Advertisement

ranchi

  • Jul 13 2019 12:12AM
Advertisement

रांची : नहीं होगी नयी बोरिंग, पुरानी से ही घरों तक पहुंचेगा पानी

रांची  : पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के मंत्री रामचंद्र सहिस एवं सचिव अाराधना पटनायक ने स्पष्ट किया कि ग्रामीण क्षेत्रों में सरकार नयी बोरिंग नहीं करायेगी. पुरानी बोरिंग से ही घरों तक पानी पहुंचाया जायेगा. राज्य में अभी करीब सवा चार लाख बोरिंग हैं. इसमें 70 फीसदी अच्छी स्थिति में हैं. झारखंड में प्रति व्यक्ति बोरिंग राष्ट्रीय औसत से अच्छी है. यहां 70 व्यक्ति पर एक बोरिंग है, जबकि राष्ट्रीय औसत 125 व्यक्ति है. 
 
इस वित्तीय वर्ष में विभाग ने करीब 70 हजार बोरिंग ठीक कराये हैं. हर दिन खराब होनेवाली बोरिंग ठीक कराये जा रहे हैं. मंत्री व सचिव शुक्रवार को सूचना भवन में पेयजल स्वच्छता विभाग की प्रेसवार्ता में बोल रहे थे. इसका आयोजन विभाग की साढ़े चार साल की उपलब्धि बताने के लिए हुआ था. 
 
 बताया गया कि करीब 16 ब्लॉक ड्राइ जोन में हैं. इसमें पांच ब्लॉक डीप ड्राइ जोन वाला एरिया है. यहां पेयजल स्वच्छता विभाग अन्य विभागों के सहयोग से पेयजलापूर्ति का प्रयास कर रहा है. इसमें नरेगा, वन विभाग आदि का भी सहयोग लिया जा रहा है.
 
 मंत्री ने स्वीकार किया कि विभागों में आपसी तालमेल नहीं होने के कारण पेयजल पहुंचाने के काम को गति नहीं मिल रही है. वहीं सचिव ने कहा कि मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटी बनी है. वह जल संबंधी मामलों को देखती है. इसकी नियमित बैठक होती है. इसमें कई काम हुए हैं. 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement