Advertisement

ranchi

  • Jan 8 2015 3:36AM

दिनेश उरांव स्पीकर बने, आसन संभाला

दिनेश उरांव स्पीकर बने, आसन संभाला
रांची : सिसई से भाजपा विधायक दिनेश उरांव सर्वसम्मति से स्पीकर चुन लिये गये. चौथी विधानसभा के पहले सत्र के दूसरे दिन प्रोटेम स्पीकर स्टीफन मरांडी ने उन्हें शपथ दिलायी. इसके बाद दिनेश उरांव ने आसन पर बैठ कर सदन का संचालन भी किया. सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद सबसे पहले विधायक साधु चरण महतो, एनोस एक्का, कुशवाहा शिवपूजन सहाय और ढुल्लू महतो को शपथ दिलायी गयी. इसके बाद प्रोटेम स्पीकर स्टीफन मरांडी ने स्पीकर पद के लिए दिनेश उरांव के पक्ष में दाखिल नामांकन की जानकारी सदन को दी.      
 
बताया कि दिनेश उरांव के पक्ष में सत्ता पक्ष और विपक्ष की ओर से पांच सेट में नामांकन दाखिल किया गया है. मुख्यमंत्री ने रखा प्रस्ताव : इसके बाद मुख्यमंत्री रघुवर दास ने दिनेश उरांव को स्पीकर बनाने का प्रस्ताव सदन में रखा. मंत्री लुईस मरांडी ने इसका समर्थन किया. इस पर सत्ता पक्ष और विपक्ष के सभी विधायकों ने अपनी सहमति जतायी. इसके बाद प्रोटेम स्पीकर स्टीफन मरांडी ने दिनेश उरांव को स्पीकर चुने जाने की घोषणा की. मुख्यमंत्री रघुवर दास और पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन उन्हें आसन तक ले गये.
 
सिर्फ एहसास है ये रूह से महसूस करो..
 
स्पीकर बनने के बाद दिनेश उरांव ने सदन को संबोधित किया. उन्होंने गुलजार के गाने की पंक्ति सिर्फ एहसास है ये रूह से महसूस करो, प्यार को प्यार ही रहने दो कोई नाम न दो.. से अपनी बात शुरू की. उन्होंने कहा : विधायकों ने जो जिम्मेदारी मुङो दी है, उससे मैं अभिभूत हूं. जिस ढंग से सदस्यों ने दलीय राजनीति की सीमा से परे हट कर आस्था और विश्वास व्यक्त करते हुए मुङो इस आसन पर बैठाया है. उससे मुङो गुरुत्तर दायित्व का बोध हो रहा है.
 
विधायकों के माध्यम से राज्य की साढ़े तीन करोड़ जनता का समर्थन और विश्वास मुङो प्राप्त है. इसके बल पर साधारण व्यक्ति भी असाधारण कार्य को सुगमता से संपन्न करने में सक्षम हो पायेगा. सत्ता पक्ष और विपक्ष का साथ होने के कारण मुङो सदन के संचालन में कोई कठिनाई नहीं होगी. सदन की गरिमा अक्षुण्ण रहे, इसको लेकर हर संभव प्रयास करूंगा.
 

Advertisement

Comments

Advertisement