Advertisement

ranchi

  • Sep 20 2019 6:24AM
Advertisement

मांगों को ले आंदोलित हैं कई संगठन, धरना-प्रदर्शन जारी

मांगों को ले आंदोलित हैं कई संगठन, धरना-प्रदर्शन जारी
अपनी मांगों को लेकर कई संगठनों ने हड़ताल पर जाने और धरना प्रदर्शन करने की घोषणा की है
अपनी-अपनी मांगों को लेकर राज्य के कई कर्मचारी संगठन आंदोलित हैं. आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका तो पिछले 16 अगस्त से आंदोलन कर रही हैं. अन्य कई संगठनों ने भी धरना-प्रदर्शन किया है. वहीं, कई संगठनों ने भी हड़ताल पर जाने और धरना प्रदर्शन करने की घोषणा की है.
 
एफडीआइ का किया विरोध, हड़ताल 24 को
 
रांची : कोल इंडिया की विभिन्न यूनियनों ने गुरुवार को प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआइ) के विरोध में जुलूस निकाला और विरोध दिवस मनाया. 
 
सीसीएल में निकाले गये इस जुलूस में यूनियन के पदाधिकारियों व सदस्यों ने हिस्सा लिया. एफडीआइ का निर्णय रद्द करने सहित अन्य मांगों के समर्थन में 24 सितंबर को कोल इंडिया में हड़ताल होनी है. इसकी तैयारी को लेकर भी चर्चा हुई. कार्यक्रम में एटक, एक्टू, सीटू, एचएमएस व इंटक के पदाधिकारी डीडी रामानंद, आरपी सिंह, शुभाशीष चटर्जी, धर्मेंद्र गोस्वामी, नंदू सिंह, हर्षवर्द्धन, अोम प्रकाश, रमेश प्रसाद, जगन्नाथ साह व अशोक यादव सहित अन्य शामिल थे.
 
हड़ताली राजस्व कर्मियों ने दिया धरना 
 
रांची : राज्य भर के  राजस्व उप निरीक्षक 15 दिनों से हड़ताल पर हैं. गुरुवार को राजस्व कर्मियों ने अंचल कार्यालय के समक्ष धरना दिया. वक्ताअों ने कहा कि जानकारी मिली है कि कुछ जिलों में जिला स्तर के पदाधिकारियों व अंचल अधिकारियों द्वारा राजस्व उप निरीक्षकों को प्रताड़ित करने का प्रयास किया जा रहा है. 
 
इसके खिलाफ आंदोलन को और तेज किया जायेगा. संघ के संरक्षक भरत सिन्हा व महामंत्री दुर्गेश मुंडा ने कहा कि हड़ताल के कारण राजस्व संबंधी सारा कामकाज ठप हो गया है. प्रमाण पत्र बनाने का काम भी प्रभावित है. धरना पर रवींद्र प्रसाद, संजय साहू, सुनील सिंह, बसंत भगत, जयवीर भगत, मंजू एक्का आदि मौजूद थे.
 
आंगनबाड़ी कर्मियों की महापंचायत आज
 
रांची : सात दिनों के अंदर काम पर लौटने अन्यथा कार्रवाई झेलने की सरकार की घोषणा के बाद हड़ताल कर रही आंगनबाड़ी कर्मियों तथा संघ के पदाधिकारियों ने कहा है कि उनकी हड़ताल जारी रहेगी. 
 
संघ ने 20 सितंबर को राजभवन के समक्ष धरना स्थल पर आंगनबाड़ी सेविका व सहायिका की महापंचायत बुलायी है. गौरतलब है कि मानदेय वृद्धि सहित अपनी विभिन्न मांगों के समर्थन में आंगनबाड़ी कर्मी 16 अगस्त से हड़ताल पर हैं. वहीं, प्रदेश अध्यक्ष वीणा सिन्हा सहित 10 अन्य कर्मी 15 सितंबर से भूख हड़ताल कर रही हैं. भूख हड़ताल कर रही झारखंड प्रदेश आंगनबाड़ी वर्कर्स यूनियन की प्रदेश अध्यक्ष वीणा सिन्हा गुरुवार शाम करीब छह बजे बेहोश हो गयीं.
 
राजभवन के समक्ष रसोइया संघ का धरना 
 
रांची : झारखंड प्रदेश विद्यालय रसोइया/संयोजिका/अध्यक्ष संघ की सदस्य अपनी मांगों को लेकर गुरुवार को राजभवन के समक्ष अनिश्चितकालीन धरना पर बैठ गयी. संघ की प्रदेश कोषाध्यक्ष अनिता देवी ने कहा कि सरकार उनकी मांगों को लेकर गंभीर नहीं है. 
 
22 सितंबर तक अगर मांगें नहीं मनी गयी, तो विद्यालयों से हटायी गयी रसोइया अनशन करेगी. संघ की मुख्य मांगों में हटायी गयी रसोइया को फिर से नियुक्त करना, संयोजिका को भी रसोइया की तरह मानदेय देना, रसोइया को दस माह के बदले साल भर का मानदेय भुगतान करना व रसोइया का बकाया मानदेय का भुगतान करना शामिल हैं. धरना पर संघ के अध्यक्ष अजीत प्रजापति, आशा दत्ता, दमयंती बारला, कमला देवी, प्रतिमा देवी, आशा कुजूर आदि मौजूद थी.
 
पंचायत सेवक एक से करेंगे हड़ताल
 
रांची : राज्य भर के पंचायत सेवक अब एक अक्तूबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जायेंगे. इसके पूर्व 25 सितंबर को राजभवन के समक्ष धरना-प्रदर्शन किया जायेगा. 
 
वहीं, हड़ताल की पूर्व संध्या पर 30 सितंबर को सभी जिला मुख्यालयों में मशाल जुलूस  निकाला जायेगा. संघ के महामंत्री जितेंद्र सिंह बड़ाइक ने कहा कि पहले हड़ताल का कार्यक्रम 15 अक्तूबर तक किया गया था, लेकिन इसमें संशोधन करते हुए अब एक अक्तूबर कर दिया गया है. इधर 18 व 19 सितंबर दो दिनों तक संघ के बैनर तले सदस्यों ने ग्रामीण विकास सह पंचायती राज मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा के आवास के समक्ष भूख हड़ताल का कार्यक्रम किया. इसके बाद अपनी नौ सूत्री मांगों से संबंधित ज्ञापन भी दिया, लेकिन उनकी मांगों पर कुछ सकारात्मक निर्णय नहीं हुआ. 
 
रांची : 24 को मुख्यमंत्री आवास के समक्ष प्रदर्शन
 
रांची : झारखंड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ 11 सूत्री मांगों को लेकर 24 सितंबर को  मुख्यमंत्री आवास के समीप रोषपूर्ण प्रदर्शन करेगा. महासंघ के महासचिव राजाराम सिंह ने बताया कि इस प्रदर्शन में पूरे राज्य से 30 हजार से अधिक कर्मचारी भाग लेंगे. कार्यक्रम से पूर्व जयपाल सिंह स्टेडियम से भव्य जुलूस निकाला जायेगा. जो शहर के विभिन्न मार्गों में प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री आवास तक जायेगा.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement