saharsa

  • Dec 13 2019 8:01AM
Advertisement

कॉलेज में आयोजित शिविर का रक्त नहीं पहुंचा ब्लड बैंक

 सहरसा : कुछ  साल पहले तक सदर अस्पताल स्थित रक्त अधिकोष में जिस मरीज को रक्त की जरूरत  होती थी. उसे रक्त देने के लिए उसके परिजन ही अधिकोष की ओर रुख करते थे. 

 
 लेकिन समय बदला और जिला मुख्यालय से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों के कुछ युवा  रक्त की महत्ता को देख संगठन का निर्माण कर नि:स्वार्थ रूप से जरूरतमंदों को  रक्त उपलब्ध करा रहे हैं. लेकिन अब रक्त को लेकर कई  जगहों पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाता है. जिसकी जानकारी स्वास्थ्य  विभाग व प्रशासन को नहीं रहती है. इतना ही नहीं शिविर में संग्रह किया गया  रक्त कहां जाता है, इसकी भी जानकारी किसी को नहीं रहती है. 
 
जिसका फायदा  रक्त कारोबारी उठाते हैं. ताजा मामला एचडीएफसी बैंक की स्थानीय शाखा  से व दूसरा आरएमएम लॉ कॉलेज से जुड़ा है. बैंक में आयोजित शिविर में मात्र  चार यूनिट रक्तदान हुआ, लेकिन प्रबंधन ने 50 यूनिट रक्तदान की बात कही.  कॉलेज में बीते दिन शिविर में 19 यूनिट रक्तदान हुआ लेकिन संग्रहित रक्त  कहां गया, किसी को पता नहीं है. 
 
गुरुवार को सोशल मीडिया पर कॉलेज में  आयोजित रक्तदान शिविर को लेकर एक ऑडियो वायरल हो रहा है. जिसमें दो  व्यक्तियों के बीच हुई बातचीत स्पष्ट सुनाई दे रही है. ऑडियो वायरल होने के  बाद कई तरह की चर्चाएं शुरू हो गयी है. हालांकि वायरल ऑडियो की सत्यता की  पुष्टि प्रभात खबर नहीं करती है, यह जांच का विषय है. 
 
जो प्रशासन द्वारा  किये जाने के बाद ही संभव हो पायेगा. इससे पूर्व समाजसेवी रोशन झा ने दोनों  मामलों को लेकर सिविल सर्जन को पत्र देकर रक्तदान शिविर के नाम पर फैलाये  जा रहे भ्रम की जांच कर कार्रवाई की मांग की थी. पत्र की प्रतिलिपि जिला  पदाधिकारी, डीएचएस व अन्य को भी देने की बात कही गयी.
 
शिविर के नाम पर फैलाया जाता है भ्रम: सोशल मीडिया पर शिविर के नाम पर हो रही करतूत के बाद लोग प्रतिक्रिया दे रहे हैं. समाजसेवी रोशन झा ने कहा कि चार यूनिट की जगह 50  यूनिट रक्तदान की बात कह कर बैंक ने भ्रम पैदा किया है. वहीं बैंक व कॉलेज मामले में चार दिन पूर्व सिविल सर्जन सहित अन्य को आवेदन दिया गया था. लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है. ऐसे में यदि लोगों को रक्त उपलब्ध नहीं होता है तो लोग रक्त की कालाबाजारी का आरोप लगाते हैं. 
 
उन्होंने कहा कि रक्त के नाम पर झूठा आंकड़ा प्रस्तुत करना गलत है. सुनील झा ने कहा कि कागज पर रक्तदान हो  रहा है, जो गलत है. कॉलेज में आयोजित शिविर में हुआ रक्तदान कहां गया,  इसकी जांच आवश्यक है. वहीं कुछ लोग पुलिस में मामला ले जाने तो कोई इस  कृत्य की भर्त्सना कर रहे हैं. लोग सोशल मीडिया पर प्रशासन की कार्रवाई देखने को उत्सुक हैं.
 
अॉडियो वायरल : भैया प्रणाम, बबलू बोले छिय'...
सोशल  मीडिया पर वायरल ऑडियों में दो व्यक्तियों के बीच बातचीत का जो ऑडियो  वायरल हो रहा है. वह सच्चाई जानने के लिए काफी है. वायरल ऑडियो में रक्त  अधिकोष के एक कर्मी के मोबाइल पर फोन आता है. जिसके बाद दोनों में बातचीत  होती है. जिसका अंश सामने है. 
फोन करने वाला: भैया प्रणाम
कर्मी : खुश रह'
फोन करने वाला : बबलू बोले छिय'
कर्मी : कह'
बबलू : कनी टा झेल रहे, जकरा सॉल्व तूहे टा के सक छो
कर्मी : की
बबलू : ऐबै डीबी रोड में मिलबे बूझलो. कहलिया शिविर पढ़लो रहे लॉ कॉलेज वाला
कर्मी : उहूं
बबलू : ने
कर्मी : की
बबलू : अरे फोन पर कहि सके छिय'
कर्मी : बोल'
बबलू : कहलिया रक्त शिविर लगेलके रहे बुझलो, ओय मे भे गेले डिसमिस. बूझ जाहो शॉर्ट कर्ट में झेलझाल
कर्मी : हां
बबलू : जाना जे हेते केर के ओकरा सब के सर्टिफिकेट दे दिहो तू अपना तरफ से. जना जे हेते करबे देबा.
कर्मी : कते गेले ब्लड, ब्लड कते गेले
बबलू : हां ते ने कहलिया जे बेठबो ते के लेबे दुनु भाई गप
कर्मी : ठीक, ठीक
(हालांकि प्रभात खबर इस वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है.)
 
एचडीएफसी बैंक में 50 नहीं, मात्र चार यूनिट हुआ रक्तदान
पूरब  बाजार स्थित एचडीएफसी बैंक में बीते शुक्रवार को ब्लड डोनेशन शिविर में 50  नहीं मात्र चार यूनिट ही रक्तदान हुआ था. सोशल मीडिया पर बैंक के झूठे  आंकड़े को लेकर लगातार पोस्ट होने के बाद जब इसकी तहकीकात की गयी तो मामला  सामने आया कि बैंक में जो ब्लड डोनेशन कैंप लगाया गया, उसमें रक्त संग्रह  के लिए गये सदर अस्पताल रक्त अधिकोष के कर्मी को मात्र चार यूनिट ब्लड ही  संग्रह हुआ. जबकि डब्लूबीओ की यूनिट हेड खुशबू कुमारी के हस्ताक्षर से जारी  प्रेस विज्ञप्ति में 50 यूनिट डोनेट करने की बात कही गयी थी. 
 
रक्त अधिकोष  केंद्र सदर अस्पताल के कर्मी जगन्नाथ पाठक से जब सच्चाई की जानकारी ली गयी  तो उन्होंने भी कहा कि मात्र चार यूनिट ही रक्तदान हुआ था. इसके अलावे एक  सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उनलोगों का कार्य ही रक्त संग्रह करना  है.
 
 बैंक के कर्मी ने भी लगभग 15 यूनिट रक्तदान होने की बात कही थी. जिसके  कारण रक्त अधिकोष के कर्मी रक्त संग्रह करने गये थे. इस बाबत डब्लूबीओ की  यूनिट हेड खुशबू कुमारी ने बताया कि जारी प्रेष विज्ञप्ति में आंकड़ा भूलवश  50 लिखा गया था. शिविर में चार यूनिट रक्तदान हुआ था और 50 लोग मौजूद थे.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement