saharsa

  • Dec 13 2019 7:57AM
Advertisement

शादी को राजी नहीं थी बेटी, तो उसके प्रेमी को मार डाला

 महिषी : क्षेत्र के नहरवार गांव में अंतरजातीय प्रेम प्रसंग में 23 वर्षीय युवक गजेंद्र मुखिया के पुत्र अमित को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा. बता दें कि अमित का गांव के ही पचकोरी शर्मा की पुत्री से पिछले कुछ माह से प्रेम का  चक्कर चल रहा था. 

 
ऐसी चर्चा है कि तथाकथित लड़की के परिजनों ने स्वजातीय लड़के से अपनी पुत्री की शादी तय कर ली थी, लेकिन लड़की ब्याह रचाने को राजी नहीं थी. प्रेमी युवक को बेटी की शादी का रोड़ा समझ लड़की वालों ने इसकी ईहलीला ही समाप्त कर दी. घटना से दोनों पक्षों में तनाव का माहौल बना है. मृत युवक के पिता गजेंद्र मुखिया ने कुल 16 लोगों पर हत्या का आरोप लगाते प्राथमिकी दर्ज करायी है. आवेदन में कहा गया है कि उसका पुत्र लगन में टेंट हाउस व डीजे वालों के काम में मजदूरी करता था. 
 
उस दिन भी वह जजौरी के शंकर शर्मा के साथ काम पर गया था. आवेदन में नहरवार निवासी सुनील शर्मा, राजेश शर्मा, संजय शर्मा, पचकोरी शर्मा, आनंदी शर्मा, ढोढाय शर्मा, बालेश्वर शर्मा, भुटाय शर्मा, बद्री शर्मा, दुलार चंद शर्मा, रवि शर्मा, गुलशन शर्मा व पन्ने लाल शर्मा सहित जजौरी के कुटुंब प्रियव्रत शर्मा व मेजर शर्मा को हत्यारोपित बनाते हुए प्राथमिकी दर्ज करायी है. 
 
इसके अतिरिक्त शंकर शर्मा को भी साजिश में शामिल होने की बात कही है. इन नामजदों में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते नौ लोगों को गिरफ्तार करने में कामयाबी तो हासिल की है, लेकिन प्रखंड क्षेत्र में आये दिन हत्या की वारदातों में लगातार इजाफा सामाजिक कुत्सित भावनाओं व पुलिस के खौफ से बेफिक्र होने का भी परिचायक है. 
 
आठ दिन पूर्व भी मनोवर गांव में सामाजिक कार्यकर्ता राजेश चौपाल की भी हत्या का कारण यही अंतरजातीय प्रेम प्रसंग था. ऐसी उदारवादी प्रेम कहानी जिंदगी को मौत में बदल रही है. सामाजिक विद्वेष में कई निर्दोष लोगों की जिंदगी अपराधी की तरह कायम कर दिया जाता है व जेल की चहारदीवारी में कैद हो जाते हैं. इधर मामले को लेकर गुरुवार को सदर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी ने महिषी थाना में नहरवार हत्याकांड का खुलासा किया.  
 
अनुसंधान में अंतरजातीय प्रेम प्रसंग का मामला उजागर हुआ है. जातीय विद्वेष के वादी ने कई निर्दोषों को भी नामजद बनाया है. मूलतः हत्या व उसकी साजिश में तीन से चार लोगों के होने की पुष्टि हुई है. नौ लोगों को तत्काल हिरासत में लिया गया है व शेष नामजदों की गिरफ्तारी के लिए संभावित ठिकानों पर छापेमारी भी की जा रही है.
प्रभाकर तिवारी, सदर एसडीपीओ. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement