Advertisement

ranchi

  • Apr 16 2018 8:34AM

झारखंड : ग्रामीण सड़क के 1000 करोड़ रुपये से अधिक का टेंडर फंसा

झारखंड : ग्रामीण सड़क के 1000 करोड़ रुपये से अधिक का टेंडर फंसा
रांची : ग्रामीण सड़क की 1000 करोड़ से अधिक की योजनाअों का टेंडर फंसा हुआ है. योजनाअों का टेंडर निकाल दिया गया है. सारी योजनाएं टेंडर निष्पादन की प्रक्रिया में है, पर टेंडर का निष्पादन नहीं हो पा रहा है. 
 
वहीं बड़ी संख्या में ऐसी योजनाएं भी है, जिन्हें टेंडर में भेजा जाना है, लेकिन यह काम भी प्रभावित हो रहा है. विभागीय अभियंताअों का कहना है कि अगर जल्द टेंडर निष्पादन नहीं हुआ, तो योजनाअों का काम भी फंस जायेगा. 

क्यों फंसा हुआ है टेंडर 
 
जेएसआरआरडीए ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना का टेंडर निकाला है. करीब हर जिले में सड़क बनाने के लिए टेंडर निकला हुआ है.  वहीं  ग्रामीण कार्य विभाग से राज्य संपोषित योजना के तहत भी सड़क निर्माण की योजनाअों का टेंडर निकाला गया है. 
 
इस तरह 500 से अधिक योजनाअों का टेंडर निकाला गया है, पर इन योजनाअों के टेंडर निष्पादन के लिए अभियंता प्रमुख व मुख्य अभियंता नहीं हैं. अभियंता प्रमुख एक साल से नहीं हैं और जेएसआरआरडीए व ग्रामीण कार्य  विभाग में भी 31 मार्च के बाद से मुख्य अभियंता नहीं है. ऐसे में जब तक अभियंता प्रमुख व मुख्य अभियंता की पोस्टिंग नहीं हो जाती है, टेंडर निष्पादन लटका रहेगा. 
 
बरसात के बाद शुरू हो सकेगा काम
 
इंजीनियरों का कहना है कि अगर टेंडर निष्पादन में अभी भी विलंब हुआ, तो एग्रीमेंट, वर्क अॉर्डर सहित अन्य प्रक्रिया पूरी करते काफी समय हो जायेगा. यानी काम शुरू करने की स्थिति में जब ठेकेदार आयेंगे, तो बरसात का मौसम शुरू हो जायेगा. इस स्थिति में बरसात के बाद यानी अक्तूबर के पहले काम शुरू नहीं हो सकेगा. इस तरह योजनाअों का क्रियान्वयन करीब छह माह बाद होगा.
 

Advertisement

Comments

Advertisement