ranchi

  • Jan 24 2020 6:59AM
Advertisement

यूएफबीयू व आइबीए की वार्ता विफल, 31 जनवरी से 15 मार्च तक पांच दिन बैंकों में हड़ताल, जानें क्‍या हैं मांगें

यूएफबीयू व आइबीए की वार्ता विफल, 31 जनवरी से 15 मार्च तक पांच दिन बैंकों में हड़ताल, जानें क्‍या हैं मांगें
रांची : यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन (यूएफबीयू) और इंडियन बैंक एसोसिएशन (आइबीए) के बीच मुंबई  में हुई वार्ता बेनतीजा रही. यूएफबीयू ने बजट सत्र के दौरान हड़ताल की चेतावनी दी है. वहीं,  आइबीए ने बैंकों  की वर्तमान दयनीय स्थिति को देखते हुए 12.25 प्रतिशत की वेतन वृद्धि के ऑफर  को उपयुक्त बताते हुए यूएफबीयू से हड़ताल वापस लेने की अपील की  है.  31 जनवरी से 15 मार्च तक पांच दिन बैंकों में हड़ताल रहेगी. 
 
बजट सत्र शुरू होते ही हड़ताल होगी : आॅल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन के संयुक्त  सचिव डीएन त्रिवेदी ने  कहा कि बैंक प्रबंधन के नकारात्मक रवैये के खिलाफ बैंककर्मी संसद में बजट सत्र शुरू होते ही 31  जनवरी और एक फरवरी  को दो दिन हड़ताल करेंगे. वहीं, दो फरवरी और आठ मार्च को साप्ताहिक अवकाश है. नौ और 10 मार्च को होली का अवकाश,  11, 12 और 13 मार्च को हड़ताल, 14 मार्च को द्वितीय शनिवार और 15 मार्च को रविवार होने के कारण बैंक बंद रहेंगे. 
 
यानी मार्च में लगातार आठ दिन बैंक बंद रहेंगे. वहीं व्यावसायिक और ग्रामीण  बैंकों के 10 लाख से  अधिक बैंक कर्मियों का वेतन पुनरीक्षण एक नवंबर, 2017 से लंबित है. मात्र 12.25 प्रतिशत वृद्धि का आॅफर दिया जा रहा है. इसको लेकर चरणबद्ध आंदोलन किया जायेगा. हड़ताल के अलावा साप्ताहिक अवकाश, रविवार और होली के अवकाश के कारण भी बैंक बंद रहेंगे.  
 
क्या हैं मांगें
 
बैंक कर्मियों की मांगों में वेतन पुनरीक्षण, पेंशन अपडेशन, सप्ताह में पांच दिन की बैंकिंग व  न्यू पेंशन सिस्टम के बदले पुरानी पेंशन की  मांग शामिल है.
 
कब-कब रहेगी हड़ताल  
 
31 जनवरी        दिन शुक्रवार
01 फरवरी        दिन शनिवार
11, 12 व 13 मार्च  
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement