ranchi

  • Dec 9 2019 9:38AM
Advertisement

रांची : लड़कियां देश की रीढ़ हैं, वह अपनी शक्ति पहचानें : गवर्नर

निर्मला कॉलेज की स्वर्ण जयंती पर कार्यक्रम आयोजित
रांची : युवाओं की ऊर्जा को सही दिशा में लगाकर ही देश प्रगति कर सकता है. लड़कियां  देश की रीढ़ हैं. शक्ति स्वरूपा हैं. वह अपनी शक्ति पहचानें और समाज में सुख, शांति एवं प्रेम का प्रचार-प्रसार  करने में अपने को समर्पित करें. उक्त बातें राज्यपाल सह कुलाधिपति डॉ द्रौपदी मुर्मू ने रविवार को निर्मला महाविद्यालय की स्वर्ण जयंती वर्ष के अवसर पर आयोजित समारोह में कही. उन्होंने आयोजित समारोह की सराहना की अौर शुभकामना देते हुए कहा कि राज्य में इस संस्थान का विशेष नाम है. 
 
 विशिष्ट अतिथि कुलपति डॉ रमेश कुमार पांडेय, बिशप रेव्ह थियोडोर मास्करेन्हास थे. उन्होंने स्वर्ण जयंती मनाये जाने पर शुभकामना प्रकट की. प्राचार्या डॉ  सिस्टर ज्योति ने वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए  कॉलेज की उपलब्धियों के बारे में बताया अौर इस ऊंचाई तक पहुंचाने पर सभी के प्रति आभार प्रकट किया. 
 
कार्यक्रम का संचालन डॉ सिस्टर  ऐम्मा सेराफीम ने किया. धन्यवाद ज्ञापन सुपीरियर सिस्टर मेरी लिडविन ने किया. कार्यक्रम में उपकुलपति प्रोफेसर कामिनी कुमार, कुलसचिव डॉ अमर कुमार चौधरी , डीएसडब्ल्यू डॉ केके वर्मा ,रांची विवि के आर्थिक सलाहकार डॉ विश्वरूप चटर्जी , संत जेवियर कॉलेज के   प्राचार्य फादर आई बारला , संत जेवियर स्कूल के प्राचार्य फादर  अजीत खेेस , एससीजेएम  प्रोवेंशियल सिस्टर मेरी जोसेफ सहित अन्य उपस्थित थे. इस अवसर पर कुलाधिपति सहित अन्य अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया. साथ ही कॉलेज की स्मारिका उन्नयन एक नये क्षितिज की अोर का  विमोचन किया गया. इसके अलावा डॉ रश्मि माला साहू दार्शिनक अरविंद घोष पर रिथिकिंग द पॉलिटिक्ल फिलॉसफी अॉफ अरविंद घोष पर  लिखित पुस्तक का विमोचन राज्यपाल व अन्य अतिथियों ने किया. 
 
स्नातक की परीक्षा में सर्वश्रेष्ठ अंक लाने पर सम्मानित 
 
कार्यक्रम के दौरान वर्ष 2016-19 में स्नातक की परीक्षा में सभी संकायों में सर्वश्रेष्ठ अंक लाने पर शालिनी सुधा को सिस्टर प्रिसिल्ला मेमोरियल अवार्ड से सम्मानित किया गया. उन्हें राज्यपाल ने यह पुरस्कार दिया. इसके साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान कॉलेज के स्थापना काल का जीवंत चित्रण नृत्य व अन्य माध्यमों से किया गया. पर्यावरण संरक्षण से लेकर स्वर्ण जयंती वर्ष तक के सफर को दिखाया गया. कार्यक्रम को कॉलेज की छात्राअों ने प्रस्तुत किया . कार्यक्रम की समाप्ति के बाद छात्राअों ने सेल्फी ली अौर यादों को तरोताजा किया .
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement