Advertisement

ranchi

  • Jul 15 2019 7:53AM
Advertisement

रांची : प्राथमिक से लेकर इंटर कॉलेज तक के शिक्षक हुए आंदोलित, सरकार पर शिक्षकों की अनदेखी करने का लगाया आरोप

रांची : प्राथमिक से लेकर इंटर कॉलेज तक के शिक्षक हुए आंदोलित, सरकार पर शिक्षकों की अनदेखी करने का लगाया आरोप
राज्य के प्राथमिक से लेकर इंटर कॉलेज तक के शिक्षकों ने आंदोलन की घोषणा की है. प्राथमिक शिक्षक सभी जिला मुख्यालय पर धरना देंगे, जबकि पारा शिक्षक विधानसभा के समक्ष धरना देंगे. वित्त रहित हाइस्कूल व इंटर कॉलेज के शिक्षकों ने भी चरणबद्ध आंदोलन चलाने की घोषणा की है. इसके तहत 22 जुलाई वित्त रहित स्कूल-कॉलेज के शिक्षक और कर्मचारी हड़ताल पर रहेंगे.
 
प्राथमिक विद्यालय के शिक्षकों ने रखी अपनी मांगें

तीन अगस्त को सभी जिला मुख्यालय के समक्ष धरना देंगे शिक्षक 

31 अगस्त को सीएम आवास का घेराव करेंगे शिक्षक 
 
रांची : अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ की बैठक रविवार को जिला शिक्षा कार्यालय परिसर में हुई. बैठक में शिक्षकों की समस्याओं का समाधान नहीं होने पर आक्रोश जताया गया. 
 
संघ ने सरकार के खिलाफ आंदोलन की घोषणा की. बैठक में निर्णय लिया गया कि तीन अगस्त को सभी जिला मुख्यालय पर शिक्षक धरना देंगे. 31 अगस्त को शिक्षक मुख्यमंत्री आवास का घेराव करेंगे. संघ ने पलामू के जिला शिक्षा पदाधिकारी की एक सप्ताह के अंदर स्थानांतरण की मांग की है. 
 
स्थानांतरण नहीं होने पर शिक्षक विधानसभा के समक्ष धरना देंगे. संघ की मुख्य मांगों में प्रस्तावित प्रोन्नति नियमावली में बदलाव, शिक्षकों के साथ नियमावली को लेकर बनी सहमति को लागू करना, अंतर जिला स्थानांतरण में 5 वर्ष  के सेवा अनुभव को शिथिल करना, अनुकंपा के आधार पर नियुक्त शिक्षकों को नियुक्ति तिथि से ग्रेड वन का लाभ देना और पुरानी पेंशन स्कीम को लागू करना शामिल हैं. 
 
बैठक में संघ के अध्यक्ष बिजेंद्र चौबे, राममूर्ति ठाकुर, नसीम अहमद, असदुल्लाह, अनूप केशरी,संतोष कुमार,दीपक दत्ता, अनिल कुमार सिंह, राकेश कुमार, अजय सिंह,अनिल खलखो,सच्चिदानंद सिंह, विपिन कुमार, माणिक प्रसाद,संजय कुमार और श्यामसुंदर सिंह समेत अन्य शिक्षक शामिल हुए.
 
1250 वित्त रहित स्कूल-कॉलेजों में 22 को रहेगी हड़ताल, 24 को लगायेंगे काला िबल्ला
 
रांची. झारखंड राज्य वित्त रहित शिक्षा संयुक्त संघर्ष मोर्चा की बैठक रविवार को डॉ सुरेंद्र झा की अध्यक्षता में हुई. बैठक में वित्त रहित शिक्षण संस्थानों की समस्याओं पर विचार किया गया. 
 
मौके पर मांगों को लेकर चरणबद्ध आंदोलन करने का निर्णय लिया गया. बैठक में 22 जुलाई को राज्य के 1250 वित्त रहित स्कूल-कॉलेजों में हड़ताल का निर्णय लिया गया. हड़ताल में इंटर कॉलेज, स्थापना अनुमति प्राप्त हाइस्कूल और मदरसा व मध्यमा के शिक्षक शामिल होंगे. मोर्चा के रघुनाथ सिंह ने बताया कि सरकार उनकी मांगों को लेकर गंभीर नहीं है. 
 
