Advertisement

ramgarh

  • Jul 12 2019 6:13PM
Advertisement

Jharkhand : रजरप्पा मंदिर परिसर से भारी मात्रा में शराब बरामद, एक गिरफ्तार

Jharkhand : रजरप्पा मंदिर परिसर से भारी मात्रा में शराब बरामद, एक गिरफ्तार

रजरप्पा : झारखंड के रजरप्पा में स्थित प्रसिद्ध शक्तिपीठ मां छिन्नमस्तिका मंदिर के प्रांगण से शुक्रवार को भारी मात्रा में शराब बरामद हुआ. इस सिलसिले में पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार अशोक साव इसके पहले भी शराब बेचने के जुर्म में कई बार जेल जा चुका है.

इसे भी पढ़ें : झारखंड में खुल रहा है जनजातीय विश्वविद्यालय, क्या है आदिवासी समुदाय के विद्वानों और सामाजिक कार्यकर्ताओं की राय

रामगढ़ जिला के एसपी प्रभात कुमार के निर्देश पर रजरप्पा थाना के इंस्पेक्टर विनोद कुमार मुर्मू के नेतृत्व में मंदिर में अवैध शराब की तलाशी में छापामारी की गयी. रजरप्पा मंदिर परिसर में स्थित अशोक साव की दुकान से भारी मात्रा में विदेशी शराब जब्त की गयी, जिसे अवैध रूप से दुकान में रखा गया था.

बंदा के रहने वाले दुकानदार अशोक साव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. पुलिस इंस्पेक्टर विनोद कुमार मुर्मू ने बताया कि गुप्त सूचना मिलने के बाद मंदिर क्षेत्र में छापामारी अभियान चलाया गया. यहां से आरएस, ओसी ब्ल्यू, ब्लेंडर, रॉयल चैलेंजर्स समेत कई ब्रांड की दर्जनों शराब की बोतलें बरामद की गयीं. जब्त शराब की कीमत करीब 50 से 60 हजार रुपये बतायी गयी है.

इसे भी पढ़ें : आपराधिक गिरोह बना रहे गैंग लीडर मोहम्मद सज्जाद समेत दो गिरफ्तार, हथियार बरामद

इंस्पेक्टर ने कहा कि रजरप्पा मंदिर धार्मिक स्थल के रूप में पूरे भारत में प्रसिद्ध है. यहां शराब बेचने व पीने पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध है. इसके बावजूद यहां अवैध रूप से शराब की बिक्री की जा रही थी. उन्होंने कहा कि आगे भी छापेमारी की कार्रवाई जारी रहेगी.

नकली शराब होने की आशंका

सूत्रों ने बताया कि यहां बड़ै पैमाने पर नकली शराब बेची जा रही है. इसके आस-पास के क्षेत्रों में नकली शराब बनाये जाने की चर्चा है. पेटरवार, दांतू, पश्चिम बंगाल, हरियाणा व अन्य राज्यों से भी कथित तौर पर नकली शराब की खेप यहां आती है. इंस्पेक्टर ने बताया कि शराब की जांच करायी जायेगी. इसके बाद ही पता चलेगा कि शराब असली हैं या नकली.

शराब पीने के बाद लोगों को नहीं रहता होश

रजरप्पा मंदिर में पहुंचने वाले कई लोग यहां शराब पीकर जहां-तहां लुढ़क जाते है. यहां की शराब का सेवन करने के बाद इन्हें होश नहीं रहता. कई बार मंदिर में शराबियों व श्रद्धालुओं के बीच मारपीट की घटना भी हो जाती है. लोगों का कहना है कि बिहार से पूजा-अर्चना के लिए मंदिर पहुंचने वाले कई श्रद्धालु यहां शराब का सेवन करते हैं.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement