Advertisement

ranchi

  • Sep 17 2019 6:30PM
Advertisement

नागपुरी साहित्‍य संस्‍कृति मंच ने TRL के नये विभागाध्‍यक्ष डॉ हरि उरांव को किया सम्‍मानित

नागपुरी साहित्‍य संस्‍कृति मंच ने TRL के नये विभागाध्‍यक्ष डॉ हरि उरांव को किया सम्‍मानित
photo pk

रांची : नागपुरी साहित्‍य संस्‍कृति मंच की ओर से 17 सितंबर को जनजातीय एवं क्षेत्रीय भाषा विभाग के नये विभागाध्‍यक्ष डॉ हरि उरांव को सम्‍मानित किया गया. विभाग के सभागार में आयोजित सम्‍मान समारोह में अंडमान से सिल्‍वेस्‍तर भेंगरा और उनकी पत्नी विमला टोप्‍पो भी शामिल हुए. भेंगरा अंडमान में नागपुरी भाषा साहित्‍य और आदिवासियों के अस्तित्‍व को बचाने के लिए काम कर रहे हैं.

कार्यक्रम में झारखंड के प्रसिद्ध गायक व वादक श्री क्षितिश कुमार राय ने कुडूख में स्‍वागत गान प्रस्‍तुत किया. गीत के माध्‍यम से उन्‍होंने संदेश दिया कि भाषा, साहित्‍य संस्‍कृति के विकास के लिए नये अध्‍यक्ष को बड़ा दायित्‍व सौंपा गया है.

मौके पर आकाशवाणी रांची की वरिष्‍ठ उद्घोषिका और नागपुरी भाषा की साहित्‍यकार शकुंतला मिश्रा ने कहा, आशा है डॉ हरि उरांव विभाग में जिस तरह से कई महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया है, उसी परंपरा का निर्वहन अध्‍यक्ष के रूप में भी करेंगे. साथ ही साथ विभाग की प्रतिष्‍ठा को देश-विदेश में पहुंचाने का काम करेंगे.

शकुंतला मिश्र ने आगे कहा, झारखंड में जनजातीय एवं क्षेत्रीय भाषाओं का मान-सम्‍मान बनी रहे, शोध कार्य, अन्‍वेषण सहित सभी गतिविधियों में विभाग अग्रिम पंक्ति में खड़ा रहे.

झारखंड के प्रसिद्ध गायक मधु मंसुरी हंसमुख ने अपनी गीतों के माध्‍यम से भाषा, संस्‍कृति में हो रहे आघात को बतलाया. डॉ रामप्रसाद ने इस मौके पर गुरु-शिष्‍य परंपरा को याद किया.

आकाशवाणी रांची के कलाकार कृष्‍णजीवन पौराणिक ने 'नागपुरी बोली अति प्‍यारी' गीत से सभी मौजूद लोगों को आनंदित कर दिया. गीत के माध्‍यम से उन्‍होंने कहा, विभाग कई हस्तियों को जन्‍म दिया है. आशा है नये विभागाध्‍यक्ष डॉ हरि उरांव भी उसी परंपरा को आगे बढ़ाएंगे.

इस मौके पर सिल्‍वेस्‍टर भेंगरा ने अंडमान में नागपुरी और आदिवासी साहित्‍य को बचाकर रखने में उनके द्वारा किये गये प्रयास को बतलाया. विभाग के वरीय प्राध्‍यापक डॉ उमेश नंद तिवारी ने डॉ हरि उरांव के साथ पूर्व संबंधों तथा शैक्षिक, भाषायी गतिविधियों और संयुक्‍त रूप से किये गये कार्यों को बताया. साथ ही उन्‍होंने नागपुरी साहित्‍य संस्‍कृति मंच को भी ऐसे आयोजन के लिए धन्‍यवाद दिया. इस अवसर पर मंच की ओर से अंडमान से आये साहित्‍य सेवी, सिल्‍वेस्‍तर भेंगरा और उनकी पत्नी विमला टोप्‍पो को पुष्‍प गुच्‍छ व शॉल देकर सम्‍मानित किया गया.

कार्यक्रम में क्षितिश कुमार राय, महावीर नायक, डॉ रामप्रसाद, शकुंतला मिश्र, सिल्‍वेस्‍तर भेंगरा, विमला टोप्‍पो, मधु मंसुरी, कृण्‍ण जीवन पौराणिक, डॉ संजय कुमार षाडंगी, डॉ प्रभात रंजन तिवारी, संतोष कुमार, विजय कुमार, डॉ निरंजन महतो, डॉ राकेश किरण, शैलजा बाला, डॉ अंजू कुमारी साहू, डॉ मंजू, युगेश कुमार महतो, कोरनेलियुस मिंज, सुभाष साहू, किशोर सुरीन आदित्‍य और मनोच कच्‍छप आदि लोग शामिल थे.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement