Advertisement

ranchi

  • Sep 20 2019 6:46AM
Advertisement

रांची : तृतीय वर्ग में नियुक्ति के लिए एसएससी को अधियाचना भेजें

रांची : तृतीय वर्ग में नियुक्ति के लिए एसएससी को अधियाचना भेजें
राज्यपाल ने विवि के कुलपतियों के साथ की बैठक, कहा 
शिक्षकेतर कर्मचारियों को एसीपी व एमएसीपी का लाभ देने व वेतन निर्धारण करने का निर्देश
आगामी सत्र से विवि में चांसलर पोर्टल से ही नामांकन व रिजल्ट निकालने का निर्देश
 
रांची : राज्यपाल सह कुलाधिपति द्रौपदी मुर्मू ने सभी विश्वविद्यालयों के कुलपति को निर्देश दिया है कि तृतीय वर्ग में कर्मचारियों की नियुक्ति झारखंड कर्मचारी चयन आयोग द्वारा ही की जायेगी. इसलिए सभी विवि आयोग को शीघ्र अधियाचना भेजें, ताकि नियुक्ति प्रक्रिया शुरू की जा सके. 
 
राज्यपाल ने विवि में अनुबंध पर नियुक्त सभी कर्मियों को इपीएफअो से जोड़ने व घंटी आधारित अतिथि शिक्षकों का न्यूनतम राशि देने के लिए नियमानुसार कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया. वहीं शिक्षकेतर कर्मचारियों को एसीपी व एमएसीपी का लाभ देते हुए वेतन निर्धारण करने को कहा. राज्यपाल गुरुवार को राजभवन में राज्य के सभी विवि के कुलपतियों व विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर रही थीं.  
राज्यपाल ने विवि में ससमय परीक्षाफल जारी करने और सत्र नियमित करने की दिशा में सार्थक पहल करने पर प्रसन्नता जतायी. उन्होंने कहा कि पिछले 19 वर्ष की अवधि में यह बड़ी उपलब्धि है. 
 
राज्यपाल ने जेपीएससी द्वारा शिक्षकों की प्रोन्नति की दिशा में की जा रही कार्रवाई पर संतोष जताया अौर शीघ्र ही लंबित पड़े मामलों का निबटारा करने का निर्देश दिया. साथ ही बैकलॉग की नियुक्तियों का कार्य पूरा करने को कहा. उन्होंने निर्देश दिया कि आगामी सत्र से विवि व कॉलेज में चांसलर पोर्टल के माध्यम से ही नामांकन लें व रिजल्ट जारी करें. जो भी विवि व महाविद्यालय नैक से मूल्यांकन नहीं कराये हैं, वे इस दिशा में कार्रवाई शुरू कर इसे समय रहते पूरा करें. 
 
बैठक में ये हुए शामिल : बैठक में योजना व वित्त विभाग के अपर मुख्य सचिव केके खंडेलवाल, उच्च व तकनीकी शिक्षा प्रधान सचिव शैलेश कुमार सिंह, राज्यपाल के प्रधान सचिव सतेंद्र सिंह, भवन निर्माण विभाग के सचिव सुनील कुमार, जेपीएससी के सचिव रणेंद्र, रांची विवि के कुलपति डॉ रमेश कुमार पांडेय, विनोबा भावे विवि के कुलपति डॉ रमेश शरण, नीलांबर-पीतांबर विवि के कुलपति डॉ एसएन सिंह, कोल्हान विवि की कुलपति डॉ शुक्ला मोहंती, विनोद-बिहारी महतो कोयलांचल विवि के कुलपति डॉ अंजनी कुमार श्रीवास्तव, सिदो-कान्हू मुर्मू विवि के कुलपति डॉ एमपी सिन्हा, डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी विवि के कुलपति डॉ एसएन मुंडा, विवि के वित्तीय सलाहकार व रजिस्ट्रार उपस्थित थे.
 
शिक्षा में गुणवत्ता होगी, तभी आगे बढ़ेंगे
 
उन्होंने कहा कि वाइ-फाइ सुविधा बहाल करने के लिए विवि एनआइसी के साथ मिल कर जो भी समस्याएं हैं, उस तथ्य की जांच कर लें. 
राज्यपाल ने स्पष्ट कहा कि जब तक शिक्षा में गुणवत्ता नहीं आयेगी, तब कर हम आगे नहीं बढ़ पायेंगे. विवि की जो भी समस्याएं हैं, इसके लिए उच्च शिक्षा विभाग व विवि आपसी समन्वय स्थापित कर इसे दूर करें. राज्यपाल ने कहा कि रांची विवि अंतर्गत जनजातीय व क्षेत्रीय भाषा विभाग में नौ विभाग संचालित होंगे. इस बाबत विभाग द्वारा पद सृजन की प्रक्रिया पूरी हो गयी है. कोल्हान विवि में हो भाषा की पढ़ाई शुरू करने की दिशा में कार्रवाई लगभग पूरी हो गयी है. 
 
निर्माणाधीन भवनों की समीक्षा की 
 
बैठक में राज्यपाल ने नीलांबर-पीतांबर विवि, विनोद बिहारी महतो कोयलांचल विवि व रक्षा शक्ति विवि के निर्माणाधीन भवनों की समीक्षा भी की. 
 
साथ ही मॉडल कॉलेज, महिला महाविद्यालय, बहुउद्देश्यीय परीक्षा भवन, डिग्री महाविद्यालय सहित अन्य भवनों की समीक्षा की. उन्होंने प्रत्येक विवि को शिक्षित भारत अभियान को सफल बनाने, सभी विवि में स्वयं प्रभा योजना का सफल कार्यान्वयन करने, प्रत्येक विवि को मानव संसाधन विकास मंत्रालय के निर्देशों व सुझावों का अनुपालन करने व स्ववित्त पोषित कोर्स के शुल्क में एकरूपता लाने का भी निर्देश दिया. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement