Advertisement

ranchi

  • Apr 19 2019 8:10AM

देखिए! देश की प्रिमियम ट्रेन का ये हाल है

देखिए!  देश की प्रिमियम ट्रेन का ये हाल है
4:20 घंटे लेट हुई राजधानी एक्सप्रेस यात्रियों को परोसा दाल-भात-अचार दिन भर में दी सिर्फ एक बाेतल पानी
 
रांची : रांची से बुधवार को नयी दिल्ली जा रही राजधानी एक्सप्रेस (20839) का कपलिंग रांची में ही टूट गया था. इस वजह से यह ट्रेन 3:10 घंटे देरी से रवाना हुई थी. गुरुवार को यह ट्रेन 4:20 घंटे देरी से नयी दिल्ली पहुंची. इस दौरान ट्रेन में सफर कर रहे यात्रियों को कई अन्य परेशानियों को सामना करना पड़ा. 
 
ट्रेन में सफर कर रहे कई यात्रियों ने बताया कि ट्रेन शाम 4:25 बजे नयी दिल्ली पहुंची. इस कारण कई यात्रियों की आगे की यात्रा के लिए ट्रेन छूट गयी, जबकि कई यात्रियों के जरूरी काम बाधित हो गये. 
 
यात्रियों ने बताया कि ट्रेन लेट हुई सो हुई, उन्हें ढंग का खाना भी नहीं दिया गया. दोपहर के खाने में उन्हें सिर्फ दाल-चावल और अचार परोसा गया, वह भी गुणवत्तापूर्ण नहीं था. वहीं, पूरे सफर के दौरान उन्हें केवल एक बोतल पानी दिया गया. 
 
दो सदस्यीय कमेटी बनी, जांच शुरू
 
राजधानी एक्सप्रेस का कपलिंग टूटने की घटना को लेकर गुरुवार को डीआरएम वीके गुप्ता की अध्यक्षता में बैठक भी हुई थी. इसमें घटाना की जांच के लिए दो सदस्यीय कमेटी बनायी गयी. कमेटी में अॉपरेशन से बीएन शर्मा और मेकैनिकल से रितिका को रखा गया है. 
दोनों जूनियर स्तर के अधिकारी है. इन्होंने जांच शुरू कर दी है और दो-तीन दिनों में वे विभाग को अपनी जांच रिपोर्ट सौंप देंगे. डीआरएम ने कहा कि नियमानुसार घटना की जांच के आदेश दिये गये हैं. अधिकारी जल्द ही अपनी रिपोर्ट सौंपेंगे. उसके बाद ही पता चलेगा कि आखिर कैसे कपलिंग खुला था. जो लोग दोषी होंगे, उन पर कार्रवाई की जायेगी
 
यात्रियों ने बतायी अपनी पीड़ा 
 
पूरे  सफर के दौरान पानी का एक ही बोतल दिया गया. दूसरा मांगने पर नहीं मिला. जैसे-तैसे काम चलाना पड़ा. संबंधित स्टेशनों पर पानी लेना पड़ा.
 
पुष्पा प्रसाद
 
रांची से देरी से रवाना 
 
हुई ट्रेन देरी से ही नयी दिल्ली पहुंची. हम परेशान हुए, लेकिन किसी अधिकारी ने हमारी परेशानी को कम करने का प्रयास नहीं किया.
रत्नेश रत्न
 
एक  तो ट्रेन लेट और ऊपर से खाने-पीने समस्या. यह देखकर कहीं भी  नहीं लगा कि यह प्रीमियम ट्रेन है. यदि इसमें अधिकारी तैनात रहते, तो बेहतर होता.
 
आशा देवी
 
ट्रेन विलंब हो जाने के कारण रास्ते में और विलंब होते चली गयी. निर्धारित समय पर पाथ यदि छूट जाता है, तो भी उस पाथ पर दूसरी ट्रेनों  का मूवमेंट शुरू हो जाता है, जिसे मैनेज करना काफी मुश्किल हो जाता है. फिर भी कोशिश होगी कि आनेवाले दिनों में इस तरह की परेशानी न हो. 
 
वीके गुप्ता, डीआरएम 
 
ट्रेन में जो निर्धारित था, वही खाना यात्रियों को उपलब्ध कराया गया. ट्रेन में आकस्मिक परिस्थिति में भी भोजन बनाकर उपलब्ध कराया जाता है. यात्रियों की नाराजगी हुई है. एेसा दोबारा न हो इसके लिए पूरा प्रयास किया जायेगा. 
जे मिल, एरिया मैनेजर,
आइआरसीटीसी, रांची

Advertisement

Comments

Advertisement