीच अपने भविष्य को संवारने की मजबूरी है. 
क्या कहते हैं प्राचार्य
छपरा सदर तथा सोनपुर अनुमंडल में भाड़े का मकान किराये पर नहीं मिलने की वजह से ही मढ़ौरा तथा सोनपुर के नये सरकारी आईटीआई में नामांकित छह ट्रेडों के छात्रों की कक्षाओं का संचालन मढ़ौरा स्थित सरकारी आईटीआई में संचालित करने की मजबूरी है. वहीं मढ़ौरा आईटीआई के प्रशिक्षकों एवं बुनियादी सुविधाओं से ही इन दो नये सरकारी आईटीआई के छात्रों की कक्षाओं का संचालन किया जा रहा है. शीघ्र ही सरकार से नये प्रशिक्षकों एवं अन्य कर्मियों की बहाली के बाद इन दोनों नये सरकारी आइटीआई का संचालन मढ़ौरा एवं सोनपुर में शुरू किया जा सकता है. 
विजय कुमार सिंह, प्राचार्य, आईटीआई मढ़ौरा, सारण
 
Advertisement

Comments

Other Story

Advertisement