Advertisement

ranchi

  • Sep 12 2018 7:44AM

बच्चे को मौत के मुंह से खींच लाने वाली सहिया को सीएम रघुवर दास ने दिया इनाम, पीएम मोदी ने की थी तारीफ

बच्चे को मौत के मुंह से खींच लाने वाली सहिया को सीएम रघुवर दास ने दिया इनाम, पीएम मोदी ने की थी तारीफ
रांची/जमशेदपुर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को देशभर के सहिया, आशा और अांगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये बात कर रहे थे. जब झारखंड की बारी आयी तो सरायकेला के उरमाल की रहनेवाली सहिया कार्यकर्ता मनीता देवी ने एक घटना की जानकारी पीएम मोदी को दी.  इससे पीएम हैरान रह गये. उन्होंने सहिया की तारीफ की. इधर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इस पर ट्वीट भी किया और सहिया मनीता को एक लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की.

पीएम से बातचीत के दौरान मनीता ने बताया कि वह 2006 से सरायकेला में सहिया का काम कर रही है. मनीता ने बताया कि उसने उरमाल इलाके में रहने वाली मनीषा देवी का प्रसव पूर्व सारी जांच की थी. 27 जुलाई 2018 को रात दो बजे उसे मनीषा के प्रसव पीड़ा के बारे में बताया गया. जब तक मनीता मनीषा के घर पहुंचती, तब तक उनका प्रसव हो चुका था. प्रसव के बाद बच्चा रो नहीं रहा था. घरवाले बोल रहे थे कि बच्चा मरा हुआ है. 
 
पीएम ने दिखायी जिज्ञासा : फिर पीएम ने जिज्ञासावश पूछा कि अच्छा सब लोगों ने मान लिया था कि बच्चा मर चुका है. मनीता ने कहा : जी सर. पीएम ने कहा, अच्छा फिर क्या हुआ. मनीता ने आगे बताया कि जब वह मनीषा के घर पहुंची तो उन्होंने घरवाले से बच्चा दिखाने की जिद की. तब मनीषा के घरवाले बोले कि तुम मृत बच्चा देखकर क्या करोगी. इसके बाद भी मनीता ने बच्चा दिखाने की जिद जारी रखी. मनीता की जिद पर मनीषा के घरवालों ने उसे बच्चा दे दिया. जब बच्चा मनीता की गोद में आया तो उसने देखा कि बच्चे की धड़कन धीरे-धीरे चल रही है. 
 
सक्सन पाइप के जरिए गंदा पानी निकाला : तब मनीता ने जल्दी से एक सक्सन पाइप के जरिए बच्चे के नाक और मुंह से गंदा पानी निकाला और इसके तुरंत बाद बच्चा रोने लगा. मनीता ने कहा कि बच्चे को रोते हुए देखकर मुझे बहुत खुशी हुई.  मनीता ने बच्चे की मां को उसे अपना दूध पिलाने को कहा. इसके बाद 108 एंबुलेंस से नवजात और मां को अस्पताल ले जाया गया, जहां दोनों का इलाज हुआ.

झुग्गी झोपड़ी में पैदा हुए खिलाड़ियों ने एशियन गेम्स में देश का नाम रोशन किया : पीएम मोदी ने इस चर्चा के दौरान एशियाई खेलों में भारतीय खिलाड़ियों द्वारा मेडल जीतने का भी जिक्र किया.  उन्होंने कहा कि इस बार के एशियाड में कितने ही गरीब खिलाड़ियों ने देश का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया. देश को मेडल दिलाया. पीएम ने कहा, 'झुग्गी झोपड़ी में पैदा हुए खिलाड़ियों ने देश का नाम रोशन किया. खेल के मैदान में इन खिलाड़ियों ने अपनी ताकत दिखाई. इसका क्रेडिट भी कहीं न कहीं आशा वर्कर और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को जाता है, क्योंकि उन मेडलवीरों के जन्म से लेकर शुरुआती दिनों में आपने उनकी चिंता की. आप कल्पना कर सकते हैं कि आपने देश को गोल्ड मेडल दिलवाया है. ये आपके कारण हुआ है, इसीलिए मैं आपका गौरवगान करता रहता हूं.
 
सहिया को एक लाख रुपये इनाम मिलेगा : रघुवर दास
 
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी ने झारखंड की आंगनबाड़ी बहनों से सीधा संवाद किया. प्रधानमंत्री जी ने सरायकेला की सहिया बहन मनीता को एक बच्चे का सही वक्त पर इलाज कर एक नया जीवनदान दिये जाने के पुनीत कार्य के लिए बधाई दी है. मुख्यमंत्री  ने कहा कि सहिया बहन मनीता ने बच्चे का सही वक्त पर इलाज कर एक नया जीवनदान दिया. बहन मनीता और आंगनबाड़ी में समाज सेवा में जुटी तमाम बहनों को मेरा अभिवादन. अपने लगन और कर्तव्यनिष्ठा से बहन मनीता दूसरे के लिए मिसाल बनी. झारखंड सरकार की ओर से उन्हें एक लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जायेगी.

बच्चे के रोने की आवाज सुन खुशी से रो पड़े थे परिजन
 
सरायकेला के उरमाल गांव 
की रहनेवाली मनीषा देवी ने  27 जुलाई को रात दो बजे 
बच्चे को जन्म दिया
प्रसव के दौरान नहीं रोया बच्चा, तो परिजनों ने मृत समझ लिया
मनीता ने बच्चे को देखा तो पाया कि धड़कन धीरे-धीरे चल रही थी
सक्सन पाइप से उसने बच्चे के नाक और मुंह से गंदा पानी निकाला और बच्चा रोने लगा 

प्रधानमंत्री ने ताली बजाई, की तारीफ 
 
बच्चे को बचाने की घटना को सुनने के बाद पीएम मोदी ने ताली बजाई और मनीता की तारीफ की. पीएम ने फिर दोबारा पूछा आपका शुभ नाम क्या है. 
 
तब मनीता ने कहा, मनीता. पीएम ने कहा नमिता...न सर मनीता. अच्छा मनीता जी देशवासी इस बात को सुन रहे हैं. पीएम ने कहा कि कोई कल्पना कर सकता है कि आदिवासी इलाके में पैदा हुई मेरी बेटी मनीता ने अपनी सामान्य बुद्धि से, जब परिवार ने मान लिया था कि बच्चा मर चुका है. लेकिन उसने अपना विश्वास नहीं खोया और बच्चे को बचा लिया. जो एक  डॉक्टर हिम्मत कर सकता है, वह हिम्मत बेटी  मनीता ने दिखाई. बहुत बड़ा काम किया है. 

आपने जीवन बचाया, प्रणाम करता हूं 
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सहिया मनीता देवी से कहा कि आपने जीवन बचाने का काम किया है. मुझे विश्वास है जीवन देने और जीवन बचाने वाला भगवान से कम नहीं होता. आपको विशेष रूप से प्रणाम करता हूं.  इसके बाद मनीता ने पीएम मोदी को उस बच्चे और उसकी मां को भी दिखाया. पीएम ने कहा कि बच्चे को बहुत आशीर्वाद है. उन्होंने बच्चे की मां की तारीफ भी की कि उन्होंने सहिया नमिता पर भरोसा किया. 

Advertisement

Comments