Advertisement

ranchi

  • Nov 9 2018 8:53AM

रांची : शहीदों व आदिवासियों के इर्द-गिर्द घूम रही राजनीति

रांची : शहीदों व आदिवासियों के इर्द-गिर्द घूम रही राजनीति
शहीदों के गांव पहुंच रही हैं पार्टियां, पक्ष-विपक्ष दोनों लगा रहे हैं चौपाल
रांची : अागामी लोकसभा व विधानसभा चुनाव को लेकर झारखंड के राजनीतिक दलों ने तैयारी शुरू कर दी है. प्रमुख राजनीतिक दलों की राजनीति चौपाल व यात्रा के जरिये चल रही है. भाजपा, झामुमो व आजसू की राजनीति शहीदों व आदिवासियों के इर्द-गिर्द घूम रही है. वहीं कांग्रेस और झाविमो ने भी जनसंपर्क अभियान बढ़ा दिया है़  दलों के नेता गांव की ओर कूच करने लगे है़ं  आदिवासियों पर हर दलों की नजर है़  इनकी गोलबंदी के लिए काम हो रहे है़ं  इन्हीं को लेकर राजनीतिक दलों की ओर से कार्यक्रम तय किये जा रहे हैं.
 
शहीदों के गांवों से लायी जायेगी मिट्टी
 
भाजपा की ओर से भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा को लेकर कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं. राजधानी रांची में सरकार की ओर से भगवान बिरसा मुंडा की 25 फीट की प्रतिमा स्थापित करने की कवायद चल रही है. हालांकि इसको भुनाने के लिए संगठन के लोग भी जुट गये हैं. 
 
भाजपा की ओर से शहीदों के गांवों से मिट्टी लाने का कार्यक्रम चलाया जा रहा है. भाजपा एसटी मोर्चा के कार्यकर्ता शहीदों के गांवों से मिट्टी लाकर भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा के लिए सौंपेंगे. गुजरात में सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा को लेकर देश भर से मिट्टी व लोहा जुटा कर वहां भेजा गया था. इसका इस्तेमाल प्रतिमा स्थल पर किया गया. इसी तर्ज पर झारखंड में प्रदेश भाजपा की ओर से तैयारी की गयी है. इसके साथ ही राज्य सरकार की ओर से शहीदों के गांवों को विकसित करने की योजना चलायी जा रही है. इसमें संगठन भी सरकार का पूरा साथ दे रहा है. 
 
आदिवासियों के बीच पैठ बनाने की कवायद
 
प्रमुख विपक्षी दल झामुमो की ओर से भी झारखंड संघर्ष यात्रा की शुरुआत की गयी है. पहले चरण की यात्रा कोल्हान प्रमंडल में शहीद निर्मल महतो की प्रतिमा पर श्रद्धांजलि अर्पित कर शुरू की गयी. वहीं दूसरे चरण की संघर्ष यात्रा की शुरुआत भगवान बिरसा मुंडा के गांव उलिहातू से की गयी. 
 
झामुमो इस यात्रा के माध्यम से आदिवासियों के बीच पैठ बनाने में जुटा है. साथ ही सरकार की जनविरोधी नीतियों की आलोचना की जा रही है. इधर एनडीए गठबंधन में शामिल अाजसू की ओर से भी झारखंड स्वाभिमान यात्रा की शुरुआत की गयी है. पार्टी की ओर से बुंडू में भगवान बिरसा मुंडा की आदमकद प्रतिमा का निर्माण कराया जा रहा है. आजसू पार्टी की ओर से सरकार की नीतियों पर सवाल उठाये जा रहे हैं. 
दूसरी तरफ कांग्रेस में चुनाव से पहले प्रदेश स्तर पर सांगठनिक विस्तार करने काे लेकर तैयारी चल रही है. पार्टी नयी टीम के साथ चुनाव में उतरने की तैयारी कर रही है. प्रदेश स्तर पर तीन-चार कार्यकारी अध्यक्ष बनाने की बात चल रही है. पार्टी इसके लिए कुछ आदिवासी नेताओं की तलाश कर रही है.
 

Advertisement

Comments

Advertisement