Advertisement

ranchi

  • Jan 12 2019 2:16AM

रांची : 67 वर्षों बाद गांव-गरीब तक पहुंच रही है योजना, बिचौलिया प्रथा खत्म हुई

रांची  :  67 वर्षों बाद गांव-गरीब तक पहुंच रही है योजना, बिचौलिया प्रथा खत्म हुई
रांची  : भाजपा राष्ट्रीय परिषद की बैठक में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के गरीब कल्याण के प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने अपनी बात रखी़  मुख्यमंत्री ने सुषमा स्वराज के प्रस्ताव का समर्थन करते हुए कहा कि आज देश में गरीबों के लिए बड़ी-बड़ी योजना जमीन पर उतर रही है़ं  
 
यह इसलिए संभव है कि आज हमारे पास नरेंद्र मादी के रूप में सक्षम, दूरदर्शी और परिपक्व नेतृत्व है़    स्वामी विवेकानंद की जयंती की पूर्व संध्या के मौके पर यह प्रस्ताव लाया गया है़  
 
स्वामी जी की सोच थी कि जब तक देश के गांव, गरीब, महिला, शोषित, वंचित के जीवन में बदलाव नहीं आयेगा, तब तक भारत विश्व गुरु नहीं बन सकता है़  प्रधानमंत्री के कुशल नेतृत्व का परिणाम है कि देश की जनता आर्थिक और सामाजिक परिवर्तन देख रही है़ 67 साल बाद गरीब कल्याण को मोदी सरकार ने महत्व दिया है़  पहले योजना बनी, तो जनता तक नहीं पहुंची़ 
 
 मुख्यमंत्री श्री दास ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व राजीव गांधी ने कहा था कि विकास का सौ पैसा दिल्ली से चलता है, तो जनता तक 15 पैसा ही पहुंचता है़  आखिर कौन सा पंजा था, जो गरीबों का 85 पैसा खा जाता था़  
 
आज सबका साथ, सबका विकास संकल्प जनता तक पहुंच रहा है़ बिचौलिया प्रथा खत्म हो गयी है़  मुख्यमंत्री ने कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में साढ़े चार वर्षों में अनेक काम हुए़  
 
गरीब, महिलाओं, दलितों, आदिवासियों और शोषितों के जीवन में बदलाव आया है़  घर-घर शौचालय, जन धन योजना, उज्ज्वला योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, आयुष्मान योजना, घर-घर बिजली योजना, अन्न सुरक्षा योजना, बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ योजना जैसी कई योजनाएं चल रही है और परिवर्तन दिख रहा है़ 
 
 स्वच्छ भारत अभियान के तहत आठ करोड़ 40 लाख गरीबों के घरों में  शौचालय बनाये गये़  आयुष्मान योजना के तहत देश के लगभग 10 करोड़ परिवार को हर साल पांच लाख की स्वास्थ्य सुविधाएं मिलनी शुरू हो गयी है़  देश की 50 करोड़ आबादी आयुष्मान योजना के तहत लाभ उठायेगी़ 
 
 मुख्यमंत्री ने कहा कि सवर्णों के कमजोर तबके को 10 प्रतिशत आरक्षण देकर प्रधानमंत्री ने सबका साथ, सबका विकास के संकल्प को मजबूती दी है़  मोदी सरकार ने एसटी-एससी के हितों की रक्षा और ओबीसी के लिए आयोग को संवैधानिक दर्जा दी़  
 
प्रधानमंत्री समाज के प्रति संवेदना रखते है़ं  श्री दास ने कहा कि आज समाज को तोड़ने वाली शक्तियां पहले से ज्यादा सक्रिय हुए है़  ऐसी ताकतों को परास्त कर नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में समाज के सभी वर्गों को परम वैभव पर ले जाना है़

एसआरटीएमआइ का मुख्यालय रांची में खुलेगा
रांची :  रांची में एसआरटीएमआइ का मुख्यालय खुलेगा. केंद्रीय इस्पात मंत्री वीरेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री रघुवर दास को आश्वासन दिया है. भाजपा राष्ट्रीय परिषद की बैठक में शामिल होने दिल्ली गये मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री से मुलाकात की.
 
 उन्हें बताया कि  एसआरटीएमआइ का मुख्यालय रांची में खोलने के लिये राज्य सरकार हर प्रकार का सहयोग करने के लिय तैयार है. यह भी बताया कि झारखंड में प्रचुर मात्रा में खनिज संपदा है.
 
 राज्य में खनिज आधारित इकाइयां सेल,  आरडीएसआइसी एस, मेकॉन, एमआइटी जैसे लोक उपक्रम व टाटा स्टील, जेएसपीएल  जैसे निजी उपक्रम कार्यरत हैं. इसके साथ ही राउरकेला औद्योगिक क्षेत्र,  दुर्गापुर, बर्नपुर आदि भी यहां से नजदीक है. 
 
रांची में इस संस्थान के खुलने से  झारखंड के अलावा पश्चिम बंगाल, ओड़िशा, छत्तीसगढ़ को भी लाभ मिलेगा. इसी क्रम में मुख्यमंत्री ने स्थानीय उद्योग में आम आदमी को स्टील उचित दर पर मिले इस पर भी अपनी बातें रखीं. सारी बातों को सुनने के बाद केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 19 को इस्पात सचिव की अध्यक्षता में बोकारो स्टील सिटी में बैठक होगी जिस पर निर्णय लिया जायेगा. 
 
मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री को बताया कि बोकारो स्टील की आवश्यकता पर अाधारित स्थानीय लोग उद्योगों को बढ़ावा देने के लिये स्थानीय स्तर पर क्रय को बढ़ावा देने की आवश्यकता है. केंद्रीय इस्पात मंत्री ने उन्हें उनकी बातों पर विचार का भरोसा दिलाया.  
 
उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक स्थानीय क्रय को बढ़ावा दिये जाने की संभावनाओं पर विचार किया जायेगा. बैठक  में केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री विष्णु देव सोई, केंद्रीय  इस्पात सचिव, इस्पात विभाग के संयुक्त सचिव, झारखंड सरकार के उद्योग सचिव के रवि कुमार व मुख्यमंत्री के निजी सचिव केपी बलियान सहित अन्य  अधिकारी उपस्थित थे.
 
लंबे समय से रह रहे लोगों के संबंध में भी निर्णय का आग्रह 
 मुख्यमंत्री श्री दास ने बीएसएल क्षेत्र में लंबे समय से रह रहे लोगों के नियमितिकरण के बारे में शीघ्र निर्णय लिये जाने का आग्रह केंद्रीय मंत्री से किया. केंद्रीय मंत्री ने आश्वासन दिया कि स्टील सचिव जल्द ही रांची आयेंगे और इस विषय को लेकर बैठक करेंगे. इस मामले पर जल्द ही लोगों के हित में निर्णय लिया जायेगा. 
 
साथ ही चतरा  में जल्द ही स्टील प्लांट लगाये जाने पर केंद्रीय इस्पात मंत्री से आग्रह किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार स्टील प्लांट के लिए आवश्यक आयरन अयस्क  ब्लॉक के आवंटन पर जल्द से जल्द निर्णय लेगी. ताकि, चतरा में स्टील प्लांट  जल्द से जल्द बन सके.
 

Advertisement

Comments

Advertisement