Advertisement

ranchi

  • Jun 13 2018 7:35AM

रांची : नगड़ी में दिखा पुलिस का धैर्य, विफल हुई सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की साजिश

रांची : नगड़ी में दिखा पुलिस का धैर्य, विफल हुई सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की साजिश
ग्रामीण एसपी और समाजसेवियों ने दोनों वर्गों के लोगों को समझा-बुझा कर शांत कराया
 
रांची, पिस्कानगड़ी : नगड़ी में कुछ असामाजिक तत्वों ने फिर एक बार सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की कोशिश की, लेकिन अमन पसंद लोगों ने माहौल को बिगाड़ने से बचाया. मंगलवार की सुबह धार्मिक स्थल परिसर में जानवर की हड्डी मिलने के बाद एक पक्ष के लोगों ने दूसरे पक्ष के लोगों के साथ मारपीट शुरू कर दी. पहले पक्ष का आरोप था कि बार-बार उनके धार्मिक स्थल को निशाना बनाया जाता है. गत वर्ष 20 फरवरी को भी प्रतिबंधित मांस का टुकड़ा फेंका गया था. तब भी लोगों ने नाराजगी जतायी थी. 
 
इधर, घटना को लेकर आक्रोशित ग्रामीण नगड़ी थाना का घेराव करने पहुंचे. सभी थाने के सामने बैठ कर दोषियों की पहचान करने और उन पर कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे थे. इस बीच थाने में बैठे लोगों को किसी ने सूचना दी कि नगड़ी मेन चौक पर पत्थरबाजी हो रही है. इसके बाद थाने से उठ कर ग्रामीण और पुलिस नगड़ी चौक पहुंचे. वहां उन्होंने देखा कि  लोग पत्थर फेंक  रहे हैं और एक दूसरे को गालियां दे रहे हैं. पुलिस ने वहां धैर्य का परिचय दिया और दोनों पक्षों को समझा-बुझा कर मामला शांत कराया. 
 
इस बीच यह अफवाह भी फैलायी गयी कि नगड़ी बाजार में किसी को मार दिया गया है. इसके बाद इलाके में तनाव फैल गया और दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर हमला करना शुरू कर दिया. घटना के दौरान पुलिस के जवान से लेकर डीएसपी और थानेदार तक मौजूद थे. इस दौरान पुलिस ने उपद्रवियों को खदेड़ा जरूर, लेकिन उन पर लाठीचार्ज नहीं किया. 

ग्रामीण एसपी ने जवानों से कहा : बल प्रयोग नहीं करें, धैर्य बनाये रखें 
 
इधर, मामला बिगड़ने की सूचना मिलने पर ग्रामीण एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग भी घटनास्थल पर पहुंचे. उन्होंने जवानों को समझाया कि बल प्रयोग करने से मामला बिगड़ सकता है. इसलिए आपलोग धैर्य बनाये रखिये. इसके बाद ग्रामीण एसपी मंदिर चौक पहुंचे. वहां उन्होंने बुजुर्गों से अपील करते हुए कहा कि आपलोग अपने-अपने पक्ष के लोगों से अपील कीजिये कि वे सड़क पर नहीं रहें. घर चले जायें. ग्रामीण एसपी की अपील पर  दोनों पक्ष के लोग अपने-अपने पक्ष के लोगों को समझाने लगे. 
 
क्षेत्र के समाजसेवी लाल प्रेम प्रकाश नाथ शाहदेव, नगड़ी के जिला परिषद सदस्य एनुल हक, समाजसेवी शशिभूषण भगत, तपेश्वर केसरी, केदार महतो, विजय महतो, चुड़ामनी महतो, दिलरूबा हुसैन, प्रमोद लाल, मंगल उरांव सहित अन्य लोगों ने दोनों समुदाय के लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की. एनुल हक ने बताया कि इस तरह की घटना में गांव के किसी व्यक्ति का हाथ नहीं होता है. कुछ लोग गांव में बाहर से आ जाते हैं. इस कारण आम लोगों को समस्या का सामना करना पड़ता है. इधर, माहौल शांत होने के बाद देर शाम तक नगड़ी इलाके की अधिकांश दुकानें खुल गयीं.
 
नारो बाजार से लेकर मंदिर चौक तक का इलाका बना रहा रणक्षेत्र
 
रांची : नगड़ी में धार्मिक स्थल से जानवर की हड्डी मिलने के बाद नारो बाजार से लेकर नगड़ी मंदिर चौक के बीच करीब एक किलोमीटर का इलाका रणक्षेत्र में तब्दील रहा. 
 
दोनों पक्ष के लोग एक दूसरे से इतने आक्रोशित थे कि वे घर से लाठी, बांस और बल्ली निकाल कर सड़क पर आते और हंगामा करते रहे. इस दौरान एक दूसरे पर पत्थरबाजी भी की गयी. हंगामा के दौरान कुछ महिलाएं भी सड़क पर उतर आयीं. उपद्रवियों ने राहगीरों के वाहन में भी तोड़-फोड़ की़  राहगीरों को भी डंडा लेकर दौड़ाया.
 
इस कारण एक किलोमीटर तक इलाके में भगदड़ की स्थिति बनी रही. हंगामा होने के कारण कई लोग तो अपने-अपने घरों में दुबके रहे. इधर, नगड़ी होते बेड़ो और वहां से लोहरदगा जाने वाले कई वाहन चालक नारो बाजार से पहले से ही वापस कटहल मोड़ की ओर लौट आये. नगड़ी थाना में जहां एक ओर पुलिस के कई जवान सुरक्षा में तैनात थे. वहीं दूसरी ओर उपद्रवी नगड़ी थाना के बाहर हंगामा करते रहे. 
 
हंगामा करनेवाले एक पक्ष को जहां नगड़ी थाना के आगे डीएसपी विजय सिंह संभालने में लगे थे. वहीं दूसरे पक्ष को मंदिर चौक के पास नगड़ी थाना प्रभारी राम नारायण सिंह ने संभाल रखा था. पुलिस ने सूझ-बूझ कर परिचय देते हुए दोनों पक्ष को आमने-सामने नहीं आने दिया. इस कारण कोई बड़ी घटना नहीं हुई. मेन रोड की प्रत्येक गली और भीड़-भाड़ वाले इलाके में पुलिस के जवान कैंप किये हुए थे.

नगड़ी इलाके में 100 अतिरिक्त पुलिस तैनात
 
रांची : नगड़ी में दो पक्षों के बीच हुए विवाद के बाद इलाके की सुरक्षा बढ़ा दी गयी है. पुलिस अधिकारियों के अनुसार इलाके में 100 अतिरिक्त जवानों की तैनाती की गयी है. उन्हें हर छोटी बात की भी सूचना पुलिस अधिकारियों को देने का निर्देश दिया गया है.
 
सुरक्षा में तैनात जवानों को असामाजिक लोगों की गतिविधियों पर निगरानी रखने को कहा गया है. इलाके में धार्मिक स्थल के आसपास भी फोर्स तैनात कर दिया गया है. मुख्यालय डीएसपी टू विजय सिंह खुद पुलिस के अन्य अफसरों के साथ इलाके में कैंप कर रहे हैं. डीआइजी एवी होमकर, एसएसपी कुलदीप द्विवेदी पूरे मामले की मॉनिटरिंग कर रहे हैं. पुलिस ने संवेदनशील इलाके और मेन रोड में गश्त भी बढ़ा दी है. 
 
इलाके की स्थिति की समीक्षा करने के बाद पुलिस अधिकारी सुरक्षा में तैनात जवानों को हटाने का निर्णय बाद में लेंगे. एसएसपी कुलदीप द्विवेदी ने बताया कि दोषियों को चिह्नित कर कार्रवाई करने का निर्देश स्थानीय पुलिस को दिया गया है. उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि वे छोटी-मोटी बात को लेकर तनाव नहीं फैलायें. उन्होंने दोनों पक्ष के प्रबुद्ध लोगों से भी बेवजह अफवाह फैलानेवालों को रोकने की अपील की है. साथ ही इलाके में शांति व्यवस्था बनाये रखने में पुलिस की मदद करने का आग्रह किया है.
 
कांग्रेस नेता ने की शांति की अपील
 
रांची. नगड़ी में असामाजिक तत्वों द्वारा सांप्रदायिक सौहार्द व सदभावना बिगाड़ने के प्रयासों की जानकारी मिलते ही प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दुबे ने नगड़ी क्षेत्र का दौरा किया. साथ ही बाजार में घूम-घूम कर आम लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की. श्री दुबे ने कहा कि पिस्का नगड़ी को अशांत करने की कोशिशों को बड़ी मुस्तैदी से पुलिस प्रशासन व स्थानीय अमन पसंद लोगों ने विफल कर दिया. श्री दुबे ने कहा कि कुछ लोग एक षड्यंत्र के तहत शहर को बदनाम करना चाहते हैं. ऐसे लोगों को चिह्नित कर कठोर कार्रवाई की जाये. कांग्रेस नेता फिरोज रिजवी मुन्ना, संजीत यादव, राजकुमार, नगड़ी प्रखंड के कांग्रेस अध्यक्ष राम वरण महतो, तपेश्वर केसरी, मोकिम अंसारी श्री दुबे के साथ  थे.
 
नगड़ी मामले में दर्ज होंगे तीन केस
 
रांची. नगड़ी में धार्मिक स्थल के परिसर से जानवर की हड्डी मिलने के बाद दो पक्षों के बीच हुए विवाद, मारपीट, पत्थरबाजी और तोड़फोड़ मामले में पुलिस तीन केस दर्ज करेगी. मंगलवार की देर रात तक केस दर्ज करने की तैयारी नगड़ी थाना प्रभारी राम नारायण सिंह ने शुरू कर दी है.
 
असामाजिक तत्वों पर कार्रवाई हो :  भाजपा
 
रांची : भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि रघुवर सरकार के विकास कार्यों से बौखला कर कुछ असामाजिक तत्व लगातार राज्य के माहौल को अशांत करने की कोशिश कर रहे हैं. पहले मेन रोड में शांतिपूर्वक जा रहे जुलूस के साथ पत्थरबाजी और मारपीट हुई और आज नगड़ी में माहौल को विषाक्त करने की कोशिश की गयी. इससे स्पष्ट है कि कुछ लोग धार्मिक उन्माद फैलाने में लगे हुए हैं. यही असामाजिक तत्व प्रदेश की छवि  बदनाम करने के लिए  हर हथकंडे अपना रहे हैं. प्रशासन को ऐसे लोगों को तत्काल चिह्नित कर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए.
 
वामदलों ने निकाला सदभावना मार्च
 
रांची : राजधानी रांची में सांप्रदायिक ताकतों द्वारा नफरत फैलाने एवं एक-दूसरे समुदाय के लोगों के साथ मारपीट करने के विरोध में वामदलों ने मंगलवार को सदभावना मार्च निकाला. धर्म के नाम पर माहौल बिगाड़ने के खिलाफ वामदलों ने शहीद चौक से अलबर्ट एक्का चौक तक शांति, एकता और अमन चैन का संदेश का पोस्टर लेकर मार्च निकाला. इस अवसर पर माकपा के राज्य सचिव गोपीकांत बक्शी ने कहा कि खुशी और सदभाव का त्योहार ईद के मौके पर जानबूझकर भाजपा द्वारा मेन रोड में जुलूस निकालकर सांप्रदायिक तनाव पैदा करने की साजिश की गयी है. रांची सहित झारखंड की अमन पसंद जनता इनके मनसूबे को कामयाब नहीं होने देगी.  
 
झारखंड को गुजरात नहीं बनने देगी. कार्यक्रम में माकपा के प्रकाश विप्लव, मो इकबाल, प्रफुल्ल लिंडा, सुफल महतो, संजय पासवान, सुखनाथ लोहरा, वीणा लिंडा, माले के राज्य सचिव जनार्दन प्रसाद, शुभेंदु सेन, भुनेवश्वर केवट, उमेश नजीर, आलोका, डीवाइएफआइ के सुभाष मुंडा, विकास ठाकुर, सुरेंद्र राम, मोहन मंडल, अमित मुंडा, शमीउल्ला अंसारी, किसुन उरांव सहित दर्जनों लोग उपस्थित थे.

केंद्रीय शांति समिति की बैठक आज
 
रांची : केंद्रीय शांति समिति की बैठक 13 जून को समाहरणालय सभागार में बुलायी गयी है. बैठक की अध्यक्षता डीसी राय महिमापत रे करेंगे. यह जानकारी एडीएम विधि व्यवस्था अखलेश कुमार ने दी. 
 

Advertisement

Comments