24 जुलाई को शिक्षक काला बिल्ला लगाकर पठन-पाठन करेंगे. मोर्चा 24 जुलाई को विधानसभा के समक्ष धरना  देगा. नौ अगस्त को राजभवन के समक्ष धरना और 15 के बाद राजभवन के समक्ष आमरण-अनशन के साथ पांच सितंबर को शिक्षक दिवस पर मुख्यमंत्री आवास का घेराव किया जायेगा.
 
दो अक्तूबर को स्कूल-कॉलेज के प्राचार्य अपने-अपने शिक्षण संस्थान में ताला बंदकर चाबी अपने क्षेत्र के सांसद और विधायक को सौंप देंगे. सदस्यों ने कहा कि सरकार की ओर से कभी भी समस्या के समाधान के लिए पहल नहीं की गयी. बैठक में अरविंद कुमार सिंह, विजय झा, देवनाथ सिंह, नरोत्तम सिंह, असफाक आलम, मनीष कुमार, नरेश घोष, पीके सिंह आदि मौजूद थे.
 
गैर सरकारी स्कूल संचालक संघ भी करेगा आंदोलन
 
रांची. झारखंड गैर सरकारी स्कूल संचालक संघ ने आंदोलन की घोषणा की है. संघ के केंद्रीय अध्यक्ष राम प्रकाश तिवारी ने कहा है कि राज्य सरकार ने शिक्षा का अधिकार अधिनियम में संशोधन किया है. 
 
नियमावली में संशोधन के बाद स्कूलों को शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत मान्यता मिलना और भी कठिन हो गया है. इसके विरोध में राज्यभर के निजी स्कूल संचालक 24 जुलाई को माेरहाबादी से विधानसभा तक विरोध मार्च निकालेंगे. नियमावली में बदलाव नहीं किये जाने पर आंदोलन और उग्र किया जायेगा.
 
रांची : 23 से विधानसभा का घेराव करेंगे पारा शिक्षक
 
रांची : राज्य के पारा शिक्षक 23 से 26 जुलाई तक विधानसभा का घेराव करेंगे. पारा शिक्षक अपनी मांगों को लेकर चरणबद्ध आंदोलन चला रहे हैं. यह निर्णय एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा की बैठक में लिया गया.
 
पारा शिक्षक विधानसभा सत्र के दौरान 23 से 26 जुलाई तक विधानसभा का घेराव करेंगे. 23 जुलाई को उत्तरी छोटानागपुर प्रमंडल, 24 को पलामू, 25 को संताल परगना प्रमंडल और 26 को दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल के पारा शिक्षक विधानसभा का घेराव करेंगे. 15 से 22 जुलाई तक पारा शिक्षक अपने-अपने क्षेत्र के विधायक और सांसद को मांग पत्र सौंपेंगे. 
 
सांसद व विधायक को अपनी मांगों के बारे में बतायेंगे.  इनकी ओर से शिक्षक प्रशिक्षण परीक्षा में सफल नहीं हुए शिक्षकों को एक और मौका देने, समझौते के अनुरूप पारा शिक्षकों को वेतनमान देने व सेवाशर्त नियमावली बनाने, आंदोलन के दौरान पारा शिक्षकों पर हुए मुकदमे को वापस लेने और मृत पारा शिक्षकों के परिजनों को जल्द मुआवजा राशि देने की मांग की जा रही है. एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के हृषिकेश पाठक ने शिक्षकों के बकाया मानदेय का जल्द भुगतान करने की मांग की है. पारा शिक्षकों के चार माह का मानदेय बकाया है. फरवरी, मार्च, मई और जून माह का मानदेय पारा शिक्षकों को नहीं मिला है. जिससे काफी परेशानी हो रही है. 
 
आज धरना देंगे पारा िशक्षक 
 
रांची. एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के सदस्य सोमवार को राज्य शिक्षा परियोजना कार्यालय के समक्ष धरना देंगे. विनोद बिहारी महतो के नेतृत्व में आंदोलन किया जा रहा है. धरना में राज्यभर के पारा शिक्षक भाग लेंगे.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement