Advertisement

ranchi

  • Sep 12 2019 8:06AM
Advertisement

नये ट्रैफिक नियम को लेकर केंद्र से आग्रह : महाराष्ट्र, बंगाल में ‘ना’ झारखंड में होगा विचार, जल्द राहत संभव

नये ट्रैफिक नियम को लेकर केंद्र से आग्रह : महाराष्ट्र, बंगाल में ‘ना’ झारखंड में होगा विचार, जल्द राहत संभव
मुंबई/रांची/पटना : कई दिनों से देशभर में नये ट्रैफिक नियमों को लेकर बहस जारी है. कई राज्य नये नियम को लागू करने से मना कर चुके हैं. यहां तक कि भाजपा शासित राज्य भी अब इस नियम को लागू करने से कतरा रहे हैं. 
 
महाराष्ट्र सरकार ने नये मोटर व्हीकल एक्ट को लागू करने से इंकार किया है, वहीं गुजरात के बाद अब उत्तराखंड ने भी जुर्माने की राशि आधी कर दी है. प बंगाल ने इसे लागू करने से मना कर दिया है. महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री दिवाकर रावते ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को चिट्ठी लिख कहा है कि नये एक्ट से राज्य में आक्रोश की स्थिति पैदा हो सकती है, लिहाजा वे राज्य में नये एक्ट को तत्काल लागू करने में असमर्थ हैं. 
 
रावते ने गडकरी से इस पर पुनर्विचार करने का भी आग्रह किया है. रावते ने कहा कि चिट्ठी का जवाब आने तक महाराष्ट्र में नया ट्रैफिक चालान नियम लागू नहीं होगा़ राज्य के मुख्यमंत्री ने भी इस संबंध में गडकरी को पत्र लिखा है और जुर्माने की राशि कम करने का आग्रह किया है़  
 
कई राज्य पहले ही कर चुके हैं इंकार : कई अन्य राज्य भी इसे लागू करने से बच रहे हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी अब नये नियमों को लागू करने से इंकार कर दिया है. इसके अलावा राजस्थान, छत्तीसगढ़ पंजाब और मध्यप्रदेश में भी नये मोटर व्हीकल एक्ट को लागू नहीं किया गया है. 
 
ज्यादातर राज्यों का कहना है कि जुर्माने की राशि को कम किया जाना चाहिए. वहीं, दिल्ली सरकार भी ऐसे कुछ जुर्माने कम करने पर विचार कर रही है, जिन्हें मौके पर चुकाया जा सकता है. दिल्ली सरकार फिलहाल इस एक्ट के तहत अपने अधिकारों की स्टडी कर रही है़
 
झारखंड : जल्द राहत संभव, परिवहन मंत्री सीपी सिंह ने दिये संकेत
 
मोटरयान (संशोधन) बिल 2019 के प्रावधानों से लोगों को हो रही परेशानी से झारखंडवासियों को भी राहत मिल सकती है. राज्य के परिवहन सह नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने बुधवार को कहा कि ट्रैफिक के नये नियम को लेकर लोगों को परेशानी हो रही है. 
 
इसको देखते हुए लोगों को राहत देने के लिए कदम उठाये जा रहे हैं. कुछ दिनों में इस पर निर्णय लिया जायेगा. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सभी दोपहिया वाहन चालक हेलमेट पहनें और कार चालक सीट बेल्ट का इस्तेमाल करें. जान बेशकीमती है.
 इसलिए इसका बचाव जरूर करें. विभागीय सूत्रों के मुताबिक नये ट्रैफिक नियम का अध्ययन किया जा रहा है.
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement