Advertisement

saraikela kharsawan

  • Dec 3 2019 12:17AM
Advertisement

मजदूर बन कर रह गये यहां के लोग, झारखंड में बाहरी लोगों का कब्जा - शिबू सोरेन

मजदूर बन कर रह गये यहां के लोग,  झारखंड में बाहरी लोगों का कब्जा - शिबू सोरेन

खरसावां : झामुमो के अध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन ने कुचाई के बिरसा स्टेडियम में सोमवार को खरसावां विस क्षेत्र से पार्टी प्रत्याशी दशरथ गागराई के पक्ष में चुनावी सभा की. सभा को संबोधित करते हुए शिबू ने कहा कि लंबे संघर्ष के बाद अलग राज्य बना. राज्य में अधिकांश समय भाजपा ने शासन किया, लेकिन आज भी राज्य का समुचित विकास नहीं हो सका है. राज्य का विकास झामुमो ही कर सकता है. 

झारखंड खनिज संपदा से परिपूर्ण है, लेकिन सरकार में बैठे लोग तरह-तरह के कानून बना कर इसे बाहर भेजने का काम कर रहे हैं. झारखंड के लोग सिर्फ मजदूर बन कर रह गये हैं. कहा कि भाजपा की सरकार राज्य का विकास नहीं कर सकती है. झामुमो प्रत्याशी को जिताने की अपील करते हुए कहा कि झामुमो के नेतृत्व में राज्य का विकास होगा. उन्होंने लोगों से अपने बच्चों को पढ़ा कर अच्छा इंसान बनाने की अपील की. 
 
वहीं झामुमो प्रत्याशी सह विधायक दशरथ गगराई ने कानून व्यवस्था, मॉब लिंचिंग, भूमि अधिग्रहण, सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन के मुद्दे पर भाजपा सरकार की आलोचना करते हुए विस चुनाव में उखाड़ फेंकने की अपील की. जनसभा में कुचाई की सैकड़ों महिलाआें ने झामुमो की सदस्यता ग्रहण की.
 
डुमरिया में शिबू सोरेन को देखने के लिए उमड़ी ग्रामीणों की भीड़
डुमरिया. शिबू सोरेन की दूसरी सभा पोटका विधानसभा क्षेत्र के डुमरिया में हुई. यहां उन्होंने महागठबंधन के प्रत्याशी संजीव सरदार के पक्ष में वोट की अपील की. शिबू सोरेन के आने की सूचना पर दूर-दराज के ग्रामीण उन्हें सुनने और देखने पहुंचे थे. सभा समाप्ति के बाद मंच पर आकर कई महिला और पुरुषों ने शिबू सोरेन का पांव छूआ और आशीर्वाद लिये. वहीं शिबू सोरेन ने जनसभा में कहा कि झारखंड में खनिज संपदा भरा पड़ा है. पर बाहर के लोग इसका उपभोग कर रहे है और लूट रहे है. यहां के लोग मजदूर बन कर रह गये. क्योंकि हम सत्ता से दूर हैं. 
 
मालिक कोई और बन बैठा है. श्री सोरेन ने कहा कि बाहरी लोगों का राज्य में कब्जा हो गया  है. अगर आप झारखंड का विकास चाहते हैं, तो सत्ता बदलना परिवर्तन जरूरी है. उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार के कार्यकाल में कोई सुरक्षित नहीं है. सभा को पूर्व विधायक सनातन माझी, फागू बेसरा, रोड़ेया सोरेन, दिवाकर दास, बबन राय, शंकर चंद्र हेम्ब्रम, मिरजा सोरेन, मनोज मुर्मू, जयपाल मुर्मू आदि ने संबोधित किया.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement