Advertisement

ramgarh

  • Aug 25 2019 2:20AM
Advertisement

पीड़ित परिवार को सौंपा एक लाख का चेक

पहल : अधिकारियों के साथ पहुंचे राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य


घायल सुमन का बेहतर इलाज होगा : डीसी

आश्रित को नौकरी के अलावा एक अन्य नौकरी देने की पहल 

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास देने की घोषणा
 
बरकाकाना : बरकाकाना स्टेशन कॉलोनी में गोली कांड के सातवें दिन रामगढ़ जिला प्रशासन ने बरकाकाना गोली कांड के पीड़ित परिवार को एक लाख का चेक सौंपा. राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य दिलीप के हाथीबेड, रामगढ़ उपायुक्त संदीप सिंह, एसपी प्रभात कुमार, एसडीओ अनंत कुमार, डीटीएम बरकाकाना अंजय तिवारी, सीओ पतरातू निर्भय कुमार व सिविल सर्जन डॉ नीलम चौधरी मृतक अशोक राम के रेलवे क्वार्टर पहुंचे.
 
यहां उपायुक्त ने गोली कांड के घायल संजय राम से मुलाकात की. घायल संजय राम ने उपायुक्त से बताया कि घटना के बाद जिंदगी और मौत से जूझ रही उसकी बहन सुमन देवी का इलाज मेदांता में चल रहा है. पैसे के अभाव में उसका इलाज नहीं हो पा रहा है. चिकित्सकों ने बताया है कि उनके अस्पताल में इलाज संभव नहीं है. घायल को रिम्स में बेहतर इलाज के लिए ले जाने को कहा. इसके बाद से पूरा परिवार चिंतित है.
 
उसने अधिकारियों से बहन का इलाज मेदांता में कराने की अपील की. उपायुक्त ने कहा कि घायल सुमन का बेहतर इलाज होगा. प्रशासन हरसंभव मदद करेगा. मृतक अशोक राम के दोनों बेटे रमेश राम व संजय राम से उपायुक्त ने पूछा कि दोनों में से किसी एक भाई के खाते में पैसे आने से किसी को काेई एतराज तो नहीं है.
 
दोनों ने किसी भी एतराज से इंकार किया. इसके बाद सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य श्री हाथीबेड की उपस्थिति में अधिकारियों ने पीड़ित परिवार को एक लाख का चेक सौंपा. श्री हाथीबेड ने मृतक के दोनों पुत्रों को सरकार, जिला व रेल प्रशासन द्वारा दिये जा रहे सभी आर्थिक सहयोग का सदुपयोग करने को कहा.
 
उन्होंने कहा कि आश्रित को नौकरी के अलावा एक अन्य नौकरी देने की पहल रामगढ़ उपायुक्त ने की है. कागजी कार्रवाई पूरा कर उसे अनुशंसा के लिए राज्य सरकार के पास भेजा जा रहा है. जो भी निर्देश आयेगा, उस पर जल्द पहल भी की जायेगी. उपायुक्त श्री सिंह ने पीड़ित परिवार को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास देने की घोषणा की. पतरातू सीओ निर्भय कुमार को पीड़ित परिवार की इच्छानुसार आवास के लिए भूमि चयन कर उसे बंदोबस्ती करने का निर्देश दिया. 
 
रेलवे ने की 1.77 हजार की मदद
 
पूर्व मध्य रेलवे धनबाद रेलमंडल सीआइसी सेक्शन के डीटीएम अंजय तिवारी ने कहा कि रेल प्रशासन मृतक रेलकर्मी के परिजनों को रेलवे नियमानुसार हरसंभव मदद देने के लिए प्रतिबद्ध है. रेलवे द्वारा घटना में घायल पीड़ितों के इलाज के लिए एक लाख दो हजार रुपये मेदांता अस्पताल के खाते में, मृतक रेल कर्मी के परिजनों के खाते में 75 हजार रुपये भेजे जा चुके हैं. सोमवार को कर्मचारी वेलफेयर फंड से 50 हजार रुपये अस्पताल के खाते में भेज दिये जायेंगे. आश्रित को नौकरी, मृतक के विभिन्न मदों का भुगतान सहित अन्य मदद देने की प्रक्रिया भी तेजी से चल रही है. उसे भी जल्द से जल्द पीड़ित परिवार को दे दिया जायेगा. 
 
एसटी, एससी की धारा लगाने की उठी मांग : पीड़ित परिवार के लोगों ने जिला पुलिस से पूरे परिवार को सुरक्षा देने की मांग करते हुए कहा कि दर्ज की गयी प्राथमिकी में एसटी, एससी की धारा नहीं लगायी गयी है. इसे प्राथमिकी में दर्ज होनी चाहिए. एसपी प्रभात कुमार ने कहा कि दर्ज प्राथमिकी ही अंत नहीं है. घटना की गंभीरता को देखते हुए धारा लगायी गयी थी. अनुसंधान के बाद शुद्धि पत्र के माध्यम से कोर्ट में भी अावश्यकतानुसार धारा लगायी व हटायी जा सकती है. उन्होंने प्रशासन द्वारा की जा रही कार्रवाई पर विश्वास रखने की बात कही.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement