Advertisement

ranchi

  • Apr 28 2018 5:52AM

झारखंड : कुरमी-कुड़मी को एसटी में शामिल करने की मांग को लेकर कल होगा महाजुटान

झारखंड : कुरमी-कुड़मी को एसटी में शामिल करने की मांग को लेकर कल होगा महाजुटान

राजधानी पहुंचने के लिए लोगों को किया जा रहा है गोलबंद

रांची : राजधानी के मोरहाबादी मैदान में 29 अप्रैल को कुरमी-कुड़मी महाजुटान होगा. कुरमी-कुड़मी को आदिवासी का दर्जा देने की मांग को लेकर राज्य  भर से संबंधित जाति के लोग जुटेंगे. झारखंड कुरमी संघर्ष मोर्चा और विभिन्न संगठन के कार्यकर्ता महाजुटान को सफल बनाने में जुटे हैं. राज्यभर में प्रचार अभियान चलाया जा रहा है. राजधानी पहुंचने के लिए लोगों को गोलबंद किया जा रहा है. 

पिछले कई दिनों से राज्य के अलग-अलग हिस्सों में सभाएं और बैठकें कर अधिकारों के प्रति जागरूक किया जा रहा है. इधर, पूर्व सांसद व  संघर्ष मोर्चा के शैलेंद्र महतो ने कहा है कि लंबे समय से कुरमी एसटी में शामिल किये जाने की मांग को लेकर आंदोलित और उद्वेलित हैं. ऐतिहासिक उतार-चढ़ाव के बाद कुरमी जाति की यह लड़ाई उनके अस्तित्व की लड़ाई बन गयी है. कुरमी या कुड़मी के आंदोलन में किसी जाति के खिलाफ या किसी का अधिकार छीनने की बात नहीं है. 

हम अपने अस्तित्व और अस्मिता की रक्षा और विकास के लिए अपने ऐतिहासिक पुनर्रचना के लिए लड़ रहे हैं. श्री महतो ने कहा कि ऐतिहासिक दस्तावेज से साबित है कि हमारे सामाजिक और सांस्कृतिक बुनियाद में आदिवासियत है. श्री महतो ने कहा कि हमारे साथ विभिन्न राजनीतिक दलों के 42 विधायकों द्वारा हस्ताक्षरित मांग पत्र मुख्यमंत्री  रघुवर दास को सौंपा  गया है.  

उन्होंने कहा कि कुरमी संघर्ष मोर्चा का मानना है कि टीआरआइ की रिपोर्ट तथ्य विहीन है. यह सच्चाई से परे है. श्री महतो ने कहा है कि पहचान और अस्मिता की लड़ाई में बढ़चढ़ कर हिस्सा लें और अपने अधिकारों की आवाज बुलंद करने के लिए राजधानी पहुंचें.

भाजपा विधायक ने सीएम को लिखा पत्र

कुरमी-कुड़मी को एसटी में शामिल होने की मांग को लेकर भाजपा विधायक रामकुमार पाहन ने मुख्यमंत्री रघुवर दास को पत्र लिखा है़  श्री पाहन ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया है कि  संविधान के अनुच्छेद 342 के तहत एसटी की सूची में कुरमी-कुड़मी को शामिल करे़ं  उन्होंने कहा है कि अब तक 42 विधायकों ने हस्ताक्षरयुक्त पत्र आपको सौंपा है़   उस सूची में मैं भी अपने को शामिल करता हू़ं  श्री पाहन के समर्थन के बाद इस मांग के पक्ष में 43 विधायक हो गये है़ं

 

Advertisement

Comments

Advertisement