Advertisement

purnea

  • Mar 20 2019 5:34AM

नामांकन के दौरान कलेक्ट्रेट रोड में प्रशासन रहा सख्त

 
पूर्णिया : मंगलवार को लोकसभा चुनाव के नामांकन के पहले दिन ही कलेक्ट्रेट रोड में पुलिस की सख्ती दिखायी पड़ी. आलम यह रहा कि आम से लेकर खास तक को पैदल ही कलेक्ट्रेट रोड से गुजरना पड़ा. कलेक्ट्रेट रोड में तीन जगहों पर बैरिकेटिंग की गयी. 
 
प्रशासन और पुलिस के वाहनों को छोड़कर किसी को भी इस रोड में प्रवेश नहीं करने दिया गया. जिले के एक विधायक अपने वाहन से कलेक्ट्रेट की ओर जा रहे थे पर पुलिस के समझाने-बुझाने पर वे भी बेरीकेटिंग पर उतरकर पैदल ही कलेक्ट्रेट जाना मुनासिब समझा.
 
     नामांकन के दौरान आरएन साव चौक के पास जुटे समर्थकों को पुलिस ने चौक के पास ही रोककर रखा. नामांकन कर कलेक्ट्रेट से बाहर निकल रहे उम्मीदवार को आगे बढ़कर समर्थकों ने माला पहनाने की कोशिश की पर पुलिस की सख्ती ने उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया. 
 
पुलिस ने आमलोगों को पैदल आने-जाने की छूट तो दे रखी थी पर रूकने पर पुलिसकर्मी फौरन सख्ती पर उतर आते. बस स्टैंड की ओर से आनेवाले लोगों को सिर व कंधे पर सामान लेकर जाते देखा गया. 
 
90 मिनट के बाद कलेक्ट्रेट से बाहर निकले संतोष : नामांकन की प्रक्रिया में एनडीए उम्मीदवार संतोष कुशवाहा को 90 मिनट का वक्त लगा. दिन के 11:40 बजे वे कलेक्ट्रेट परिसर में दाखिल हुए. 1:10 बजे वे कलेक्ट्रेट से बाहर निकले. 
 
इस दौरान कलेक्ट्रेट के पास आरएन साव चौक पर जुटे समर्थकों के सब्र का बांध टूटते देखा गया. समर्थकों के साथ मौजूद पुराने नेता अपने अनुभवों के आधार पर बता रहे थे कि एक सेट से अधिक नामांकन पत्र रहने पर नामांकन दाखिल करने में वक्त लगता है. हालांकि इतने वक्त में समर्थकों ने माला का इंतजाम जरूर कर लिया. 
 
नगर निगम चौक पर चलता रहा जाम का सिलसिला 
नामांकन को लेकर कलेक्ट्रेट रोड में वाहनों की आवाजाही बंद रहने का असर नगर निगम चौक पर पड़ा. दोपहर 12 बजे से लेकर दोपहर 2 बजे के बीच कई बार नगर निगम चौक पर जाम की नौबत आयी. 
 
यातायात पुलिस जाम छुड़ाती और कुछ देर में फिर जाम लग जाता है. नगर निगम चौक से टैक्सी स्टैंड चौक के बीच और सिविल कोर्ट रोड में भी इस जाम का असर देखने को मिला. 26 मार्च तक नामांकन का सिलसिला चलेगा. तबतक लोगों को इस जाम का सामना करना पड़ सकता है. 
 

Advertisement

Comments

Other Story

Advertisement